1. हिन्दी समाचार
  2. एक जनवरी को दुनिया में पैदा हुए 386000 बच्चे, अव्वल रहा भारत

एक जनवरी को दुनिया में पैदा हुए 386000 बच्चे, अव्वल रहा भारत

386000 Children Born In The World On January 1 India Topped

नई दिल्ली। बच्चों की संस्था के लिए काम करने वाली संस्था यूनिसेफ के अनुसार नए साल के दिन दुनिया भर में 392,078 बच्चे पैदा हुए। UNICEF की ओर से जारी की गई 190 देशों की लिस्ट में भारत सबसे ऊपर है। यहां 1 जनवरी 2020 को 67,385 बच्चे पैदा हुए। इसके बाद चीन का स्थान है जहां 44,760 बच्चों ने जन्म लिया।

पढ़ें :- बिग बॉस एक्स कंटेस्टेंट एली ने बिकिनी PICS ने मचाया तहलका, तस्वीरें देखें जरा संभल कर

अनुमान के मुताबिक पहला बच्चा फिजी में पैदा होगा और आखिरी बच्चा अमेरिका में पैदा होगा। आधे से अधिक बच्चों का जन्म आठ देशों में होगा।

लिस्ट के मुताबिक भारत में 67385, चीन में 46299, नाइजीरिया में 26039, पाकिस्तान में 16787, इंडोनेशिया में 13020, यूएसए में 10452, कांगो में 10247, इथोपिया में 8493 बच्चे जन्म लेंगे।

यूनिसेफ हर साल नए साल के दिन को इस रोज पैदा हुए बच्चों के लिए शुभ दिन के रूप में मनाता है। हालांकि दुनिया भर के लाखों नवजात शिशुओं के लिए, उनके जन्म का दिन बहुत कम शुभ होता है।

2018 में 2.5 मिलियन नवजात बच्चे अपने जन्म के पहले ही महीने में चल बसे. इनमें से अधिकतर बच्चे प्री मैच्योर बर्थ, डिलीवरी के वक्त आई परेशानियों, और इन्फेक्शन के कारण चल बसे। इन मौतों को रोका जा सकता था अगर सही वक्त पर सही इलाज मिला होता तो।

पढ़ें :- IPL 2020: सनराइजर्स हैदराबाद को झटका, विजय शंकर इंजरी के चलते टूर्नामेंट से हुए बाहर

पिछले तीन दशकों में शिशु मृत्यु दर में कमी आई है। अपने पांचवें जन्मदिन तक सर्वाइव करने वाले बच्चों की संख्या पहले की तुलना में दोगुनी हो गई है। वहीं दूसरी ओर जन्म के पहले महीने में जान गंवाने वाले बच्चों की संख्या 1990 में 40 प्रतिशत थी लेकिन 2018 में ये 47 प्रतिशत थी।

हेनरीटा ने कहा कि काफी अधिक माताओं और नवजात बच्चों की देखभाल नर्स या दाई नहीं करतीं और नतीजे काफी खतरनाक होते हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...