SSC परीक्षा में सॉल्वर गिरोह का पर्दाफाश, 4 आरोपी गिरफ्तार

SSC परीक्षा , पर्दाफाश
SSC परीक्षा में सॉल्वर गिरोह का पर्दाफाश, 4 आरोपी गिरफ्तार

नई दिल्ली। कर्मचारी चयन आयोग(एसएससी) स्नातक स्तरीय परीक्षा में पेपर लीक का मामला शांत भी नहीं हुआ था कि एसएससी हायर सेंकेंडरी की परीक्षा में ऑनलाइन नकल कराने का मामला सामने आ गया। उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स(यूपीएसटीएफ) ने दिल्ली पुलिस की सहायता से एसएससी परीक्षा में ऑनलाइन नकल कराने वाले गैंग का पर्दाफाश किया है। जिसमें चार लड़कों को दिल्ली के तिमारपुर थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया हैं। गिरफ्तार किए गए आरोपियों में दो हरियाणा से एक दिल्ली से और एक आरोपी उत्तर प्रदेश का रहने वाला है।

4 Arrested In Ssc Exam Online Cheating :

गिरोह में पकड़े जाने वाले चारों आरोपियों का नाम अजय, परम, गौरव व सोनू बताया जा रहा है। यूपीएसटीएफ के इनपुट पर दिल्ली पुलिस की मदद से इस पूरे ऑपरेशन को अंजाम दिया गया। पुलिस को इनके पास से एक लैपटॉप, 10 फोन, पेन ड्राइव, हार्ड डिस्क, डोंगल, 3 लग्ज़री गाड़ियां व लगभग 50 लाख रुपये मिले हैं।

एसएससी परीक्षा पास कराने का लेते थे 15 लाख रुपये
आईजी एसटीएफ अमिताभ यश ने बताया कि ये आरोपी 15 लाख रुपए में SSC की सभी परीक्षाएं पास कराने का ठेका लेते थे। यह गैंग ऑनलाइन ऐप टीम व्यूवर के जरिए SSC की परीक्षा में सॉल्वर से प्रश्नों को हल करा रहा था। एसटीएफ और दिल्ली पुलिस ने इस गैंग के खिलाफ तिमारपुर थाने में एफआईआर दर्ज कराई है। आरोपित डाटा एंट्री ऑपरेटर की परीक्षा का पेपर ऑनलाइन हैक करते थे। इसके बाद अपने कैंडिडेट को वाट्सएप के जरिये पेपर भेजते थे।वे प्रति कैंडिडेट पांच लाख रुपये वसूलते थे।

पिछले दिनों स्नातक स्तरीय एसएससी की परीक्षा में तथाकथित पेपर लीक के मामले में हज़ारों अभ्यर्थी सड़कों पर उतर आए थे और सीबीआई से मामले के जांच की मांग उठाई थी। बता दें कि पिछले पांच वर्षों में एसएससी को नौ परीक्षाओं को पूरी या आंशिक तरह से रद्द करना पड़ा है।

नई दिल्ली। कर्मचारी चयन आयोग(एसएससी) स्नातक स्तरीय परीक्षा में पेपर लीक का मामला शांत भी नहीं हुआ था कि एसएससी हायर सेंकेंडरी की परीक्षा में ऑनलाइन नकल कराने का मामला सामने आ गया। उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स(यूपीएसटीएफ) ने दिल्ली पुलिस की सहायता से एसएससी परीक्षा में ऑनलाइन नकल कराने वाले गैंग का पर्दाफाश किया है। जिसमें चार लड़कों को दिल्ली के तिमारपुर थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया हैं। गिरफ्तार किए गए आरोपियों में दो हरियाणा से एक दिल्ली से और एक आरोपी उत्तर प्रदेश का रहने वाला है।गिरोह में पकड़े जाने वाले चारों आरोपियों का नाम अजय, परम, गौरव व सोनू बताया जा रहा है। यूपीएसटीएफ के इनपुट पर दिल्ली पुलिस की मदद से इस पूरे ऑपरेशन को अंजाम दिया गया। पुलिस को इनके पास से एक लैपटॉप, 10 फोन, पेन ड्राइव, हार्ड डिस्क, डोंगल, 3 लग्ज़री गाड़ियां व लगभग 50 लाख रुपये मिले हैं। एसएससी परीक्षा पास कराने का लेते थे 15 लाख रुपये आईजी एसटीएफ अमिताभ यश ने बताया कि ये आरोपी 15 लाख रुपए में SSC की सभी परीक्षाएं पास कराने का ठेका लेते थे। यह गैंग ऑनलाइन ऐप टीम व्यूवर के जरिए SSC की परीक्षा में सॉल्वर से प्रश्नों को हल करा रहा था। एसटीएफ और दिल्ली पुलिस ने इस गैंग के खिलाफ तिमारपुर थाने में एफआईआर दर्ज कराई है। आरोपित डाटा एंट्री ऑपरेटर की परीक्षा का पेपर ऑनलाइन हैक करते थे। इसके बाद अपने कैंडिडेट को वाट्सएप के जरिये पेपर भेजते थे।वे प्रति कैंडिडेट पांच लाख रुपये वसूलते थे।पिछले दिनों स्नातक स्तरीय एसएससी की परीक्षा में तथाकथित पेपर लीक के मामले में हज़ारों अभ्यर्थी सड़कों पर उतर आए थे और सीबीआई से मामले के जांच की मांग उठाई थी। बता दें कि पिछले पांच वर्षों में एसएससी को नौ परीक्षाओं को पूरी या आंशिक तरह से रद्द करना पड़ा है।