1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. दलित युवती से 4 लोगों ने गैंगरेप के बाद काट दी थी जीभ, 15 दिन सफदरगंज अस्पताल में तोड़ा दम

दलित युवती से 4 लोगों ने गैंगरेप के बाद काट दी थी जीभ, 15 दिन सफदरगंज अस्पताल में तोड़ा दम

4 People Were Bitten By A Dalit Girl After Gang Rape 15 Days Broke In Safdarganj Hospital

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्‍ली। हाथरस गैंगरेप पीड़िता आखिरकार जिंदगी की जंग हार गई। चार दरिंदों ने उसके साथ दरिंदगी की थी। इसके बाद युवती की जीभ काट दी थी। गंभीर रूप से घायल पीड़िता को पहले अलीगढ़ मुस्लिम विश्‍वविद्यालय के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया था। बाद में उनकी गंभीर हालत को देखते हुए दिल्‍ली स्थित सफदरजंग अस्‍पताल रेफर कर दिया गया था, जहां उसे दम तोड़ दिया। हाथरस में गैंगरेप की यह घटना तकरीबन 15 दिन पहले हुई थी।

पढ़ें :- यूपी विधानसभा में ध्वनि मत से पारित हुआ लव जिहाद विधेयक, विधान परिषद में होगी परीक्षा

इस मामले में चार आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। लेकिन शुरुआत में पुलिस की कार्रवाई पर सवाल भी उठे। चौथे आरोपी को पुलिस ने शनिवार को ही गिरफ्तार किया है। शनिवार को ही कोतवाली इंचार्ज को लाइन हाजिर भी किया गया। घटना के बाद 19 सितम्‍बर को पीडि़ता का बयान लेने कार्यवाहक सीओ सादाबाद महिला आरक्षियों संग अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कॉलेज गए तो युवती की हालत बहुत ठीक नहीं थी।

पीड़िता इशारों इशारों में खुद पर हमले और बदतमीजी किए जाने की बातें ही बता सकी। जिस पर हमले के साथ-साथ 20 सितंबर को छेडख़ानी की धारा बढ़ाई गई। मौजूदा सीओ सादाबाद मामले में 21 सितंबर को बयान दर्ज करने पहुंचे तो उस समय भी परिवार ने बता दिया कि अभी बेटी की हालत ठीक नहीं है। सीओ 22 सितंबर को फिर महिला आरक्षी संग पहुंच कर पीड़िता का बयान दर्ज किया, जिसमें उसने इशारों-इशारों में अपने साथ हुई दरिंदगी को बयां किया। इसके बाद मुकदमे में सामूहिक दुष्कर्म की धाराओं की बढ़ोतरी कर चारों आरोपियों को जेल भेजा गया।

वारदात को लेकर गर्म हुई सियासत
इस बीच कई राजनीतिक दलों के लोगों ने जेएन मेडिकल कॉलेज पहुंचकर पीड़िता से मिलने के साथ जमकर हंगामा भी किया था। भीम आर्मी संस्थापक चंद्रशेखर रावण ने रविवार को अलीगढ़ में भर्ती युवती से मिलने आने व बाद में गांव आने की घोषणा की। रविवार को ही बसपा प्रमुख मायावती ने भी ट्वीट किया। उन्होंने प्रदेश में महिलाओं पर हो रहे अत्याचार की बात कही। इस घटना को शर्मनाक बताया। यूपी सरकार से जांच की मांग की।

 

पढ़ें :- अखिलेश यादव का पलटवार, कहा-लाल टोपी से क्यों डरते हैं सीएम योगी आदित्यनाथ

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...