एक ही दिन में कोरोना के 437 नए केस, देश में मरीजों की संख्या 2000 के करीब-हरियाणा में पहली मौत

corona virus

नई दिल्ली: देश में चार दिनों में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़कर दोगुनी हो गई है। अकेले बुधवार को ही देशभर में कोरोना के 437 नए मामले सामने आए हैं, जो रिकॉर्ड है। इसके साथ ही देश में कोरोना पीड़ितों की संख्या बढ़कर 1996 हो गई है, जो चार दिनों में दोगुनी है। चार दिन पहले यह आंकड़ा 1000 के करीब था लेकिन तबलीगी जमात के संक्रमण की वजह से यह आंकड़ा तेजी से बढ़ा है। अकेले तमिलनाडु में ही बुधवार को कुल 110 नए केस सामने आए हैं। महाराष्ट्र में कुल 33 नए मामले सामने आए हैं। राज्य में कोरोना के कुल मामलों की संख्या 338 तक पहुंच गई है, जो देश में सबसे ज्यादा है। वहीं दिल्ली एक दिन में अब तक कम से कम 32 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें से अधिकांश नए मामले तबलीगी जमात के संक्रमण से जुड़े हैं।

437 New Cases Of Corona In A Single Day Number Of Patients In The Country Close To 2000 First Death In Haryana :

वहीं दूसरी ओर हरियाणा के अंबाला में 67 साल के कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज की मौत हो गई है। यह मरीज पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च चंडीगढ़ में भर्ती था। अंबाला के सीएमओ डॉ. कुलदीप सिंह ने इसकी जानकारी दी है। मुंबई में पिछले 24 घंटों में कोरोना से पीड़ित 6 लोगों की मौत हुई है, हालांकि स्थानीय अधिकारियों ने केवल 2 मामलों की पुष्टि की है। महाराष्ट्र में कुल 33 नए मामले बुधवार को सामने आए हैं।

राजस्थान में 27, केरल में 24 और मध्य प्रदेश में बुधवार को 20 नए मामले सामने आए हैं। दिल्ली में मरीजों को बढ़ने की बड़ी वजह तमिलनाडु की तरह ही तबलीगी जमात के कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाले लोग हैं। तबलीगी जमात के सदस्यों को राजधानी में अलग-अलग जगहों पर क्वारंटीन किया गया है। राजधानी में अब तक 152 मामले सामने आ चुके हैं। अधिकारियों को आशंका है कि दिल्ली में मामले बढ़ सकते हैं, क्योंकि 536 तबलीगी जमात के सदस्यों में कोरोना के लक्षण मिले हैं। इन्हें अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। कम से कम 6 डॉक्टर्स भी कोरोना पीड़ित मिले हैं, इनमें से ज्यादातर या तो कोरोना पीड़ितों के संपर्क में आए थे या फिर कहीं की यात्रा से आए हैं।

नई दिल्ली: देश में चार दिनों में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़कर दोगुनी हो गई है। अकेले बुधवार को ही देशभर में कोरोना के 437 नए मामले सामने आए हैं, जो रिकॉर्ड है। इसके साथ ही देश में कोरोना पीड़ितों की संख्या बढ़कर 1996 हो गई है, जो चार दिनों में दोगुनी है। चार दिन पहले यह आंकड़ा 1000 के करीब था लेकिन तबलीगी जमात के संक्रमण की वजह से यह आंकड़ा तेजी से बढ़ा है। अकेले तमिलनाडु में ही बुधवार को कुल 110 नए केस सामने आए हैं। महाराष्ट्र में कुल 33 नए मामले सामने आए हैं। राज्य में कोरोना के कुल मामलों की संख्या 338 तक पहुंच गई है, जो देश में सबसे ज्यादा है। वहीं दिल्ली एक दिन में अब तक कम से कम 32 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें से अधिकांश नए मामले तबलीगी जमात के संक्रमण से जुड़े हैं। वहीं दूसरी ओर हरियाणा के अंबाला में 67 साल के कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज की मौत हो गई है। यह मरीज पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च चंडीगढ़ में भर्ती था। अंबाला के सीएमओ डॉ. कुलदीप सिंह ने इसकी जानकारी दी है। मुंबई में पिछले 24 घंटों में कोरोना से पीड़ित 6 लोगों की मौत हुई है, हालांकि स्थानीय अधिकारियों ने केवल 2 मामलों की पुष्टि की है। महाराष्ट्र में कुल 33 नए मामले बुधवार को सामने आए हैं। राजस्थान में 27, केरल में 24 और मध्य प्रदेश में बुधवार को 20 नए मामले सामने आए हैं। दिल्ली में मरीजों को बढ़ने की बड़ी वजह तमिलनाडु की तरह ही तबलीगी जमात के कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाले लोग हैं। तबलीगी जमात के सदस्यों को राजधानी में अलग-अलग जगहों पर क्वारंटीन किया गया है। राजधानी में अब तक 152 मामले सामने आ चुके हैं। अधिकारियों को आशंका है कि दिल्ली में मामले बढ़ सकते हैं, क्योंकि 536 तबलीगी जमात के सदस्यों में कोरोना के लक्षण मिले हैं। इन्हें अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। कम से कम 6 डॉक्टर्स भी कोरोना पीड़ित मिले हैं, इनमें से ज्यादातर या तो कोरोना पीड़ितों के संपर्क में आए थे या फिर कहीं की यात्रा से आए हैं।