1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. कोरोना संकट में यूपी को मिले 45000 करोड़ के निवेश प्रस्ताव, देश विदेश की कंपनियां शामिल

कोरोना संकट में यूपी को मिले 45000 करोड़ के निवेश प्रस्ताव, देश विदेश की कंपनियां शामिल

45000 Crore Investment Proposals Received To Up In Corona Crisis Companies Involved In Foreign Countries

By शिव मौर्या 
Updated Date

लखनऊ। कोरोना संकट के दौरान उत्तर प्रदेश निवेश प्रस्तावों को आ​कर्षित करने में सबसे आगे रहा है। देश विदेश के करीब 40 से ज्यादा प्रस्तावों यूपी में आए हैं। इनमें जापान, अमेरिका, ब्रिटेन, कनाडा, ​जर्मनी, दक्षिण कोरिया समेत अन्य देशों की कंपनियों के लगभग 45 हजार करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव शामिल हैं। अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त आलोक टंडन ने शुक्रवार को यह जानकारी प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी।

पढ़ें :- आगरा: नियमों की अनदेखी कर लगाया जा रहा है पेट्रोल पंप, अफसरों की मेहरबानी जारी

उन्होंने बताया कि इन प्रस्तावों में जो क्रियान्वयन की दिशा में बढ़ चुके हैं उनमें प्रमुख रूप से हीरानंदानी ग्रुप की ओर से गौतम बुद्ध नगर में 750 करोड़ रुपये की लागत से डाटा सेंटर स्थापित करने का प्रस्ताव है। ब्रिटानिया इंडस्ट्रीज की ओर से बाराबंकी में 300 करोड़ रुपये की लागत से खाद्य प्रसंस्करण इकाई स्थापित करने का प्रस्ताव है। एसोसिएटेड ब्रिटिश फूड पीएलसी की ओर से खमीर बनाने के लिए 750 करोड़ रुपये का निवेश प्रस्ताव भी मैच्योर हो चुका है।

वहीं, इसके साथ ही डिक्सन टेक्नोलॉजीज की ओर से कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स के क्षेत्र में नोएडा/ ग्रेटर नोएडा में 200 करोड़ रुपये का निवेश प्रस्तावित है। जर्मनी की वॉन वेलिक्स कंपनी की ओर से फुटवियर निर्माण में 300 करोड़ रुपये का निवेश यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण क्षेत्र में प्रस्तावित है। सूर्या ग्लोबल फ्लेक्सी फिल्म्स प्राइवेट लिमिटेड की ओर से यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में मेटलाइज्ड फिल्म्स प्रोडक्शन प्लांट स्थापित करने का प्रस्ताव है जिसमें 953 करोड़ रुपये का निवेश प्रस्तावित है।

टंडन ने बताया बीते छह महीनों में प्रदेश की औद्योगिक विकास प्राधिकरणों ने निवेश परियोजनाओं के लिए 426 एकड़ भूमि (326 भूखंड) आवंटित की है। इन परियोजनाओं में लगभग 6700 करोड़ रुपये का निवेश प्रस्तावित है और 1.35 लाख लोगों को रोजगार मिलने की संभावना है।

अब नोएडा में स्थापित होगी सैमसंग की डिस्प्ले यूनिट
अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त टंडन ने बताया कि सैमसंग ने चीन में प्रस्तावित डिस्प्ले मैन्युफैक्चरिंग यूनिट को नोएडा में स्थापित करने का निर्णय किया है। कंपनी ने नोएडा में अपनी मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग इकाई के पास डिस्प्ले मैन्युफैक्चरिंग यूनिट लगाने के लिए 4800 करोड़ रुपये का निवेश प्रस्ताव दिया है। कंपनी ने परियोजना पर काम शुरू कर दिया है। यहां जनवरी से उत्पादन शुरू होने की संभावना है और अप्रैल से वाणिज्यिक उत्पादन शुरू हो जाएगा।

पढ़ें :- यूपी: सवारियों से भरे टेंपों पर पलटा ट्रक, चार की मौत, घटना देख सहमे गए प्रत्यक्षदर्शी

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...