चौथा वनडे: कोहली ने जड़ा शानदार शतक, दक्षिण अफ्रीका के सामने 300 रनों का लक्ष्य

4th Odi Kohli Slams Splendid Ton South Africa Gets 300 Run Target

चेन्नई। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच एमए चिदम्बरम स्टेडियम, चेन्नई में खेले जा चौथे एकदिवसीय मुक़ाबले ने भारतीय बल्लेबाजों ने दक्षिण अफ्रीका के सामने जीत के लिए 300 रनों का लक्ष्य रखा है। इस मैच में विराट कोहली ने एक बार फिर दिखा दिया कि तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए वह किस हद तक टीम के लिए मददगार हैं। करो या मारो वाले इस मुक़ाबले में उनकी शानदार शतकीय पारी के बदौलत ही भारतीय टीम निर्धारित 50 ओवरों में 8  विकेट के नुकसान पर 299 रनों तक पहुँच सका है। उनके अलावा पिछले तीन मैचों में नाकामयाब साबित हुए सुरेश रैना ने भी … रनों की पारी खेली।

टॉस जीतकट पहले बल्लेबाजी करने उतरे भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाजों (शिखर धवन व रोहित शर्मा) ने सधी हुई शुरुआत की।  हालांकि वह एक बार फिर बड़ी साझेदारी करने में नाकामयाब रहे। भारत को पहला झटका 4.5 ओवर में रोहित शर्मा के रूप में लगा जब वह क्रिस मॉरिस की गेंद पर फाक डुप्लेसिस को कैच दे बैठे। रोहित शर्मा ने चार चौकों की मदद से 19 गेंदों में 21 रनों की पारी खेली।

भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अब तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए विराट कोहली को भेजा। अभी टीम के स्कोर में सात रन ही जुड़े थे कि धवन के रूप में भारत को एक और झटका लगा। धवन सात पर बनाकर कगीसो रबाड़ा का शिकार हुए। अभी पावर प्ले तक खत्म नहीं हुआ था और टीम के दोनों सलामी बल्लेबाज पेवेलियन लौट चुके थे। धोनी ने अब इनफॉर्म बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे को कोहली का साथ देने लिए क्रीज़ पर भेजा।

कोहली और रहाणे ने कप्तान के उम्मीदों पर खरा उतरते हुए हुए न सिर्फ भारत को संकट से उबारा बल्कि टीम को एक मजबूत स्थिति में भी पहुंचा दिया। इन दोनों बल्लेबाजों के बीच तीसरे विकेट के लिए 104 रनों की साझेदारी हुई। रहाणे का विकेट 139 के कुल योग पर 27वें ओवर में गिरा। वे डेल स्टेन की तेज गेंद पर दक्षिण अफ्रीकी विकेटकीपर क्विंटन डिकॉक को कैच दे बैठे। रहाणे ने 53 गेंदों में चार चौकों की मदद से 45 रन बनाए।

भारत को तीसरा झटका लगने के बाद अब बारी सुरेश रैना की थी। कप्तान ने खुद क्रीज़ में आने के बजाए रैना पर उम्मीद जताई। रैना ने भी कप्तान के इस फैसले को सही साबित करते हुए कोहली का अच्छा साथ दिया। इन दोनों बल्लेबाजों ने रन गति को तेज करते हुए चौथे विकेट के लिए 127 रन जोड़ डाले। इसी बीच कोहली ने अपना शतक और रैना ने अपना अर्धशतक पूरा किया। कोहली ने 112 गेंदों का सामना करते हुए अपना शतक पूरा। जिसमें उन्होने चार चौके और तीन छक्के लगाए ।   रैना भी 48 गेंदों पर 50 रन बनाकर उनका साह बखूबी निभा रहे थे।

एक समय ऐसा लग रहा था कि भारत बड़ी ही आसानी से 300 रनों तक पहुँच जाएगी, लेकिन 45वां ओवर कने आए स्टेन ने रैना का विकेट झटककर भारत को तगड़ा झटका दिया। इस समा भारत का कुल स्कोर 266 रन था। रैना के आउट होने के बाद कोहली का साथ देने की ज़िम्मेदारी कप्तान धोनी ने अपने कंधों पर उठाई। धोनी व कोहली के बीच अभी 25 रनों की ही साझेदारी हुई थी कि कोहली भी 49वें ओवर में 291 ए कुल योग पर कोहली भी पेवेलियन लौट गए। कोहली का विकेट रबाड़ा के खाते में गया। उन्होने 140 गेंदों में 138 रनों की शानदार पारी खेली।

रबाड़ा ने अगली ही गेंद पर बल्लेबाजी करने उतरे हरभजन सिंह को भी आउट कर दिया। पारी की आखिरी दो गेंदों पर क्रमशः धोनी और भुवनेश्वर कुमार भी पेवेलियन की ओर चलते बने। भारत ने निर्धारित 50 ओवरों में आठ विकेट के नुकसान पर 299 रन बना सकी। दक्षिण अफ्रीका की ओर से रबाड़ा और डेल स्टेन ने तीन जबकि आरोन फंगीसों ने एक विकेट हासिल किया । अब दक्षिण अभीका को जीत के लिए 300 रनों की दरकार है।

 

चेन्नई। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच एमए चिदम्बरम स्टेडियम, चेन्नई में खेले जा चौथे एकदिवसीय मुक़ाबले ने भारतीय बल्लेबाजों ने दक्षिण अफ्रीका के सामने जीत के लिए 300 रनों का लक्ष्य रखा है। इस मैच में विराट कोहली ने एक बार फिर दिखा दिया कि तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए वह किस हद तक टीम के लिए मददगार हैं। करो या मारो वाले इस मुक़ाबले में उनकी शानदार शतकीय पारी के बदौलत ही भारतीय टीम निर्धारित 50 ओवरों…