1. हिन्दी समाचार
  2. अब तक 5 मासूम बच्चों के शव नहर से मिले, दो की तलाश अभी जारी

अब तक 5 मासूम बच्चों के शव नहर से मिले, दो की तलाश अभी जारी

5 Dead Bodies Of Children Recovered From Naher

By पर्दाफाश समूह 
Updated Date

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के नगराम के पटवाखेड़ा गांव के पास बुधवार रात 32 लोगों से भरी पिकप गाड़ी अचानक अनियंत्रित होकर इन्दिरा नहर में जा गिरी। इस हादसे में चालक सहित 25 लोग किसी तरह सकुशल बच गये पर पिकप सवार सात बच्चे डूब गये। हादसे की सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस और प्रशासन के आलाधिकारी भी पहुंचे। बच्चों की तलाश के लिए एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और गोताखोरों को लगाया गया। लापता बच्चों की तलाश शुरू हुई और शाम करीब चार बजे तीन बच्चों के शव नहर से बरामद किये गये। दो और बच्चें के शव शुक्रवार की तड़के नहर से बरामद किये गये। वहीं दो अन्य बच्चों की तलाश में टीमें जुटी हैं।

पढ़ें :- अंडरवर्ल्ड ले डूबा इन 5 अभिनेत्रियों का करियर, कोई गई जेल, तो कोई बनी संन्यासिनी

नगराम के पटवाखेड़ा गांव निवासी किसान सूरजपाल के बेटे नरेन्द्र उर्फ नंदू की बुधवार की रात शादी थी। इस शादी समारोह में शामिल होने के लिए बाराबंकी के लोनीकटरा पाण्डेय सरांय गांव और नगराम के हरदुइया गांव के रहने वाले काफी रिश्तेदार आये थे। रात करीब दो बजे समारोह खत्म होने के बाद 32 लोग एक बुलेरो पिकप गाड़ी में सवार होकर गांव से निकले थे। पिकप गाड़ी बाराबंकी के लोनीकटरा के पाण्डेय सरांय गांव निवासी दुर्गेश उर्फ देवी चला रहा था।

सूरजपाल के घर से एक किलोमीटर दूर पिकप गाड़ी जैसे ही इन्दिरा नहर मोड़ पर पहुंची,उसी वक्त चालक गाड़ी से नियंत्रण खो बैठा और लोगों से भारी पिकप गाड़ी इन्दिरा नहर में जा गिरी। पिकप गाड़ी नहर के पास अनियंत्रित होने से नहर के अंदर जाकर पलट गयी। इस हादसे के बाद पिकप में सवार लोग पानी में डूबने लगे। उन लोगों ने मदद के लिए शोर भी मचाया पर रात होने की वजह से किसी ने उनकी आवाज नहीं सुनी।

पिकप में सवार कुछ लोग तैरना जानते थे तो वह लोग तैर कर निकल आये। इसके बाद किसी तरह पिकप सवार 25 लोग नहर से निकलने में सफल रहे, पर पिकप गाड़ी में सवार सात बच्चे डूब गये। पिकप में सवार कुछ लोग दौड़कर सूरजपाल के घर पहुंचे और घटना के बारे में बताया। कुछ ही देर में पटवाखेड़ा गांव के लोग मदद के लिए जमा हो गये। सूचना पुलिस कंट्रोल रूम को दी गयी। कुछ ही देर में डायल 100 की गाड़ी और नगराम पुलिस भी पहुंच गयी। हादसे का भयानक रूप देख फौरन इसके बारे में आलाधिकारियों को बताया गया।

इसके बाद सबसे पहले जेसीबी की मदद से नहर में गिरी पिकप गाड़ी को निकाला गया पर डूबे हुए बच्चों को पता नहीं चल सका। सुबह करीब पांच बजे एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और गोताखोरों को बुलाया गया। हादसे की खबर मिलते ही मण्डलायुक्त, आईजी, एसएसपी सहित पुलिस और प्रशासन के अन्य अधिकारी भी पहुंच गये। इसके बाद नहर में डूबे हुए बच्चों की तलाश के लिए सर्च आपरेशन शुरू किया गया।

पढ़ें :- इन अभिनेत्रियों ने अपने दम पर बनाई बॉलीवुड में पहचान, नंबर 1 को मिल चुके है 3 नेशनल अवॉर्ड

नहर में पानी का बहाव तेज होने की वजह से सर्च आपरेशन में दिक्कत आ रही थी। इसके चलते नहर के पानी को अन्य माइनर नहरों की तरफ ड्राइवर्ट किया गया। मोटर बोट और जाल लगाकर बच्चों की तलाश में कई टीमें नहर में उतरीं। शाम करीब चार बजे गोताखोरों ने किसी तरह नहर में डूबे तीन बच्चों के शव को बरामद किया। वहीं खबर लिखे जाने तक चार बच्चों का पता नहीं चल सका है। लापता बच्चों की तलाश में सर्च आपरेशन जारी है।

यह बच्चे डूबे
इस हादसे में डूबने वालों में सात वर्षीय सचिन पुत्र बाबूलाल, 9 वर्षीय साजन उर्फ गुंजन पुत्र आशाराम , पांच वर्षीय सनी पुत्र इंद्रकुमार , सात वर्षीय सौरभ पुत्र तेज नारायन , 10 वर्षीय अमन पुत्र रामप्रकाश, , चार वर्षीय मानसी पुत्री राम बहादुर और 6 वर्षीय मानसी पुत्री राजू शामिल हैं। शाम करीब पांच बजे गोताखोरों ने किसी तरह अमन, सनी और सौरभ के शव को नहर से बरामद कर लिया। वहीं शुक्रवार की तड़के गोताखोरों ने साजन और 6 वर्षीय मानसी के शव को भी नहर से बरामद कर लिया। अभी दो बच्चे लापता है और उनकी तलाश जारी है।

यह लोग सकुशल बचे
सर्वजीत पाण्डेय सराय लोनी कटरा बाराबंकी, रामप्रकाश पाण्डेय सराय लोनी कटरा बाराबंकी, आशाराम पाण्डेय सराय लोनी कटरा बाराबंकी, सुखमीलाल पाण्डेय सराय लोनी कटरा बाराबंकी, कृष्णवती पाण्डेय सराय लोनी कटरा बाराबंकी, आशादेवी पाण्डेय सराय लोनी कटरा बाराबंकी, कैलाशा पाण्डेय सराय लोनी कटरा बाराबंकी, बेलवती हरदोईया नगराम, लज्जवती हरदोईया नगराम, लवकुश, पाण्डेय सराय लोनी कटरा, शिवप्रसन्न हरदोईया नगराम, चालक दुर्गेश उर्फ देवी पाण्डेय सराय लोनी कटरा, अशोक पाण्डेय सराय लोनी कटरा, काजल हरदोईया नगराम, शिवा हरदोईया नगराम, विद्यावती हरदोईया नगराम, लक्ष्मी पाण्डेय सराय लोनी कटरा, नीलम पाण्डेय सराय लोनी कटरा, अनीता पाण्डेय सराय लोनी कटरा, राजरानी पाण्डेय सराय लोनी कटरा, सियावती पाण्डेय सराय लोनी कटरा, मायाराम पाण्डेय सराय लोनी कटरा, पूनम, अम्बर और जीतू सकुशल नहर से निकलने में सफल रहे।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...