ब्लू व्हेल ही नहीं, ये 5 गेम भी ले चुके हैं कई लोगों की जान

ब्लू व्हेल नामक ऑनलाइन खूनी गेम अब भारत में भी अपनी उपस्थिति दर्ज करा चुका हैं, दुनिया भर में इस गेम से कई लोगों ने अपनी जांन गंवाई हैं. ब्लू व्हेल गेम को फिलिप बुडेकिन नाम के शख्स ने 2013 में बनाया था. इस गेम के जरिए रूस में सुसाइड का पहला मामला 2015 में सामने आया था.हालांकि यह दुनिया का एक अकेला ऐसा गेम नहीं हैं यहां हम आपको बताएंगे पांच ऐसे जानलेवा हैं और मौत का कारण बन चुके हैं.

पोकेमॉन गो- इस गेम्स को खेलने वाले लोग दुनिया से बेखबर अपने मोबाइल पर पोकेमॉन को ढूंढ़ते रहते हैं. इस गेम को खेलने वालो में इसका नशा इस कदर हावी होता है कि वे कई बार नदी तालाबों, ऊंची चट्टानों इमारतों आदि से कूद जाते हैं. अधिकतर देखा गया है इस गेम्स के शौकीन पोकेमॉन ढूंढ़ते हुऐ सड़क हादसे का शिकार हो जाते हैं. पूरी दुनिया में इस गेम्स से कई लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है.

{ यह भी पढ़ें:- इमारत के मलबे में 14 घंटे तक दबे रहे इस व्यक्ति की फोन ने ऐसे बचा ली जान... }

वैंपायर बिटिंग- यह एक ऐसा गेम है जिसमें खिलाडी को गेम खेलते वक्त अपनी रियल लाइफ में वैंपायर की तरह से हाव- भाव अपनाने होते हैं. इसमें खिलाड़ी को लोगों को अपने दांतों से काटना होता हैं. काटने की वजह से खून का संपर्क सीधे मुंह से होता है और इसलिए इसमें संक्रमण जैसी जानलेवा बीमारी से मौत भी हो जाती है.

द कार सर्फिंग चैलेंज- इस गेम में खिलाड़ी को अपनी चलती कार की छत पर, कार के हुड पर या चलती कार के बंपर पर खड़े होने को कहा जाता है जिससे कई बार खिलाड़ी अपना नियंत्रण खो कर दुर्घटना का शिकार जाता है.

{ यह भी पढ़ें:- आल इंडिया बकचोद नहीं ले रहा सुधरने का नाम, सचिन के बाद अब बनाया मोदी का मजाक }

काइली लीप चैलेंज- इसमें कांच की बोतल के अंदर होंठ डालने के बाद अंदर की ओर खींचा जाता है. कुछ मिनट तक ऐसा लगातार करने को कहा जाता है. कुछ ही देर में होंठ फूलने लगता है और इंसान दर्द से छटपटाने लगता है. इस गेम में कई बार कांच टूट कर मुंह के अंदर चला जाता है, जिससे जान जाने का खतरा बढ़ जाता है.

द चोकिंग गेम- इसमें एक खिलाड़ी दूसरे खिलाड़ी का गला दबाता है, जिससे इंसान का दम घुटने लगता है. गेम कुछ इस प्रकार है कि आप कितने देर तक बर्दाश्त कर सकते हैं. बच्चे गेम जीतने के चक्कर में अपने दूसरे खिलाड़ी से जीतने की जिद में, बर्दाशत करने की हद से बाहर चले जाते हैं और अपनी जान से हाथ धो बैठते हैं. इस गेम में कई बार बेहोशी की वजह से मस्तिष्क में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है.

{ यह भी पढ़ें:- बिलखते मासूम को गोद में बैठा ऑटो चलाते बाप का दर्द सुन भर आएंगी आंखे }