KGMU अग्निकांड में पांच अफसरों पर गिरी गाज, कमिश्नर ने सौंपी रिपोर्ट

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के किंग जार्ज मेडिकल कॉलेज(KGMU) में बीती 15 जुलाई को ट्रॉमा सेंटर के द्वितीय तल पर लगी आग मामले में बड़ी कार्रवाई हुई है। इस अग्निकांड मामले की जांच में दोषी पाये गए 5 अफसरों को निलंबित कर दिया गया है। मामले की जांच कमिश्नर अनिल गर्ग कर रहे थे। बताते चलें कि आग लगने की वजह से करीब 40 लाख की दवाएं जल गयी थी और इलाज के अभाव में 15 मरीजों की मौत भी हो गयी थी।

शासन के निर्देश के बाद कमिश्नर अनिल गर्ग ने जिलाधिकारी से जांच करायी थी। जिसमें प्रथम दृष्टया इंजीनियर दोषी पाए गए थे। विद्युत सुरक्षा निदेशालय ने भी अपनी जांच में इलेक्ट्रिकल विभाग को ही इस अग्निकांड का दोषी माना था।

{ यह भी पढ़ें:- यूपी में IPS अधिकारियों के कार्यक्षेत्र में कटौती, ये है नया फरमान }

इन लोगों पर हुई कार्रवाई-

अधिशासी अभियंता दिनेश राज, रामविलास वर्मा, जूनियर इंजीनियर एसपी सिंह, उमेश चंद्र यादव, जूनियर इंजीनियर एवं फार्मासिस्ट प्रमोद कुमार पांडे को निलंबित कर दिया गया है।

{ यह भी पढ़ें:- शर्मनाक: दरिंदों ने कैंसर पीड़िता को बनाया हवस का शिकार }

हादसे की खबर लगते ही जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा और एसएसपी लखनऊ दीपक कुमार समेत कई बड़े अफसर मौके पर पहुंचे थे। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी हर मुमकिन मदद का भरोसा दिलाया था। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कमिश्नर को इस घटना की 3 दिन में जांच कर रिपोर्ट पेश करने को कहा था।

Loading...