पांच साल के बच्चे का 5 लाख में सौदा, पुलिस की सक्रियता से पकड़े गये आरोपी

झांसी, यूपी, झांसी रेलवे स्टेशन, पुलिस, मध्य प्रदेश,

झांसी। यूपी के झांसी जिले से बीती 16 मई को रेलवे स्टेशन से चोरी हुए बच्चे को पुलिस ने बुधवार को ढूंढ निकाला। पुलिस का कहना है, बच्चे को तीन लोगो ने चुराया था। चोरों ने बच्चे को 17 मई को मध्य प्रदेश के दतिया निवासी एक किसान को 5 लाख रुपए में बेच दिया था। पुलिस ने बच्चा खरीदने वाले दंपति और बेचने वाले बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया है।




दरअसल, बच्चा खरीदने वाला ब्रिजपाल सिंह एमपी के दतिया का एक सम्पन्न किसान हैं। शादी के 21 साल होने के बाद भी जब इन्हे बच्चा नहीं हुआ तो इनकी पत्नी ने इनसे लगातार बच्चे की मांग करना शुरू किया। जिसके बाद ब्रिजपाल सिंह ने अनाथालय और सरकारी अस्पतालों में संपर्क किया। इस दौरान उसकी मुलाकात सुरेश और उसके दो साथियों से हुई। जिसके बाद दोनों में बच्चा खरीदने की डील हुई।




क्या कहती है पुलिस—

पुलिस का कहना है, 16 मई को झांसी रेलवे स्टेशन के प्लेटफ़ॉर्म 7 से एक बच्चा चोरी हुआ था। टीकमगढ़ जिले की महिला हीरा अहिरवार अपने पति के साथ दिल्ली से रात में लौटी थी। ट्रेन लेट होने के चलते दंपत्ति अपने बच्चे को लेकर वही झांसी के रेलवे स्टेशन पर सो गए। इसी बीच कोई उनका बच्चा चोरी कर ले गया। ये पूरी घटना स्टेशन पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गयी। जिसकी सहायता से आरोपियों को ढूंढने में मदद मिली। बच्चा चुराने वाले बदमाशो में मास्टरमाइंड सुरेश कुमार और उसके दो अन्य साथी धर्मेन्द्र और अनिल कुशवाहा ने 4 घंटे तक स्टेशन पर इंतज़ार किया। जिसके बाद उन लोगो ने इस घटना को अंजाम दिया। आरोपियों ने अगले दिन 17 मई को उसे दतिया के दंपति को 5 लाख रुपए में बेच दिया।

उधर, बच्चा खरीदने वाले दंपत्ति का कहना है कि उनको नहीं पता था कि बच्चा चोरी से लाया गया है। जिसके बाद अब किसान की पत्नी बच्चा वापस करने को तैयार नहीं है, उसका कहना है पूरी जायदाद ले लो पर बच्चा न ले जाओ। वही पीड़ित परिवार का कहना है कि खोया हुआ बच्चा मिल जाने के बाद वो अब किसी को वापस नहीं करेंगे।