फिलीपींस में आये 6.1 तीव्रता वाले भूकंप से 16 लोगों की हुई मौत

earthquake
अमेरिका: 7.1 की तीव्रता के भूकम्प से हिला दक्षिणी कैलिफोर्निया

नई दिल्ली। फिलीपींस में लगातार दूसरे दिन आये भूकंप के झटके से देश दहल उठा। इस भूकंप की तीव्रता 6.5 थी। वहीं, इससे पहले सोमवार शाम को आए 6.1 तीव्रता वाले भूकंप से 16 लोगों की मौत हो गई। भूकंप के इस झटके से राजधानी मनीला और आसपास के इलाकों में कई इमारतें ढह गईं।

6 1 Earthquake Hits Philippines 16 People Die :

दरअसल, बचावकर्मी इन इमारतों के मलबे में लोगों की तलाश में जुटे थे कि मंगलवार दोपहर फिर भूकंप आ गया। अमेरिका जियोलॉजिकल सर्वे के अनुसार इसका केंद्र मध्य फिलीपींस में था। इससे अभी किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। सोमवार को आए भूकंप के कारण कई इलाकों में ट्रेन सेवाएं बाधित हैं। पंमपंगा प्रांत स्थित अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट भी मरम्मत के लिए बंद कर दिया गया है।

बता दें, जानमाल का सबसे ज्यादा नुकसान भी इसी प्रांत में हुआ है। भूकंप से एक चर्च भी ढह गया है। पोरक शहर के मेयर का कहना है कि कई लोग अब भी मलबों के नीचे दबे हैं। उन्हें निकालने के लिए आधुनिक उपकरणों की मदद ली जा रही है। फिलीपींस प्रशांत महासागर के ‘रिंग ऑफ फायर’ कहे जाने वाले क्षेत्र में स्थित है जो प्राकृतिक आपदाओं के लिए अति संवेदनशील माना जाता है।

नई दिल्ली। फिलीपींस में लगातार दूसरे दिन आये भूकंप के झटके से देश दहल उठा। इस भूकंप की तीव्रता 6.5 थी। वहीं, इससे पहले सोमवार शाम को आए 6.1 तीव्रता वाले भूकंप से 16 लोगों की मौत हो गई। भूकंप के इस झटके से राजधानी मनीला और आसपास के इलाकों में कई इमारतें ढह गईं। दरअसल, बचावकर्मी इन इमारतों के मलबे में लोगों की तलाश में जुटे थे कि मंगलवार दोपहर फिर भूकंप आ गया। अमेरिका जियोलॉजिकल सर्वे के अनुसार इसका केंद्र मध्य फिलीपींस में था। इससे अभी किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। सोमवार को आए भूकंप के कारण कई इलाकों में ट्रेन सेवाएं बाधित हैं। पंमपंगा प्रांत स्थित अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट भी मरम्मत के लिए बंद कर दिया गया है। बता दें, जानमाल का सबसे ज्यादा नुकसान भी इसी प्रांत में हुआ है। भूकंप से एक चर्च भी ढह गया है। पोरक शहर के मेयर का कहना है कि कई लोग अब भी मलबों के नीचे दबे हैं। उन्हें निकालने के लिए आधुनिक उपकरणों की मदद ली जा रही है। फिलीपींस प्रशांत महासागर के 'रिंग ऑफ फायर' कहे जाने वाले क्षेत्र में स्थित है जो प्राकृतिक आपदाओं के लिए अति संवेदनशील माना जाता है।