दिल्ली के राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर लगा ‘गोली मारो’ के नारे, 6 लोगों को हिरासत में लिया

rajeev chouk
दिल्ली के राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर लगा 'गोली मारो' के नारे, 6 लोगों को हिरासत में लिया

नई दिल्ली। दिल्ली के राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर एक बार फिर गोली मारो के नारे लगे। सीआईएसएफ ने इस आरोप में 6 युवकों को हिरासत में लिया है। ​सीआईएसएफ का कहना है कि शनिवार को छह युवक राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर नारेबाजी करते हुए दिखाई दिए। यह देख सीआईएसएफ के जवानों ने नारेबाजी कर रहे युवकों को हिरासत में ले लिया और दिल्ली मेट्रो के सुरक्षा अधिकारियों को सौंप दिया।

6 People Detained At Delhis Rajiv Chowk Metro Station :

सीआईएसएफ के मुताबिक इस घटना का मेट्रो परिचालन पर कोई असर नहीं पड़ा। डीसीपी मेट्रो ने कहा कि 6 लड़के राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर देश के गद्दारों को…गोली मारो…के नारे लगा रहे थे। इन लड़कों को हिरासत में लेकर राजीव चौक मेट्रो पुलिस स्टेशन पर लाया गया। यहां पर इनसे पूछताछ की जा रही है।

बता दें कि, उत्तर पूर्व जिले के हिंसा प्रभावित इलाकों में बीते सोमवार से अर्द्धसैनिक बलों के करीब 7,000 जवान तैनात हैं। शांति कायम रखने के लिए दिल्ली पुलिस के सैकड़ों कर्मी ड्यूटी पर मुस्तैद हैं। इस दौरान दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी लगातार गश्त कर रहे हैं।

इसके अलावा तनाव के माहौल को सामान्य करने के प्रयास लगातार जारी हैं। बता दें कि दिल्ली हिंसा में अभी तक 42 लोगों की जान जा चुकी है। वहीं, हिंसा और उपद्रव में अभी तक 275 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं जिनका अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है।

नई दिल्ली। दिल्ली के राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर एक बार फिर गोली मारो के नारे लगे। सीआईएसएफ ने इस आरोप में 6 युवकों को हिरासत में लिया है। ​सीआईएसएफ का कहना है कि शनिवार को छह युवक राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर नारेबाजी करते हुए दिखाई दिए। यह देख सीआईएसएफ के जवानों ने नारेबाजी कर रहे युवकों को हिरासत में ले लिया और दिल्ली मेट्रो के सुरक्षा अधिकारियों को सौंप दिया। सीआईएसएफ के मुताबिक इस घटना का मेट्रो परिचालन पर कोई असर नहीं पड़ा। डीसीपी मेट्रो ने कहा कि 6 लड़के राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर देश के गद्दारों को...गोली मारो...के नारे लगा रहे थे। इन लड़कों को हिरासत में लेकर राजीव चौक मेट्रो पुलिस स्टेशन पर लाया गया। यहां पर इनसे पूछताछ की जा रही है। बता दें कि, उत्तर पूर्व जिले के हिंसा प्रभावित इलाकों में बीते सोमवार से अर्द्धसैनिक बलों के करीब 7,000 जवान तैनात हैं। शांति कायम रखने के लिए दिल्ली पुलिस के सैकड़ों कर्मी ड्यूटी पर मुस्तैद हैं। इस दौरान दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी लगातार गश्त कर रहे हैं। इसके अलावा तनाव के माहौल को सामान्य करने के प्रयास लगातार जारी हैं। बता दें कि दिल्ली हिंसा में अभी तक 42 लोगों की जान जा चुकी है। वहीं, हिंसा और उपद्रव में अभी तक 275 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं जिनका अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है।