1. हिन्दी समाचार
  2. 60 डॉक्टरों ने लिखा सरकार को पत्र, कहा- विकीलीक्‍स के संस्‍थापक असांजे की जेल में हो सकती है मौत

60 डॉक्टरों ने लिखा सरकार को पत्र, कहा- विकीलीक्‍स के संस्‍थापक असांजे की जेल में हो सकती है मौत

60 Doctors Wrote A Letter To The Government Saying Wikileaks Founder Assange May Die In Jail

By रवि तिवारी 
Updated Date

नई दिल्ली। यहां के 60 चिकित्‍सकों ने ब्रिटेन के तमाम आला मंत्रियों एवं अहम लोगों के लिए एक खुला पत्र लिखा है। इसमें यह लिखा गया है कि विकीलीक्‍स के संस्‍थापक जूलियन असांजे (48) की जेल में मौत हो सकती है। ऑस्ट्रेलियन मूल के असांजे को अमेरिका, ब्रिटेन से प्रत्यर्पित करना चाहता है और वे इसके खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं। असांजे लंदन की बेलमार्श जेल में बंद हैं।

पढ़ें :- 20 जनवरी 2021 का राशिफल: इस राशि के जातकों को मिलने वाला है आर्थिक लाभ, जानिए अपनी राशि का हाल

डॉक्टरों ने ब्रिटेन की गृह मंत्री प्रीति पटेल, आंतरिक मामलों के मंत्री समेत कई अहम लोगों को पत्र लिखा। इसमें अपील की गई है कि असांजे को बेलमार्श जेल से निकालकर यूनिवर्सिटी टीचिंग हॉस्पिटल में भर्ती कराया जाए। असांजे पर जासूसी कानून के तहत आरोप लगाए गए हैं। अगर अमेरिका में उन्हें दोषी करार दिया गया, तो 175 साल की जेल हो सकती है।

‘असांजे की शारीरिक-मानसिक हालत खराब’

डॉक्टरों ने 16 पेज के अपने लेटर में लिखा, “मेडिकल पेशे से जुड़े होने के चलते हम बता सकते हैं कि जूलियन असांजे की शारीरिक और मानसिक स्थिति गंभीर है। उन्हें तुरंत फिजिकल और साइकोलॉजिकल सहायता की दरकार है। यह किसी बेहतर उपकरण वाले अस्पताल में ही हो सकेगा। असांजे को यूनिवर्सिटी टीचिंग हॉस्पिटल शिफ्ट किया जा सकता है। अगर उन्हें बेहतर इलाज नहीं मिला तो मौत हो सकती है।” पत्र लिखने वालों में अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, ब्रिटेन, स्वीडन, इटली, जर्मनी, श्रीलंका और पोलैंड के डॉक्टर शामिल हैं।

असांजे पर आरोप

पढ़ें :- इंग्लैंड के खिलाफ होने वाले टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय टीम का ऐलान, इनको मिली जगह

असांजे ने विकीलीक्स के जरिए 2010 में अमेरिकी मिलिट्री और डिप्लोमैटिक फाइलों को सार्वजनिक किया था। इसमें अफगानिस्तान और इराक में अमेरिकी बमबारी का खुलासा किया गया था। यह सामने आने के बाद अमेरिकी सरकार को खासी आलोचना झेलनी पड़ी थी।

असांजे 6 महीने पहले सार्वजनिक रूप से सामने आए थे। पिछले महीने वे कोर्ट में सुनवाई के लिए गए थे। इस दौरान वे काफी कमजोर दिखाई दिए थे। उन्हें अपनी जन्म तारीख याद करने में दिक्कत हो रही थी। सुनवाई के बाद जज वेनीसा बैरेट्सर ने कहा था कि कोर्ट में क्या हुआ, यह तक असांजे को समझ में नहीं आया।  

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...