63 सालों से रोजाना एक किलो रेत खा रही हैं कुस्मावती

वाराणसी: सोचिए क्या कोई रेत खा सकता है? शायद नहीं। लेकिन एक 78 साल की बुजुर्ग महिला 63 सालों से रोजाना एक किलो रेत खाती है। इतना ही नहीं यदि जिस दिन वह रेत नहीं खाती है उस दिन वह बीमार पड़ जाती है। यदि रेत खाती है तो स्वस्थ्य रहती है। आखिर सोचने वाली बात है कि कोई इन्सान इस उम्र में रेत खाते हुए कैसे स्वस्थ रह सकता है।




जब इस महिला से पूछा गया कि आप कबसे रेत खा रही हैं तो उनका कहना था कि वे 15 साल की उम्र में बीमार पड़ी थी जिससे मेरा पेट फूलने लगा था, जिस पर गांव के एक वैद्य ने नाड़ी देख कर कहा कि दूध और 2 चम्मच रेत खाओ। तभी से रेत खाने की आदत पड़ी। महिला का कहना है कि जिस दिन वह रेत नहीं खाती है उसके पेट में दर्द रहता है और रात को नींद भी नहीं आती है। और इस महिला का यह भी कहना है कि रोजाना लगभग एक किलो रेत खा लेती है।