असम: जहरीली शराब पीने से 70 लोगों की मौत, 2 अफसर निलंबित

asam
असम: जहरीली शराब पीने से 70 लोगों की मौत, 2 अफसर निलंबित

नई दिल्ली। असम में गोलाघाट और जोरहट जिले के चाय बागान में जहरीली शराब पीने के कारण 70 लोगों की मौत हो गई। 30 से ज्यादा लोग अब भी बीमार हैं। पुलिस ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। जिले के एक अधिकारी ने बताया कि कई लोगों का विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है।

70 Tea Garden Workers Dead After Consuming Spurious Liquor In Assam Two Accused Arrested :

आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक हल्मीरा बागान क्षेत्र और पड़ोसी गांव गोलाघाट में ही 40 लोगों की मौत हुई है। इनमें से 29 ने जोरहट के मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में जबकि बाकी ने शहीद कौशल कुंवर सिविल हॉस्पिटल में दम तोड़ा। बोरहोल्ला थाना क्षेत्र में आने वाले दो गांवों में 11 अन्य की मौत हुई है। खुमताई के भाजपा विधायक मृणाल सैकिया ने बताया कि गुरुवार को विवाह समारोह में लगभग 100 लोगोें ने देशी शराब पी थी जो एक ही दुकान से लाई गई थी। ये सभी बागान मजदूर बताए गए हैं।

स्थानीय लोगों के मुताबिक, इलाके में 10 से 20 रुपये में कच्ची शराब मिला करती है। उन्होंने बताया कि शराब की दुकान चलाने वाले संजू ओरांग और उसकी मां द्रौपदी उरांग की भी जहरीली शराब पीने से मौत हो गई। उधर असम के आबकारी मंत्री परीमल शुक्ल वैद्य ने विभाग के अधिकारियों की एक टीम को घटना की जांच करने का निर्देश दिया है। घटना को लेकर जिले के दो आबकारी अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है।

मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने इन मौतों पर चिंता व्यक्त करते हुए अपर असम मंडल आयुक्त जूली सोनोवाल को मामले की जांच करने के निर्देश दिए और एक महीने के भीतर सरकार को इसकी रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा है। सोनोवाल ने राज्य के ऊर्जा मंत्री तपन कुमार गोगोई, सांसद कामाख्या प्रसाद तासा और विधायक मृणाल सैकिया को घटनास्थल का दौरा करने को कहा है

वहीं, कांग्रेस विधायक रूपज्योति कुर्मी ने आबकारी मंत्री के इस्तीफे की मांग की है और मुख्यमंत्री से मृतकों के परिजनों को उचित मुआवजा देने का अनुरोध किया है।

नई दिल्ली। असम में गोलाघाट और जोरहट जिले के चाय बागान में जहरीली शराब पीने के कारण 70 लोगों की मौत हो गई। 30 से ज्यादा लोग अब भी बीमार हैं। पुलिस ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। जिले के एक अधिकारी ने बताया कि कई लोगों का विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक हल्मीरा बागान क्षेत्र और पड़ोसी गांव गोलाघाट में ही 40 लोगों की मौत हुई है। इनमें से 29 ने जोरहट के मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में जबकि बाकी ने शहीद कौशल कुंवर सिविल हॉस्पिटल में दम तोड़ा। बोरहोल्ला थाना क्षेत्र में आने वाले दो गांवों में 11 अन्य की मौत हुई है। खुमताई के भाजपा विधायक मृणाल सैकिया ने बताया कि गुरुवार को विवाह समारोह में लगभग 100 लोगोें ने देशी शराब पी थी जो एक ही दुकान से लाई गई थी। ये सभी बागान मजदूर बताए गए हैं। स्थानीय लोगों के मुताबिक, इलाके में 10 से 20 रुपये में कच्ची शराब मिला करती है। उन्होंने बताया कि शराब की दुकान चलाने वाले संजू ओरांग और उसकी मां द्रौपदी उरांग की भी जहरीली शराब पीने से मौत हो गई। उधर असम के आबकारी मंत्री परीमल शुक्ल वैद्य ने विभाग के अधिकारियों की एक टीम को घटना की जांच करने का निर्देश दिया है। घटना को लेकर जिले के दो आबकारी अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है। मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने इन मौतों पर चिंता व्यक्त करते हुए अपर असम मंडल आयुक्त जूली सोनोवाल को मामले की जांच करने के निर्देश दिए और एक महीने के भीतर सरकार को इसकी रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा है। सोनोवाल ने राज्य के ऊर्जा मंत्री तपन कुमार गोगोई, सांसद कामाख्या प्रसाद तासा और विधायक मृणाल सैकिया को घटनास्थल का दौरा करने को कहा है वहीं, कांग्रेस विधायक रूपज्योति कुर्मी ने आबकारी मंत्री के इस्तीफे की मांग की है और मुख्यमंत्री से मृतकों के परिजनों को उचित मुआवजा देने का अनुरोध किया है।