हिंसा की आग में सुलगा म्यांमार, 71 की मौत

नई दिल्ली। म्यांमार के रिखिन राज्य में पुलिस और रोहिंग्या उग्रवादियों के बीच झड़प में करीब 71 लोग मारे गए हैं। रिखिन राज्य के प्रशासनिक अधिकारी ने बताया, उग्रवादियों से हुई झड़प में 12 पुलिस के जवान और 59 बंगाली उग्रवादिओं की मौत हुई है।

रिखिन राज्य में मुस्लिम अल्पसंख्यक और बौद्ध संप्रदाय के बढ़ते हुए तनाव की वजह से हिंसा दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। म्यांमार में मुस्लिम अल्पसंख्यकों को स्थानीय लोग अवैध प्रवासी मानते हैं। हाल के हफ्तों में दूरदराज के गांवों में दैनिक हत्याओं के साथ तनाव बढ़ता देखा गया है, जबकि म्यांमार की सरकार ने शरणार्थियों के इलाके में नये सिरे से सेना की तैनाती कर दी है और जवानो की संख्या में बढ़ोत्तरी की गयी है।

{ यह भी पढ़ें:- 1 लाख से ज्यादा रोहिंग्या मुस्लिम बांग्लादेश पहुंचे: संयुक्त राष्ट्र }

शुक्रवार सुबह अनुमानित 150 विद्रोहियों ने कुछ बंदूके और विस्फोटक इस्तेमाल करते हुए 20 से अधिक पुलिस वालों पर हमला कर दिया। सेना ने बताया कि क्यार गॉन्ग तोंग नट चांग गावों में पुलिस और बंगाली उग्रवादियों के बीच मुठभेड़ है। गांव के एक स्थानीय निवासी ने बताया कि अब भी अपने घरों से गोलाबारी की आवाजें सुनाई दे रही हैं।

{ यह भी पढ़ें:- ब्रिक्स सम्मेलन में हिस्सा लेने पहुंचे पीएम मोदी, शी जिनपिंग से मुलाक़ात की संभावना }