71वां गणतंत्र दिवस : राजपथ पर पूरी दुनिया ने देखी भारत की ताकत, पहली बार शामिल हुआ चिनूक हेलीकॉप्टर

delhi
71वां गणतंत्र दिवस : राजपथ पर पूरी दुनिया ने देखी भारत की ताकत, पहली बार शामिल हुआ चिनूक हेलीकॉप्टर

नई दिल्ली। भारत के 71 वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर राजपथ पर आयोजित समारोह में देश की बढ़ती हुई सैन्य शक्ति, बहुमूल्य सांस्कृतिक विरासत और सामाजिक-आर्थिक प्रगति का भव्य नजारा दिखा। इस खास मौके पर ब्राजील के राष्ट्रपति जायेर बोलसोनारो मुख्य अतिथि हैं। उपग्रह भेदी हथियार ‘शक्ति’, थलसेना का युद्धक टैंक भीष्म, इन्फैंट्री युद्धक वाहन और हाल ही में वायु सेना में शामिल किए गए चिनूक और अपाचे युद्धक हेलिकॉप्टर भव्य सैन्य परेड का हिस्सा होंगे।
   
पारंपरिक कुर्ता पजामा और जैकेट पहने हुए मोदी बाद में राजपथ पहुंचे और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद तथा मुख्य अतिथि से मुलाकात की। राष्ट्रीय ध्वज फहराने के दौरान बैंड ने राष्ट्रगान बजाया और 21 बंदूकों की सलामी दी गई। गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री एस. जयशंकर समेत मोदी सरकार के ज्यादातर मंत्री इस मौके पर मौजूद रहे। इसके अलावा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और एच डी देवेगौड़ा तथा कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद भी उपस्थित थे।

71st Republic Day The Whole World Saw Indias Strength Chinook Helicopters Joined Parade For The First Time :

गणतंत्र दिवस समारोह के लिए पीएम मोदी राजपथ पहुंचे। जहां रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने उनका स्वागत किया। इसके बाद पीएम मोदी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की पत्नी सविता कोविंद, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का राजपथ में स्वागत किया। राष्ट्रपति रामानाथ कोविंद ने राजपथ पर तिरंगा फहराया और राष्ट्रध्वज को सलामी दी। इस दौरान पीएम मोदी और ब्राजील के राष्ट्रपति जायेर बोलसोनारो भी मौजूद रहे।

गणतंत्र दिवस परेड समारोह की शुरुआत हुई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इंडिया गेट के समीप स्थित राष्ट्रीय समर स्मारक पहुंचे और कृतज्ञ राष्ट्र की ओर से शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। यह पहली बार है जब प्रधानमंत्री ने अमर जवान ज्योति की बजाय राष्ट्रीय समर स्मारक पर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। 

सुखोई-30 के हवाई करतब से होगा समापन

इसके बाद चिनूक हेलिकॉप्टर ‘विक’ फॉर्मेशन में उड़ते दिखाई देंगे। परेड में अपाचे हेलिकॉप्टर, डोर्नियर विमान और सी-130 जे सुपर हरक्यूलीज विमान भी दिखाई देंगे। पांच जगुआर विमान और पांच मिग-29 विमान ‘एरोहेड’ फार्मेशन में वायुसेना के पराक्रम का प्रदर्शन करेंगे। परेड का समापन सुखोई-30 एमकेआई जेट विमानों के हवाई करतब से होगा।

नई दिल्ली। भारत के 71 वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर राजपथ पर आयोजित समारोह में देश की बढ़ती हुई सैन्य शक्ति, बहुमूल्य सांस्कृतिक विरासत और सामाजिक-आर्थिक प्रगति का भव्य नजारा दिखा। इस खास मौके पर ब्राजील के राष्ट्रपति जायेर बोलसोनारो मुख्य अतिथि हैं। उपग्रह भेदी हथियार ‘शक्ति’, थलसेना का युद्धक टैंक भीष्म, इन्फैंट्री युद्धक वाहन और हाल ही में वायु सेना में शामिल किए गए चिनूक और अपाचे युद्धक हेलिकॉप्टर भव्य सैन्य परेड का हिस्सा होंगे।     पारंपरिक कुर्ता पजामा और जैकेट पहने हुए मोदी बाद में राजपथ पहुंचे और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद तथा मुख्य अतिथि से मुलाकात की। राष्ट्रीय ध्वज फहराने के दौरान बैंड ने राष्ट्रगान बजाया और 21 बंदूकों की सलामी दी गई। गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री एस. जयशंकर समेत मोदी सरकार के ज्यादातर मंत्री इस मौके पर मौजूद रहे। इसके अलावा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और एच डी देवेगौड़ा तथा कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद भी उपस्थित थे। गणतंत्र दिवस समारोह के लिए पीएम मोदी राजपथ पहुंचे। जहां रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने उनका स्वागत किया। इसके बाद पीएम मोदी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की पत्नी सविता कोविंद, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का राजपथ में स्वागत किया। राष्ट्रपति रामानाथ कोविंद ने राजपथ पर तिरंगा फहराया और राष्ट्रध्वज को सलामी दी। इस दौरान पीएम मोदी और ब्राजील के राष्ट्रपति जायेर बोलसोनारो भी मौजूद रहे। गणतंत्र दिवस परेड समारोह की शुरुआत हुई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इंडिया गेट के समीप स्थित राष्ट्रीय समर स्मारक पहुंचे और कृतज्ञ राष्ट्र की ओर से शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। यह पहली बार है जब प्रधानमंत्री ने अमर जवान ज्योति की बजाय राष्ट्रीय समर स्मारक पर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की।  सुखोई-30 के हवाई करतब से होगा समापन इसके बाद चिनूक हेलिकॉप्टर 'विक' फॉर्मेशन में उड़ते दिखाई देंगे। परेड में अपाचे हेलिकॉप्टर, डोर्नियर विमान और सी-130 जे सुपर हरक्यूलीज विमान भी दिखाई देंगे। पांच जगुआर विमान और पांच मिग-29 विमान 'एरोहेड' फार्मेशन में वायुसेना के पराक्रम का प्रदर्शन करेंगे। परेड का समापन सुखोई-30 एमकेआई जेट विमानों के हवाई करतब से होगा।