72% लोगों की राय, महंगाई को लेकर देश में मची त्राहि त्राहि

modi
72% लोगों की राय, महंगाई को लेकर देश में मची त्राहि त्राहि

नई दिल्ली। आम बजट से पहले आये एक सर्वे के मुताबिक 72% भारतीय मानते हैं कि मोदी के शासन काल में महंगाई को लेकर देश में त्राहि त्राहि मची है। वहीं 66% लोगों का मानना है कि रोजाना का खर्च संभालना अब मुश्किल हो गया है। सर्वे के मुताबिक 28.8% लोगों का मानना है कि आम आदमी की जिंदगी सुधरी है।

72 Of The Public Opinion There Was A Panic In The Country Due To Inflation :

आम बजट से पहले जनवरी के तीसरे और चौथे हफ्ते में एक सर्वे किया गया, इस सर्वे में 4292 लोगों से महंगाई, आम आदमी, खर्च को लेकर सवाल किए गए। सर्वे के मुताबिक, 48% भारतीयों का मानना है कि बीते एक साल में आम आदमी की जिंदगी बर्बाद हो गई है।

इस सर्वे से एक बार प्रमुख बात सामने आयी है कि लोगों की कमाई का लगातार स्तर गिरता जा रहा है। लोग अपनी उम्मीदों और आशाओं से कम हासिल कर पा रहे हैं, ऐसे में उनको काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सर्वे में शामिल 51.5% लोगों का मानना है कि उनके लिए 20 हजार की मासिक आय भी पर्याप्त है। वहीं 23.6% का मानना है कि 4 लोगों के परिवार के लिए प्रति माह 20 से 30 हजार के बीच आय जरूरी है।

इस बार मोदी सरकार संसद में एक फरवरी को बजट पेश करने जा रही है। लोगों को उम्मीद है कि शायद इस बार उन्हे इनकम टैक्स में छूट दी जाये। सर्वे के मुताबिक ज्यादातर का मानना है कि 4.3 लाख तक की आय टैक्स फ्री होनी चाहिए। लोगों का कहना है कि ऐसा होने से लोग अपने परिवार के लिए एक सामान्य जिंदगी को साकार कर सकेंगे। आपको बता दें कि मौजूदा समय में 2.5 लाख की सालाना आय को टैक्स फ्री रखा गया है। वहीं पिछले 10 साल टैक्स में छूट 4 लाख प्रति वर्ष मांगी जा रही है।

आपको बता दें कि मोदी सरकार पर अक्सर विपक्ष आरोप लगाता रहता है कि सरकार सिर्फ राष्ट्रीय मुद्दो की राजनीति करती रहती है, देश के हालात दिन प्रतिदिन बद्दतर होते जा रहे हैं। विपक्ष का मानना है कि लगातार देश की जीडीपी गिर रही है, मंहगाई लगातार आसमान छू रही है, देश में बेरोजगारी भी बढ़ती जा रही है, लेकिन सरकार इन चीजों पर बिल्कुल भी बातचीत नही करना चाहती है।

नई दिल्ली। आम बजट से पहले आये एक सर्वे के मुताबिक 72% भारतीय मानते हैं कि मोदी के शासन काल में महंगाई को लेकर देश में त्राहि त्राहि मची है। वहीं 66% लोगों का मानना है कि रोजाना का खर्च संभालना अब मुश्किल हो गया है। सर्वे के मुताबिक 28.8% लोगों का मानना है कि आम आदमी की जिंदगी सुधरी है। आम बजट से पहले जनवरी के तीसरे और चौथे हफ्ते में एक सर्वे किया गया, इस सर्वे में 4292 लोगों से महंगाई, आम आदमी, खर्च को लेकर सवाल किए गए। सर्वे के मुताबिक, 48% भारतीयों का मानना है कि बीते एक साल में आम आदमी की जिंदगी बर्बाद हो गई है। इस सर्वे से एक बार प्रमुख बात सामने आयी है कि लोगों की कमाई का लगातार स्तर गिरता जा रहा है। लोग अपनी उम्मीदों और आशाओं से कम हासिल कर पा रहे हैं, ऐसे में उनको काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सर्वे में शामिल 51.5% लोगों का मानना है कि उनके लिए 20 हजार की मासिक आय भी पर्याप्त है। वहीं 23.6% का मानना है कि 4 लोगों के परिवार के लिए प्रति माह 20 से 30 हजार के बीच आय जरूरी है। इस बार मोदी सरकार संसद में एक फरवरी को बजट पेश करने जा रही है। लोगों को उम्मीद है कि शायद इस बार उन्हे इनकम टैक्स में छूट दी जाये। सर्वे के मुताबिक ज्यादातर का मानना है कि 4.3 लाख तक की आय टैक्स फ्री होनी चाहिए। लोगों का कहना है कि ऐसा होने से लोग अपने परिवार के लिए एक सामान्य जिंदगी को साकार कर सकेंगे। आपको बता दें कि मौजूदा समय में 2.5 लाख की सालाना आय को टैक्स फ्री रखा गया है। वहीं पिछले 10 साल टैक्स में छूट 4 लाख प्रति वर्ष मांगी जा रही है। आपको बता दें कि मोदी सरकार पर अक्सर विपक्ष आरोप लगाता रहता है कि सरकार सिर्फ राष्ट्रीय मुद्दो की राजनीति करती रहती है, देश के हालात दिन प्रतिदिन बद्दतर होते जा रहे हैं। विपक्ष का मानना है कि लगातार देश की जीडीपी गिर रही है, मंहगाई लगातार आसमान छू रही है, देश में बेरोजगारी भी बढ़ती जा रही है, लेकिन सरकार इन चीजों पर बिल्कुल भी बातचीत नही करना चाहती है।