1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली में 9 सरकारी और 74 निजी कोविड अस्पताल, इनमें 8575 बेड, अब सिर्फ 4162 बेड खाली

दिल्ली में 9 सरकारी और 74 निजी कोविड अस्पताल, इनमें 8575 बेड, अब सिर्फ 4162 बेड खाली

9 Government And 74 Private Kovid Hospitals In Delhi 8575 Beds Now Only 4162 Beds Empty

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

नई दिल्ली. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को फैसला लिया कि दिल्ली के सरकारी अस्पतालों में सिर्फ दिल्लीवालों का इलाज होगा। हालांकि, केंद्र सरकार के अधीन आने वाले अस्पताल सभी के लिए खुले रहेंगे, लेकिन फैसले के एक दिन बाद ही उपराज्यपाल अनिल बैजल ने इसे पलट दिया।

पढ़ें :- दीनदयाल जी ने देश को एकात्म मानववाद जैसी प्रगतिशील विचारधारा दी : रवि किशन

सरकार को यह फैसला इसलिए लेना पड़ा था, क्योंकि 5 डॉक्टरों की कमेटी ने एक रिपोर्ट पेश की थी, जिसमें कहा गया था कि दिल्ली के अस्पतालों में बाहरी लोगों का इलाज हुआ तो कोरोना के मरीजों के लिए रिजर्व किए गए 9 हजार बेड 3 दिन में भर जाएंगे। रिपोर्ट में ऐसी सिफारिश इसलिए, क्योंकि राजधानी में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। covid19india.org के मुताबिक, दिल्ली में 8 जून तक कोरोना के करीब 30 हजार केस मिले। 874 की मौत हुई। यहां 17 हजार 712 एक्टिव केस हैं।

दिल्ली सरकार के आंकड़ों के मुताबिक, राज्य में 83 कोविड अस्पताल हैं। इनमें 8 हजार 575 बेड हैं। इनमें से 4 हजार 413 बेड पर मरीज हैं, जबकि 4 हजार 162 बेड खाली हैं। यानी, जितने बेड हैं उनमें से अब 50% से भी कम ही खाली हैं। 83 कोविड अस्पतालों में 9 सरकारी और 74 निजी अस्पताल हैं। सरकारी की तुलना में निजी अस्पतालों के ज्यादातर बेड पर मरीज हैं।

निजी अस्पतालों में 2 हजार 887 बेड हैं। इनमें से अब 937 यानी 32.5% बेड ही खाली हैं। जबकि, सरकारी अस्पतालों के 5 हजार 678 बिस्तरों में से 3 हजार 215, यानी 57% खाली हैं। यहां 518 वेंटिलेटर बेड में से 251 पर मरीज हैं, जबकि 267 ही खाली हैं। इन सबके अलावा, 7 जून तक कोविड हेल्थ सेंटर में 101 और कोविड केयर सेंटर में 4 हजार 474 बेड खाली बचे हैं।

सेंटर फॉर डिसीज डायनामिक्स, इकोनॉमिक्स एंड पॉलिसी यानी सीडीडीईपी की रिपोर्ट बताती है कि देश में सिर्फ 69 हजार 264 अस्पताल हैं। इनमें से दिल्ली में 176 अस्पताल हैं। इनमें 109 सरकारी और 67 प्राइवेट हैं। हमारे यहां अस्पतालों के साथ डॉक्टरों की भी कमी है।

पढ़ें :- ड्रग्स के खिलाफ मुहीम को आगे बढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री जी का आभारी हूँ: सांसद रवि किशन

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने 30 सितंबर 2019 को लोकसभा में दिए जवाब में बताया था कि देश में 12 लाख के आसपास एलोपैथिक डॉक्टर हैं। दिल्ली में 24 हजार 999 डॉक्टर हैं। सबसे ज्यादा 1 लाख 79 हजार 783 डॉक्टर महाराष्ट्र में हैं। दूसरे नंबर पर तमिलनाडु है। जहां 1 लाख 38 हजार 821 डॉक्टर हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...