ट्रेजर आईलैंड मॉल के गेम सेक्शन में महिला दिवस पर 9 साल की बच्ची से हुई दरिंदगी

ट्रेजर आईलैंड मॉल , गेम सेक्शन ,रेप , महिला दिवस
ट्रेजर आईलैंड मॉल के गेम सेक्शन में महिला दिवस पर 9 साल की बच्ची से हुई दरिंदगी
इंदौर। इंदौर के सबसे बड़े मॉल टी आई (ट्रेजर आईलैंड) की पांचवीं मंजिल के वर्चुअल गेम जोन में महिला दिवस की शाम एक 9 साल की बच्ची को गेम जोन के कर्मचारी ने अपनी हवस का शिकार बना लिया। जहां एक तरफ म्यूजिक का शोर, मास्क और चश्मा लगाए अंधेरे हॉल में खेल की धुन में मस्त थे बच्चे वहीं मौके का फायदा उठाते हुए युवक ने बच्ची का हाथ पकड़ अपने साथ कोने में ले गया और गलत हरकत…

इंदौर। इंदौर के सबसे बड़े मॉल टी आई (ट्रेजर आईलैंड) की पांचवीं मंजिल के वर्चुअल गेम जोन में महिला दिवस की शाम एक 9 साल की बच्ची को गेम जोन के कर्मचारी ने अपनी हवस का शिकार बना लिया। जहां एक तरफ म्यूजिक का शोर, मास्क और चश्मा लगाए अंधेरे हॉल में खेल की धुन में मस्त थे बच्चे वहीं मौके का फायदा उठाते हुए युवक ने बच्ची का हाथ पकड़ अपने साथ कोने में ले गया और गलत हरकत करने लगा वहीं पूरे फर्श पर खून फैल गया। वहां खेल रहे बच्ची के 12 वर्षीय भाई और वहां मौजूद सभी लोगों को लग रहा था कि बच्ची खेल में हारने के दर से चिल्ला रही होगी। जब बच्ची रोते हुए बाहर आई और उसने कराहते हुए कर्मचारी अर्जुन की तरफ इशारा किया तो मां ने तुरंत उसे पकड़ कर कई थप्पड़ मारे। जब पूरा मामला वहां मौजूद अन्य लोगों को पता चला तो सभी के पैरों तले जमीन खिसक गयी और सब लोग आरोपी की जमकर धुनाई करने लगे। फिलहाल पीड़ित परिवार की शिकायत पर आरोपी को अरेस्ट कर लिया गया और बच्ची का शहर के एक अस्पताल में मेडिकल करवाया गया है।

पूरे हादसे के बाद बच्ची इतना डर गई कि बाउंसर जब उसके पास आए तो वह चिल्लाने लगी, ‘मम्मी, प्लीज इनको मुझसे दूर करो… मुझे बहुत डर लग रहा है…।’ मां ने बच्ची को सीने से लगाकर सहलाया और चिल्लाते हुए बाउंसर को दूर जाने के लिए बोल दिया। इंदौर इलाके में रहने वाले एक कारोबारी की पत्नी अपनी 9 साल की बेटी और 12 के बेटे को लेकर गुरुवार शाम ट्रेजर आईलैंड घूमने आई थी। वे मॉल घूमते हुए पांचवींं मंजिल पर बने गेम जोन में पहुंचे। बच्चों ने जिद की थी वहां पर चश्मा और मास्क लगाकर सब जाते हैं हमको भी ले चलो। बच्चों की जिद को पूरा करने के लिए मां वहां ले गई।

{ यह भी पढ़ें:- J&K: महिला ने CRPF जवान पर लगाया दुष्कर्म का आरोप }

भाई-बहन को टिकट दिलाकर मास्क और चश्मा लगाकर मां ने बच्चों को अंदर भेज दिया। अपना-अपना गेम खेलने के लिए भाई-बहन अलग हो गए थे। म्यूजिक के शोर के बीच बच्चे अंधेरे रूम में गेम खेल रहे थे, तभी अचानक बच्ची के चीखने की आवाज आई। उसके 12 साल के भाई सहित सभी बच्चों को लग रहा था कि बच्ची गेम से डर के कारण चिल्ला रही है, लेकिन सच्चाई कुछ और ही सामने आई।

मामले में सीएसपी ने बताया कि ‘गेमिंग जोन के कर्मचारियों का पुलिस वेरिफिकेशन भी नहीं है। फिलहाल मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी गयी और आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे।’ वहीं, घटना को लेकर जब टीआई मॉल के मालिक पिंटू छाबड़ा से बात की गई तो बताया कि वे सूरत में हैं। मॉल में बच्ची के साथ ऐसी घिनौनी हरकत ने उन्हें हिलाकर रख दिया है। इसलिए उन्होंने गेमिंग जोन हमेशा के लिए बंद करने का फैसला लिया है। पिंटू के मुताबिक, मॉल के हर कर्मचारी का पुलिस वेरिफिकेशन है। यदि गेमिंग जोन में कर्मचारी का पुलिस वेरिफिकेशन नहीं हुआ है तो इसके लिए भी एक्शन होना चाहिए। पुलिस को आरोपी युवक के साथ गेम जोन के मैनेजमेंट पर भी सख्त कार्रवाई करना चाहिए।

{ यह भी पढ़ें:- मदरसा बलात्कार मामला: रेप पीड़िता ने सुनाई आपबीती, कहा- बच्चों के शोर में दब जाती थी आवाज }

मॉल में पहले छात्रा के साथ हो चुकी ही घटना
इसी मॉल में पहले भी 11 वीं क्लास की छात्रा के साथ एक घटना हो चुकी है। अन्नपूर्णा इलाके में रहने वाली छात्रा मॉल में कपड़े खरीदने गई थी। छात्रा चेजिंग रूम में कपड़े बदल रही थी। इस दौरान वहीं काम करने वाले कर्मचारी ने चेंजिंग रूम में मोबाइल फोन डालकर उसका वीडियो बनाने की कोशिश की। छात्रा को इसका पता चला तो उसने शोर मचाया। इसके बाद युवती की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया था।

Loading...