अवैध खनन कर भाग रहे डंपर ने छात्र का कुचला, हंगामा कर रहे परिजनों पर पुलिस ने बरसाईं लाठिया

road accident
जम्मू-कश्मीर के बाद शिमला में बड़ा सड़क हादसा, दो स्कूली बच्चों समेत तीन की मौत, 10 घायल

मुरादाबाद। मुरादाबाद के कुंदरकी थाना क्षेत्र में हाईवे पर खनन कर भाग रहे मिट्टी से लदे डंपर ने शुक्रवार देर रात कक्षा नौ के छात्र को कुचल दिया। इस हादसे में छात्र की मौके पर ही मौत हो गई। हादसे के बाद चालक डंपर छोड़कर फरार हो गया। घटना के विरोध में स्थानीय लोगों ने डंपर में तोड़फोड़ की और हाईवे पर जाम लगा दिया। पुलिस ने हंगामा कर रहे लोगों को हटाने के लिए लाठियां बरसाई तो भीड़ ने भी जवाब में पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। दो घंटे तक बवाल चला। जिसके बाद मुश्किल मामला शांत हुआ। पुलिस ने शनिवार को छात्र के शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया।

9 Years Old Students Death In Road Accident At Muradabaad Last Night :

हमारे मुरादाबाद संवाददाता रूपक त्यागी के मुताबिक कटघर कोतवाली क्षेत्र के गुलाब बाड़ी स्थित सूरज नगर निवासी 15 वर्षीय हिमांशु अपनी मां मीना के साथ मुरादाबाद अलीगढ़ नेशनल हाईवे पर गांव नानपुर के साप्ताहिक बाजार में हाथ के पंखे बेचने आया था। रात 8 बजे घर आने के लिए मां और बेटे हाईवे पर सड़क पार कर रहे थे। तभी मिट्टी से भरे डंपर ने हिमांशु को कुचल दिया, जिसके बाद उसकी घटनास्थल पर ही दर्दनाक मौत हो गई। हिमांशु का शव काफी देर तक डंपर में फंसा रहा। हादसे को अंजाम देकर चालक डंपर से कूदकर भाग गया।

वहीं हादसे से गुस्साए लोगों ने पहले तो डंपर में तोड़फोड़ की और फिर मुरादाबाद अलीगढ़ नेशनल हाईवे पर हंगामा शुरू कर दिया। सूचना पर हिमांशु के परिजन भी पहुंच गए तथा मुआवजे की मांग भी उठाई गई। पुलिस ने समझाने की कोशिश की तो हंगामा बढ़ने लगा, जिसके बाद अन्य थानों से पुलिस फोर्स को बुलाकर पुलिस ने जाम खुलवाने के लिए लाठियां फटकारीं तो पब्लिक ने पुलिस पर पथराव कर दिया। पुलिस ने मृतक के परिजनों के साथ ही कुछ लोगों को जाम स्थल से जबरन हटा दिया और थाने ले आई।

हिमांशु के परिजनों ने खुद के साथ मारपीट का भी आरोप लगाया है। जिसके बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया। करीब 2 घंटे की मशक्कत के बाद यातायात सुचारू हो सका। जाम लगने के दौरान यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। पुलिस ने शनिवार को शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया। मृतक बच्चे के शव को ले जा रहे परिजन भी रास्ते में हादसेक के शिकार हो गए। जिसमें तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए जिन्हें उपचार के लिए मुरादाबाद अस्पताल से हायर सेंटर रेफर कर दिया।

मुरादाबाद। मुरादाबाद के कुंदरकी थाना क्षेत्र में हाईवे पर खनन कर भाग रहे मिट्टी से लदे डंपर ने शुक्रवार देर रात कक्षा नौ के छात्र को कुचल दिया। इस हादसे में छात्र की मौके पर ही मौत हो गई। हादसे के बाद चालक डंपर छोड़कर फरार हो गया। घटना के विरोध में स्थानीय लोगों ने डंपर में तोड़फोड़ की और हाईवे पर जाम लगा दिया। पुलिस ने हंगामा कर रहे लोगों को हटाने के लिए लाठियां बरसाई तो भीड़ ने भी जवाब में पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। दो घंटे तक बवाल चला। जिसके बाद मुश्किल मामला शांत हुआ। पुलिस ने शनिवार को छात्र के शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया। हमारे मुरादाबाद संवाददाता रूपक त्यागी के मुताबिक कटघर कोतवाली क्षेत्र के गुलाब बाड़ी स्थित सूरज नगर निवासी 15 वर्षीय हिमांशु अपनी मां मीना के साथ मुरादाबाद अलीगढ़ नेशनल हाईवे पर गांव नानपुर के साप्ताहिक बाजार में हाथ के पंखे बेचने आया था। रात 8 बजे घर आने के लिए मां और बेटे हाईवे पर सड़क पार कर रहे थे। तभी मिट्टी से भरे डंपर ने हिमांशु को कुचल दिया, जिसके बाद उसकी घटनास्थल पर ही दर्दनाक मौत हो गई। हिमांशु का शव काफी देर तक डंपर में फंसा रहा। हादसे को अंजाम देकर चालक डंपर से कूदकर भाग गया। वहीं हादसे से गुस्साए लोगों ने पहले तो डंपर में तोड़फोड़ की और फिर मुरादाबाद अलीगढ़ नेशनल हाईवे पर हंगामा शुरू कर दिया। सूचना पर हिमांशु के परिजन भी पहुंच गए तथा मुआवजे की मांग भी उठाई गई। पुलिस ने समझाने की कोशिश की तो हंगामा बढ़ने लगा, जिसके बाद अन्य थानों से पुलिस फोर्स को बुलाकर पुलिस ने जाम खुलवाने के लिए लाठियां फटकारीं तो पब्लिक ने पुलिस पर पथराव कर दिया। पुलिस ने मृतक के परिजनों के साथ ही कुछ लोगों को जाम स्थल से जबरन हटा दिया और थाने ले आई। हिमांशु के परिजनों ने खुद के साथ मारपीट का भी आरोप लगाया है। जिसके बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया। करीब 2 घंटे की मशक्कत के बाद यातायात सुचारू हो सका। जाम लगने के दौरान यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। पुलिस ने शनिवार को शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया। मृतक बच्चे के शव को ले जा रहे परिजन भी रास्ते में हादसेक के शिकार हो गए। जिसमें तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए जिन्हें उपचार के लिए मुरादाबाद अस्पताल से हायर सेंटर रेफर कर दिया।