व्यवसायिक घरानों से मिले कुल चंदे का 92.5 फीसदी पैसा गया बीजेपी के पास: रिपोर्ट

bjp
व्यवसायिक घरानों से मिले कुछ चंदे का 92.5 फीसदी पैसा गया बीजेपी के पास: रिपोर्ट

नई दिल्ली। एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि पिछले दो वित्त वर्ष में देश के राष्ट्रीय राजनीतिक दलों को 985 करोड़ रुपये से ज्यादा का चंदा मिला है। इसमें काफी मात्रा में ऐसा पैसा भी है, जिसके श्रोत का पता नहीं चल रहा है,यानी डोनर्स की पैन डिटेल्स और पता जाने ले लिए जाते हैं।

92 5 Per Cent Of The Money Received From Business Houses Got The Bjp According To Report :

एडीआर ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि 2016-2017 और 2017-2018 इन दो वित्त वर्षों में कारोबारी घरानों से छह राष्ट्रीय राजनीतिक दलों को 985 करोड़ रुपये का चंदा मिला, जिसमें से भाजपा को अकेले 92.5 फीसदी यानी करीब 915 करोड़ रुपये चंदा मिला। 151 कॉरपोरेट घरानों ने कांग्रेस को 55.36 करोड़ रुपये, 23 कॉरपोरेट घरानों ने एनसीपी को 7.73 करोड़ रुपये दान दिया।

रिपोर्ट के मुताबिक बीजेपी को मिले कुल दान में 20,000 रुपये से अधिक के स्वैच्छिक दानकर्ताओं द्वारा 94 प्रतिशत दान दिया गया, जबकि वहीं कांग्रेस को यह प्रतिशत 81 रहा। रिपोर्ट में भाजपा, कांग्रेस, एनसीपी के साथ सीपीआई, सीपीएम और तृणमूल कांग्रेस शामिल रही।

बता दें कि बहुजन समाज पार्टी को रिपोर्ट में शामिल नहीं किया गया। बताया गया कि बसपा ने साल 2004 से अब तक पार्टी को 20,000 रुपये से अधिक का दान किसी दानकर्ता से नहीं मिलने की घोषणा की।

नई दिल्ली। एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि पिछले दो वित्त वर्ष में देश के राष्ट्रीय राजनीतिक दलों को 985 करोड़ रुपये से ज्यादा का चंदा मिला है। इसमें काफी मात्रा में ऐसा पैसा भी है, जिसके श्रोत का पता नहीं चल रहा है,यानी डोनर्स की पैन डिटेल्स और पता जाने ले लिए जाते हैं। एडीआर ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि 2016-2017 और 2017-2018 इन दो वित्त वर्षों में कारोबारी घरानों से छह राष्ट्रीय राजनीतिक दलों को 985 करोड़ रुपये का चंदा मिला, जिसमें से भाजपा को अकेले 92.5 फीसदी यानी करीब 915 करोड़ रुपये चंदा मिला। 151 कॉरपोरेट घरानों ने कांग्रेस को 55.36 करोड़ रुपये, 23 कॉरपोरेट घरानों ने एनसीपी को 7.73 करोड़ रुपये दान दिया। रिपोर्ट के मुताबिक बीजेपी को मिले कुल दान में 20,000 रुपये से अधिक के स्वैच्छिक दानकर्ताओं द्वारा 94 प्रतिशत दान दिया गया, जबकि वहीं कांग्रेस को यह प्रतिशत 81 रहा। रिपोर्ट में भाजपा, कांग्रेस, एनसीपी के साथ सीपीआई, सीपीएम और तृणमूल कांग्रेस शामिल रही। बता दें कि बहुजन समाज पार्टी को रिपोर्ट में शामिल नहीं किया गया। बताया गया कि बसपा ने साल 2004 से अब तक पार्टी को 20,000 रुपये से अधिक का दान किसी दानकर्ता से नहीं मिलने की घोषणा की।