आॅनर किलिंग : गर्भवती पत्नी के सामने युवक की हत्या, आठ माह पहले किया था प्रेमविवाह

owner killing at telangana
आॅनर किलिंग : गर्भवती पत्नी के सामने युवक की हत्या, आठ माह पहले किया था प्रेमविवाह

हैदराबाद। तेलंगाना में झूठी शान के लिए एक युवक की हत्या कर दी गई। उसने आठ माह पहले अपनी प्रेमिका के साथ अंतरजातीय विवाह किया था। उसकी पत्नी गर्भवती थी, जिसके सामने हत्यारों ने घटना को अंजाम दिया। इस हत्याकांड की जानकारी स्थानीय लोगों को हुई तो वहां प्रदर्शन शुरु हो गया। प्रदर्शनकारियों ने मिरयालगुड़ा कस्बे में बंद बुलाया है। हत्या की पूरी वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई है. इसमें साफ दिख रहा है कि प्रणय कुमार 21 वर्षीय पत्नी अमृता वार्षिणी के साथ एक अस्पताल से बाहर निकल रहे हैं। तभी एक शख्स ने पीछे से कुल्हाड़ी से हमला कर दिया। वो तब तक प्रणय पर हमला करता रहा, जब तक कि उसकी सांसे नही थम गई।

A Boys Murder In Front Of His Pregnent Wife At Telangana :

वहीं पति की लाश देखकर अमृता गश खाकर वहीं पर गिर गई। उसने पुलिस को बताया कि उसे शक है कि उनके पिता और चाचा ने ही हत्या करवाई है। प्रणय के दूसरी जाति का होने के चलते वो लोग शुरु से ही शादी ​का विरोध कर ​रहे थे। साथ ही वो लोग अबॉर्शन के लिए भी दबाव बना रहे थे, लेकिन मैं ऐसा नहीं करना चाह रही थी। अमृता के मुताबिक प्रणय बहुत अच्छे इंसान थे। वह मेरी बहुत अच्छे से देखभाल करते थे, खासकर प्रेगनेंट होने के बाद बहुत ध्यान रखते थे।

फिलहाल पुलिस ने इस मामले में अमृता के पिता मारुति राव और चाचा श्रवण को गिरफ्तार कर लिया है। मारुति राव उद्यमी हैं। गौरतलब है कि प्रणय और अमृता स्कूल के दिनों से ही एक दूसरे को जानते थे। 8 महीने पहले ही उन्होंने शादी की थी, लेकिन दोनों के परिवार वाले इस शादी का विरोध कर रहे थे। क्योंकि प्रणय अनुसूचित जाति से थे और अमृता वैश्य जाति की थी।

हैदराबाद। तेलंगाना में झूठी शान के लिए एक युवक की हत्या कर दी गई। उसने आठ माह पहले अपनी प्रेमिका के साथ अंतरजातीय विवाह किया था। उसकी पत्नी गर्भवती थी, जिसके सामने हत्यारों ने घटना को अंजाम दिया। इस हत्याकांड की जानकारी स्थानीय लोगों को हुई तो वहां प्रदर्शन शुरु हो गया। प्रदर्शनकारियों ने मिरयालगुड़ा कस्बे में बंद बुलाया है। हत्या की पूरी वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई है. इसमें साफ दिख रहा है कि प्रणय कुमार 21 वर्षीय पत्नी अमृता वार्षिणी के साथ एक अस्पताल से बाहर निकल रहे हैं। तभी एक शख्स ने पीछे से कुल्हाड़ी से हमला कर दिया। वो तब तक प्रणय पर हमला करता रहा, जब तक कि उसकी सांसे नही थम गई। वहीं पति की लाश देखकर अमृता गश खाकर वहीं पर गिर गई। उसने पुलिस को बताया कि उसे शक है कि उनके पिता और चाचा ने ही हत्या करवाई है। प्रणय के दूसरी जाति का होने के चलते वो लोग शुरु से ही शादी ​का विरोध कर ​रहे थे। साथ ही वो लोग अबॉर्शन के लिए भी दबाव बना रहे थे, लेकिन मैं ऐसा नहीं करना चाह रही थी। अमृता के मुताबिक प्रणय बहुत अच्छे इंसान थे। वह मेरी बहुत अच्छे से देखभाल करते थे, खासकर प्रेगनेंट होने के बाद बहुत ध्यान रखते थे। फिलहाल पुलिस ने इस मामले में अमृता के पिता मारुति राव और चाचा श्रवण को गिरफ्तार कर लिया है। मारुति राव उद्यमी हैं। गौरतलब है कि प्रणय और अमृता स्कूल के दिनों से ही एक दूसरे को जानते थे। 8 महीने पहले ही उन्होंने शादी की थी, लेकिन दोनों के परिवार वाले इस शादी का विरोध कर रहे थे। क्योंकि प्रणय अनुसूचित जाति से थे और अमृता वैश्य जाति की थी।