बिना दर्शकों के क्रिकेट मैच कुछ ऐसा ही है जैसे बिना दुलहन के शादी: शोएब अख्तर

akhatra
बिना दर्शकों के क्रिकेट मैच कुछ ऐसा ही है जैसे बिना दुलहन के शादी: शोएब अख्तर

कोरोना वायरस के चलते मार्च से ही क्रिकेट गतिविधियां बंद हैं। दुनिया में इस बीमारी से मरने वालों की संख्या तीन लाख से ज्यादा हो चुकी है। हालांकि इस बीच जिंदगी को पटरी पर लाने की कोशिशें भी जारी हैं। खेलों को भी बिना दर्शकों के शुरू करने पर विचार किया जा रहा है। जर्मनी में बुंदसलीगा की शुरुआत हो चुकी है।

A Cricket Match Without An Audience Is Like A Wedding Without A Bride Shoaib Akhtar :

इस बीच, क्रिकेट को भई खाली स्टेडियम में करवाने की बातें चल रही हैं। बोर्ड्स को डर है कि कहीं पूरा सीजन ही इस बीमारी की भेंट न चढ़ जाए। इंग्लैंड में घरेलू सीजन पिछले महीने शुरू होना था लेकिन कोविड-19 के चलते इसे टाल दिया गया है। हालांकि अब इंग्लैंड ऐंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने पाकिस्तान और वेस्टइंडीज की मेजबानी की योजना पर काम करना शुरू कर दिया है। इन दोनों टीमों के साथ पूरी सीरीज बस दो-तीन स्टेडियम में ही खेले जाने की योजना है। बोर्ड की कोशिश प्रसारण अधिकार से रेवेन्यू कमाने की है।

खाली स्टेडियम में मैच करवाने के इस आइडिया से पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ज्यादा सहमत नजर नहीं आते। अख्तर ने कहा है कि यह तो वैसा ही होगा जैसे बिना दुलहन के शादी। उनका मानना है कि क्रिकेट की मार्केटिंग के लिए दर्शकों का स्टेडियम में आना बहुत जरूरी है। उन्होंने उम्मीद जताई कि सालभर के भीतर मौजूदा परिस्थितियों में सुधार होगा और लोग एकबार फिर स्टेडियम में जाकर मैच देख पाएंगे।

अख्तर ने कहा, ‘खाली स्टेडियम में मैच खेलना क्रिकेट बोर्ड्स के लिए अच्छा हो सकता है लेकिन मुझे नहीं लगता कि हमें इसको मार्केट करना चाहिए। खाली स्टेडियम में क्रिकेट खेलना ऐसा ही है जैसे बिना दुलहन के शादी। हमें खेल के लिए दर्शकों की जरूरत है।’  

कोरोना वायरस के चलते मार्च से ही क्रिकेट गतिविधियां बंद हैं। दुनिया में इस बीमारी से मरने वालों की संख्या तीन लाख से ज्यादा हो चुकी है। हालांकि इस बीच जिंदगी को पटरी पर लाने की कोशिशें भी जारी हैं। खेलों को भी बिना दर्शकों के शुरू करने पर विचार किया जा रहा है। जर्मनी में बुंदसलीगा की शुरुआत हो चुकी है। इस बीच, क्रिकेट को भई खाली स्टेडियम में करवाने की बातें चल रही हैं। बोर्ड्स को डर है कि कहीं पूरा सीजन ही इस बीमारी की भेंट न चढ़ जाए। इंग्लैंड में घरेलू सीजन पिछले महीने शुरू होना था लेकिन कोविड-19 के चलते इसे टाल दिया गया है। हालांकि अब इंग्लैंड ऐंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने पाकिस्तान और वेस्टइंडीज की मेजबानी की योजना पर काम करना शुरू कर दिया है। इन दोनों टीमों के साथ पूरी सीरीज बस दो-तीन स्टेडियम में ही खेले जाने की योजना है। बोर्ड की कोशिश प्रसारण अधिकार से रेवेन्यू कमाने की है। खाली स्टेडियम में मैच करवाने के इस आइडिया से पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ज्यादा सहमत नजर नहीं आते। अख्तर ने कहा है कि यह तो वैसा ही होगा जैसे बिना दुलहन के शादी। उनका मानना है कि क्रिकेट की मार्केटिंग के लिए दर्शकों का स्टेडियम में आना बहुत जरूरी है। उन्होंने उम्मीद जताई कि सालभर के भीतर मौजूदा परिस्थितियों में सुधार होगा और लोग एकबार फिर स्टेडियम में जाकर मैच देख पाएंगे। अख्तर ने कहा, 'खाली स्टेडियम में मैच खेलना क्रिकेट बोर्ड्स के लिए अच्छा हो सकता है लेकिन मुझे नहीं लगता कि हमें इसको मार्केट करना चाहिए। खाली स्टेडियम में क्रिकेट खेलना ऐसा ही है जैसे बिना दुलहन के शादी। हमें खेल के लिए दर्शकों की जरूरत है।'