शाहीन बाग में सड़क खाली कराने पहुंचे बड़ी संख्या में लोग, कुछ दूर पहले ही पुलिस ने रोका

shahin bag
शाहीन बाग में सड़क खाली कराने पहुंचे बड़ी सख्या में लोग, कुछ दूर पहले ही पुलिस ने रोका

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) व एनआरसी के विरोध में एक महीने से शाहीन बाग में लोग धरने पर बैठे हैं। वहीं रविवार बड़ी सख्या में जुटे लोग सड़क खाली कराने के लिए जा रहे थे। तभी कुछ दूर पहले ही पुलिस ने उन्हें रोक लिया। लोगों ने कहा कि जल्द से जल्द सड़क खुलवाई जाए।

A Large Number Of People Rushed To Vacate The Road In Shaheen Bagh The Police Stopped Some Time Ago :

वहीं प्रदर्शनकारियों के सामने प्रदर्शन होने से वहां हल्का तनाव हो गया है। हालांकि पुलिस बलों की संख्या बढ़ाई गई है। कई बसों में भरकर लोगों को पुलिस धरना स्थल से दूर ले जा रही है। वहीं, शनिवार को भी शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों के खिलाफ लोग धरने पर बैठे थे। वह प्रदर्शनकारियों को हटाने की मांग कर रहे थे। यहां एक हफ्ते से यह धरना चल रहा है।

हालांकि शाहीन बाग धरने के विरोध में धरने पर बैठे लोगों को पुलिस बार-बार हटा दे रही है। वहीं, शनिवार को झारंखड से आए संतन सिंह 30-40 लोगों के साथ धरने पर बैठे थे। धरना स्थल की बैरिकेडिंग के पास जसोला रेडलाइट पर धरना देने वालों में स्थानीय लोग भी शामिल थे। यहां गोली चलने की खबर फैलते ही लोगों की संख्या बढ़ गई।

धरने में करीब 100 से ज्यादा लोग जुट गए तो पुलिस के भी हाथपांव फूल गए। आनन-फानन में पहुंची पुलिस ने लोगों से धरना प्रदर्शन खत्म करने का अनुरोध किया, जिसके बाद शाम सात बजे धरना स्थल से चले गए। एहतियात के तौर पर मौके पर भारी संख्या में पुलिस व सुरक्षाबलों के जवानों को तैनात किया गया है।

नई दिल्ली। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) व एनआरसी के विरोध में एक महीने से शाहीन बाग में लोग धरने पर बैठे हैं। वहीं रविवार बड़ी सख्या में जुटे लोग सड़क खाली कराने के लिए जा रहे थे। तभी कुछ दूर पहले ही पुलिस ने उन्हें रोक लिया। लोगों ने कहा कि जल्द से जल्द सड़क खुलवाई जाए। वहीं प्रदर्शनकारियों के सामने प्रदर्शन होने से वहां हल्का तनाव हो गया है। हालांकि पुलिस बलों की संख्या बढ़ाई गई है। कई बसों में भरकर लोगों को पुलिस धरना स्थल से दूर ले जा रही है। वहीं, शनिवार को भी शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों के खिलाफ लोग धरने पर बैठे थे। वह प्रदर्शनकारियों को हटाने की मांग कर रहे थे। यहां एक हफ्ते से यह धरना चल रहा है। हालांकि शाहीन बाग धरने के विरोध में धरने पर बैठे लोगों को पुलिस बार-बार हटा दे रही है। वहीं, शनिवार को झारंखड से आए संतन सिंह 30-40 लोगों के साथ धरने पर बैठे थे। धरना स्थल की बैरिकेडिंग के पास जसोला रेडलाइट पर धरना देने वालों में स्थानीय लोग भी शामिल थे। यहां गोली चलने की खबर फैलते ही लोगों की संख्या बढ़ गई। धरने में करीब 100 से ज्यादा लोग जुट गए तो पुलिस के भी हाथपांव फूल गए। आनन-फानन में पहुंची पुलिस ने लोगों से धरना प्रदर्शन खत्म करने का अनुरोध किया, जिसके बाद शाम सात बजे धरना स्थल से चले गए। एहतियात के तौर पर मौके पर भारी संख्या में पुलिस व सुरक्षाबलों के जवानों को तैनात किया गया है।