जानिए कैसे एक युवक ने बिना हथियार के पहाड़ी शेर को मार गिराया

puma
जानिए कैसे एक युवक ने बिना हथियार के पहाड़ी शेर को मार गिराया

नई दिल्ली: अमेरिका के डेनवर के करीब हॉर्सटूथ पहाड़ी के पास एक युवक ने कारनामे ने सबको हैरत में डाल दिया। बताया जा रहा है कि युवक ने एक पहाड़ी शेर(प्यूमा) से न केवल डटकर मुक़ाबला किया बल्कि उसे जान से मार दिया। इस घटना में युवक गंभीर रूप से जख्मी हो गया। पार्क एंड वाइल्ड लाइफ विभाग की प्रवक्ता रेबेका फरेल ने युवक की पहचान उजागर करने से इनकार कर दिया है। वहीं रिपोर्ट के अनुसार पुष्टि हुई है कि युवक पर हमला करने वाले शेर की मौत दम घुटने की वजह से हुई है।

A Man Killed Puma Without Any Weapons :

वन्य जीव विभाग अधिकारियों ने बताया कि वह डेनवर से करीब 110 किलोमीटर दूर एक ओपन माउंटेन पार्क में जॉगिंग कर रहा था। इस दौरान
जब उसने पलटकर देखा तो वहां एक पहाड़ी शेर मौजूद था। युवक कुछ समझ पाता उससे पहले पूमा ने उस पर हमला कर दिया। पहाड़ी शेर ने युवक के चेहरे और हाथ को जख्मी कर दिया। उसने किसी तरह खुद को शेर के हमले से बचाया और फिर उसका गला दबा दिया। उसने धर्य रखते हुए शेर को तब छोड़ा जब उसकी सांसें बंद हो गईं। शेर की उम्र एक साल से कम बताई जा रही है।

वाइल्ड लाइफ की प्रवक्ता रेबेका फेरेल ने फोन पर बताया कि युवक ने बिना किसी औजार के प्यूमा को काबू में किया। विशेषज्ञों का कहना है कि शेर हमला करे तो भागने की बजाय जो चीज आपके पास है, उससे ही मुकाबला करें। अपने थैले और चाबियों के गुच्छे को भी हथियार बनाया जा सकता है। वहीं युवक ने बड़ी सावधानी से इस मंत्र का इस्तेमाल करते हुए शेर को ढेर कर दिया।

बता दें कि इस इलाके में जंगली जानवरों के हमलों की अधिक ख़बरे नहीं आई है। इन 100 सालों में जंगली जानवरों के हमले में 20 से भी कम लोगों की मौत हुई है। 1990 से अब तक इलाके में प्यूमा के हमले के सिर्फ 16 मामले दर्ज किए गए हैं।

नई दिल्ली: अमेरिका के डेनवर के करीब हॉर्सटूथ पहाड़ी के पास एक युवक ने कारनामे ने सबको हैरत में डाल दिया। बताया जा रहा है कि युवक ने एक पहाड़ी शेर(प्यूमा) से न केवल डटकर मुक़ाबला किया बल्कि उसे जान से मार दिया। इस घटना में युवक गंभीर रूप से जख्मी हो गया। पार्क एंड वाइल्ड लाइफ विभाग की प्रवक्ता रेबेका फरेल ने युवक की पहचान उजागर करने से इनकार कर दिया है। वहीं रिपोर्ट के अनुसार पुष्टि हुई है कि युवक पर हमला करने वाले शेर की मौत दम घुटने की वजह से हुई है।वन्य जीव विभाग अधिकारियों ने बताया कि वह डेनवर से करीब 110 किलोमीटर दूर एक ओपन माउंटेन पार्क में जॉगिंग कर रहा था। इस दौरान जब उसने पलटकर देखा तो वहां एक पहाड़ी शेर मौजूद था। युवक कुछ समझ पाता उससे पहले पूमा ने उस पर हमला कर दिया। पहाड़ी शेर ने युवक के चेहरे और हाथ को जख्मी कर दिया। उसने किसी तरह खुद को शेर के हमले से बचाया और फिर उसका गला दबा दिया। उसने धर्य रखते हुए शेर को तब छोड़ा जब उसकी सांसें बंद हो गईं। शेर की उम्र एक साल से कम बताई जा रही है।वाइल्ड लाइफ की प्रवक्ता रेबेका फेरेल ने फोन पर बताया कि युवक ने बिना किसी औजार के प्यूमा को काबू में किया। विशेषज्ञों का कहना है कि शेर हमला करे तो भागने की बजाय जो चीज आपके पास है, उससे ही मुकाबला करें। अपने थैले और चाबियों के गुच्छे को भी हथियार बनाया जा सकता है। वहीं युवक ने बड़ी सावधानी से इस मंत्र का इस्तेमाल करते हुए शेर को ढेर कर दिया।बता दें कि इस इलाके में जंगली जानवरों के हमलों की अधिक ख़बरे नहीं आई है। इन 100 सालों में जंगली जानवरों के हमले में 20 से भी कम लोगों की मौत हुई है। 1990 से अब तक इलाके में प्यूमा के हमले के सिर्फ 16 मामले दर्ज किए गए हैं।