1. हिन्दी समाचार
  2. नेपाल कस्टम संघ के खिलाफ सोनौली में कलमबंद हड़ताल

नेपाल कस्टम संघ के खिलाफ सोनौली में कलमबंद हड़ताल

A Strike Strike In Sonuli Against Nepal Customs Union

By विजय चौरसिया 
Updated Date

सोनौली । नेपाल कस्टम में केवल नेपालियों की एंट्री के फरमान के बाद भारतीय क्लीयरिंग एजेंट और ट्रांसपोर्टरों ने शुक्रवार से कलमबंद हड़ताल का ऐलान किया है। इससे सोनौली सीमा से शुक्रवार को भारतीय मालवाहक ट्रकों के नेपाल में प्रवेश पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं।

पढ़ें :- देश में गांवों से ज्यादा शहरी इलाकों में कोरोना संक्रमण अधिक: सर्वे

सोनौली क्लीयरिंग एजेंट और ट्रांसपोर्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष आरके गुप्ता ने कहा कि दो दिन पहले सोनौली क्लीयरिंग एजेंट व ट्रांसपोर्टरों ने तीन सूत्रीय मांग पत्र को लेकर हड़ताल की थी। मांग यह थी कि जिस तरह वर्षों से वह नेपाल कस्टम में कार्य करते आ रहे हैं उन्हें नेपाल कस्टम में आने की अनुमति दी जाए।

नेपाल में उन्हें सुरक्षा प्रदान की जाए और नेपाल कस्टम ने जो पुराना परिचय पत्र दिया है वही लागू रहे। नेपाल प्रशासन ने तीनों मांग को मान लिया था। इसके बाद हड़ताल वापस हो गई थी। गुरुवार को नेपाल कस्टम संघ की तरफ से नया फरमान आया कि जिसके पास नेपाली नागरिकता होगी केवल उसी को नेपाल कस्टम में एंट्री मिलेगी। नया कार्ड फिर से बनाया जाएगा। इसके बाद गुरुवार को सोनौली में भारतीय क्लीयरिंग एजेंट व ट्रांसपोर्टर की बैठक हुई। विरोध जताते हुए कहा गया कि यह हड़ताल तब तक जारी रहेगा जब तक कोई लिखित या ठोस आश्वासन नहीं मिल जाता।

आरके गुप्ता, अध्यक्ष-क्लीयरिंग एजेंट व ट्रांसपोर्टर एसोसिएशन ने बताया कि नेपाल कस्टम संघ सोची समझी साजिश के तहत हजारों भारतीयों को बेरोजगार करना चाह रहा है। वीरगंज और रक्सौल में गुरुवार से हड़ताल शुरू हो गई है। सोनौली में सभी एजेंट शुक्रवार से कलमबंद हड़ताल पर चले जाएंगे।

पढ़ें :- दिवाली, छठ पर घर पहुंचना होगा मुश्किल, 25 अक्टूबर से 10 दिसंबर तक यूपी-बिहार की ट्रेनों में कोई जगह नहीं

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...