पाकिस्तानी,बांग्लादेशी व रोहिंग्या समेत कुल 1043 विदेशी नागरिक नेपाल में लापता

nepal
पाकिस्तानी,बांग्लादेशी व रोहिंग्या समेत कुल 1043 विदेशी नागरिक नेपाल में लापता

महराजगज। पर्यटक व औद्योगिक वीजा के आधार पर नेपाल में आए हजारों विदेशी नागरिक रहस्यमय परिस्थितियों में लापता है। लापता लोगों में रोहिंग्या शरणार्थी भी हैं। यह खुलासा नेपाली गृहमंत्रालय द्वारा हाल ही में जारी किए गए एक रिपोर्ट में हुआ है। यह रिपोर्ट नेपाल के सभी जिला कार्यालयों को जारी कर विदेशियों के खोजबीन के निर्देश दिए गए हैं। नेपाल सरकार की आशंका है लापता नागरिक अपनी पहचान छुपा कर रह रहे हैं।

A Total Of 1043 Foreign Nationals Including Pakistanis Bangladeshi And Rohingya Are Missing In Nepal :

गृह मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक 1043 विदेशी नागरिक ऐसे हैं जिनके नेपाल में रहने की वीजा मियाद समाप्त हो गई है। जिसमें 722 विदेशी नागरिक व 321 रोहिंग्या शरणार्थी हैं। विदेशी नागरिकों में बांग्लादेश, म्यांमार, पाकिस्तान, श्रीलंका, अफगानिस्तान, ईरान, इराक व कांगो के लोग शामिल हैं।

जो वीजा के आधार पर नेपाल में प्रवेश तो किए लेकिन वीजा की समयावधि बीत जाने के बाद भी नेपाल से बाहर नहीं गए हैं। नेपाली गृहमंत्रालय के प्रवक्ता रामकृष्ण सुवेदी ने पत्रकारों को बताया कि एक हजार से अधिक विदेशी नेपाल में अवैध रुप से रह रहे हैं। जिनकी पहचान व तलाश जारी है। संबधित देशों के दूतावासों को इस बात की जानकारी दे दी गई है।

महराजगज। पर्यटक व औद्योगिक वीजा के आधार पर नेपाल में आए हजारों विदेशी नागरिक रहस्यमय परिस्थितियों में लापता है। लापता लोगों में रोहिंग्या शरणार्थी भी हैं। यह खुलासा नेपाली गृहमंत्रालय द्वारा हाल ही में जारी किए गए एक रिपोर्ट में हुआ है। यह रिपोर्ट नेपाल के सभी जिला कार्यालयों को जारी कर विदेशियों के खोजबीन के निर्देश दिए गए हैं। नेपाल सरकार की आशंका है लापता नागरिक अपनी पहचान छुपा कर रह रहे हैं। गृह मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक 1043 विदेशी नागरिक ऐसे हैं जिनके नेपाल में रहने की वीजा मियाद समाप्त हो गई है। जिसमें 722 विदेशी नागरिक व 321 रोहिंग्या शरणार्थी हैं। विदेशी नागरिकों में बांग्लादेश, म्यांमार, पाकिस्तान, श्रीलंका, अफगानिस्तान, ईरान, इराक व कांगो के लोग शामिल हैं। जो वीजा के आधार पर नेपाल में प्रवेश तो किए लेकिन वीजा की समयावधि बीत जाने के बाद भी नेपाल से बाहर नहीं गए हैं। नेपाली गृहमंत्रालय के प्रवक्ता रामकृष्ण सुवेदी ने पत्रकारों को बताया कि एक हजार से अधिक विदेशी नेपाल में अवैध रुप से रह रहे हैं। जिनकी पहचान व तलाश जारी है। संबधित देशों के दूतावासों को इस बात की जानकारी दे दी गई है।