मेलबर्न इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर इस खतरनाक जीव के साथ पकड़ी गई महिला

16x9
मेलबर्न इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर इस खतरनाक जीव के साथ पकड़ी गई महिला

नई दिल्ली। आपने सोना तस्करी का मामला तो सुना ही होगा लेकिन छिपकली की तस्करी का वाकया आपको जरूर चौका देगा। जी हां, मामला ही कुछ ऐसा है, जापान में रहने वाली एक 27 वर्षीय महिला को मेलबर्न इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर गिरफ्तार कर लिया गया है। एयरपोर्ट पर मौजूद बॉर्डर फोर्स के ऑफिसर्स ने उस महिला को पकड़ा और पुलिस के हवाले कर दिया। महिला अपने बैग में दो नस्ल की 19 छिपकली लेकर जा रही थी। महिला के बैग में 17 Shingleback Lizard और दो Blue Tongue Lizards पायी गयी हैं।

A Woman Caught With This Dangerous Creature At Melbourne International Airport :

पुलिस ने बताया कि सभी छिपकलियों में काफी घास-फूस लगा था। जिन्हें देखकर ऐसा लग रहा था कि उन्हें जंगल से पकड़ा गया है। इससे साफ हो रहा था कि महिला छिपकली को स्मगलिंग के लिए लेकर जा रही थी। छिपकली को पकड़ने के बाद सबसे पहले सभी छिपकलियों को वेनटरी डॉक्टर के पास चेक करने के लिए ले जाया गया। सभी लीगल प्रोसेस को पूरा करने के बाद तय किया जाएगा कि इन्हें स्कूल में छोड़ा जाए या फिर इन्हें किसी नॉन प्रॉफिट संस्था को दे दिया जाए।

आपको बता दें कि ऑस्ट्रेलिया में हर साल कई लोग स्मगलिंग करने के दौरान गिरफ्तार किए जाते हैं। वहां की सरकार ने स्मगलिंग को लेकर सख्त नियम बना रखें हैं। खबर है कि महिला को इस काम के लिए या तो दस साल की सजा सुनाई जा सकती है या फिर उन्हें 210,000 डॉलर जुर्माना देना होंगा। अगर भारतीय करेंसी के हिसाब से देखा जाए तो यह पैसा 1 करोड़ 46 लाख रुपये होंगे।

इससे पहले सिडनी में एक शख्स को छिपकली लेकर जाते हुए पकड़ा गया था। इस छिपकली की प्रजाती बहुत कम मिलती हैं। इनका इस्तेमाल दवा बनाने के लिए किया जाता है।

नई दिल्ली। आपने सोना तस्करी का मामला तो सुना ही होगा लेकिन छिपकली की तस्करी का वाकया आपको जरूर चौका देगा। जी हां, मामला ही कुछ ऐसा है, जापान में रहने वाली एक 27 वर्षीय महिला को मेलबर्न इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर गिरफ्तार कर लिया गया है। एयरपोर्ट पर मौजूद बॉर्डर फोर्स के ऑफिसर्स ने उस महिला को पकड़ा और पुलिस के हवाले कर दिया। महिला अपने बैग में दो नस्ल की 19 छिपकली लेकर जा रही थी। महिला के बैग में 17 Shingleback Lizard और दो Blue Tongue Lizards पायी गयी हैं। पुलिस ने बताया कि सभी छिपकलियों में काफी घास-फूस लगा था। जिन्हें देखकर ऐसा लग रहा था कि उन्हें जंगल से पकड़ा गया है। इससे साफ हो रहा था कि महिला छिपकली को स्मगलिंग के लिए लेकर जा रही थी। छिपकली को पकड़ने के बाद सबसे पहले सभी छिपकलियों को वेनटरी डॉक्टर के पास चेक करने के लिए ले जाया गया। सभी लीगल प्रोसेस को पूरा करने के बाद तय किया जाएगा कि इन्हें स्कूल में छोड़ा जाए या फिर इन्हें किसी नॉन प्रॉफिट संस्था को दे दिया जाए। आपको बता दें कि ऑस्ट्रेलिया में हर साल कई लोग स्मगलिंग करने के दौरान गिरफ्तार किए जाते हैं। वहां की सरकार ने स्मगलिंग को लेकर सख्त नियम बना रखें हैं। खबर है कि महिला को इस काम के लिए या तो दस साल की सजा सुनाई जा सकती है या फिर उन्हें 210,000 डॉलर जुर्माना देना होंगा। अगर भारतीय करेंसी के हिसाब से देखा जाए तो यह पैसा 1 करोड़ 46 लाख रुपये होंगे। इससे पहले सिडनी में एक शख्स को छिपकली लेकर जाते हुए पकड़ा गया था। इस छिपकली की प्रजाती बहुत कम मिलती हैं। इनका इस्तेमाल दवा बनाने के लिए किया जाता है।