जब स्मार्टफोन में अचानक सेव हुआ UIDAI का टोल फ्री नंबर, जानें वायरल खबर का सच

uidai
जब स्मार्टफोन में अचानक सेव हुआ UIDAI का टोल फ्री नंबर, जानें वायरल खबर का सच

नई दिल्ली। स्मार्टफोन यूजर्स उस वक़्त अचानक चौंक गए, जब उनके मोबाइल में यूनिक आईडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (यूआईडीएआई) का टोल फ्री नंबर 18003001947 नजर आने लगा। सोशल मीडिया पर इस खबर को लोगों ने तेजी से शेयर करना शुरू कर दिया और ये मैसेज वायरल हो गया। यूआईडीएआई ने इस मामले का जवाब देते हुए ट्वीट किया कि वायरल किया जा रहा मोबाइल नंबर पुराना हो चुका है। अथॉरिटी ने लिखा कि यह टोल फ्री नंबर काफी पहले ही बंद हो चुका है और इसके स्थान पर अब केवल 1947 नंबर ही काम कर रहा है। वहीं सोशल मीडिया पर लोग अपनी प्राइवेसी को लेकर सवाल खड़े कर रहे हैं।

Aadhaar Helpline Number Automatically Gets Saved In Users Mobile :

आधार का नंबर अचानक सेव होने की दिक्कत सभी स्मार्टफोन्स के साथ नहीं है। माना जा रहा है कि जिन स्मार्टफोन्स में यह हेल्पलाइन नंबर नजर आ रहा है, उनमें से ज्यादातर ऐसे हैं, जिनकी फोन बुक गूगल से सिंक है। कुछ यूजर्स का कहना है कि जिस तरह मोबाइल सर्विस प्रोवाइडर्स से मिली नई सिम फोन में इंस्टॉल करते वक्त कुछ नंबर प्री-लोडेड होते हैं, आधार का हेल्पलाइन नंबर भी उसी तरह फोन बुक में सेव हुआ है।

इन वजहों से दिख रहा नंबर-

दरअसल, स्मार्टफोन हर उपयोगकर्ता को गूगल अकाउंड बनाने और उसे फोन से लिंक करने के लिए कहता है। यदि आपके पास आधार कार्ड नंबर है और इसमें आपका ईमेल पंजीकृत है तो निश्चित रूप से आपके गूगल अकाउंट में इसका हेल्पलाइन नंबर 18003001947 भी सुरक्षित हो गया है। यदि आपका गूगल अकाउंट आपके एंड्रॉयड स्मार्टफोन से लिंक है तो आपकी अड्रेस बुक में भी यह नंबर जरूर दिखेगा।

नई दिल्ली। स्मार्टफोन यूजर्स उस वक़्त अचानक चौंक गए, जब उनके मोबाइल में यूनिक आईडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (यूआईडीएआई) का टोल फ्री नंबर 18003001947 नजर आने लगा। सोशल मीडिया पर इस खबर को लोगों ने तेजी से शेयर करना शुरू कर दिया और ये मैसेज वायरल हो गया। यूआईडीएआई ने इस मामले का जवाब देते हुए ट्वीट किया कि वायरल किया जा रहा मोबाइल नंबर पुराना हो चुका है। अथॉरिटी ने लिखा कि यह टोल फ्री नंबर काफी पहले ही बंद हो चुका है और इसके स्थान पर अब केवल 1947 नंबर ही काम कर रहा है। वहीं सोशल मीडिया पर लोग अपनी प्राइवेसी को लेकर सवाल खड़े कर रहे हैं। आधार का नंबर अचानक सेव होने की दिक्कत सभी स्मार्टफोन्स के साथ नहीं है। माना जा रहा है कि जिन स्मार्टफोन्स में यह हेल्पलाइन नंबर नजर आ रहा है, उनमें से ज्यादातर ऐसे हैं, जिनकी फोन बुक गूगल से सिंक है। कुछ यूजर्स का कहना है कि जिस तरह मोबाइल सर्विस प्रोवाइडर्स से मिली नई सिम फोन में इंस्टॉल करते वक्त कुछ नंबर प्री-लोडेड होते हैं, आधार का हेल्पलाइन नंबर भी उसी तरह फोन बुक में सेव हुआ है।

इन वजहों से दिख रहा नंबर-

दरअसल, स्मार्टफोन हर उपयोगकर्ता को गूगल अकाउंड बनाने और उसे फोन से लिंक करने के लिए कहता है। यदि आपके पास आधार कार्ड नंबर है और इसमें आपका ईमेल पंजीकृत है तो निश्चित रूप से आपके गूगल अकाउंट में इसका हेल्पलाइन नंबर 18003001947 भी सुरक्षित हो गया है। यदि आपका गूगल अकाउंट आपके एंड्रॉयड स्मार्टफोन से लिंक है तो आपकी अड्रेस बुक में भी यह नंबर जरूर दिखेगा।