आयकर जमा करने के लिए 1 जुलाई से आवश्यक होगा आधार: CBDT

नई दिल्ली। सेन्ट्रल बोर्ड आॅफ डायरेक्ट टैक्सेज (CBDT) ने शनिवार को घोषणा की है कि 1 जुलाई से आयकर भरने के लिए पैनकार्ड के साथ आधार कार्ड की डिटेल देना आवश्यक होगा। इसके साथ ही सीबीडीटी की ओर से स्पष्ट किया गया है​ कि सरकारी सब्सिडी का लाभ लेने के लिए लाभार्थी को आधार नंबर देना आवश्यक होगा।




सीबीडीटी ने स्पष्ट किया है कि 9 जून को अदालत द्वारा जारी आदेश के तहत आंशिक रूप से राहत उन पैन कार्ड धारकों को ही मिलेगी जिनके पास 1 जुलाई 2017 से पहले का पैन कार्ड तो है लेकिन आधार नहीं है या फिर वे आधार कार्ड बनवाना नहीं चाहते। ऐसे आयकर दाताओं का पैनकार्ड निरस्त नहीं किया जाएगा। आयकर फाइलिंग के लिए ऐसे पैन धारकों के लिए विशेष प्रावधान किया जाएगा।
async src=”//pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js”>



इसके साथ ही सीबीडीटी ने कहा ​है कि जिन लोगों के पैन कार्ड और आधार कार्ड दोनों हैं या फिर वह 1जुलाई 2017 से पहले आधार कार्ड बनवाने में सक्षम है उनके लिए आवश्यक है कि वे आयकर विभाग के पास दोनों को लिंक करवाए। ऐसा न करवाने पर भविष्य में पैनकार्ड निरस्त हो सकता है। जिसके परिणाम स्वरूप व्यक्ति के बैंक खातों को निलंबित किया जा सकता है और उसके आर्थिक लेनदेनों पर रोक लगाई जा सकती है।
async src=”//pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js”>



सीबीडीटी का कहना है कि पैन निरस्त होने के बाद नए पैनकार्ड बनवाने के लिए 1 जुलाई 2017 से नए नियम लागू होंगे। जिसके मुताबिक नया पैन बनवाने के लिए आधार कार्ड का होना आवश्यक होगा।

सीबीडीटी और आयकर विभाग से यह नोटिफिकेशन 9 जुलाई 2017 को समाने आए सुप्रीम कोर्ट के उस आदेश के अध्ययन के बाद सामने आया है, जिसमें अदालत ने पैनकार्ड और आधार को लिंक करवाने को गैर जरूरी करार दिया था।

{ यह भी पढ़ें:- वैज्ञानिकों ने भी लगाई रामसेतु पर मुहर, बताया अद्भुत कारीगरी }

Loading...