आम आमदी पार्टी ने जारी किया ‘घोषणा पत्र’, किये यह बड़े वादे

kejriwal
आम आदमी पार्टी ने जारी किया घोषणा पत्र, इन वादों से दिल्ली की सीटों पर होना चाहते हैं काबिज

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के तीन चरणों के बाद आम आदमी पार्टी ने अपना घोषणा पत्र जारी किया है। इस घोषणा पत्र के जरिए वह दिल्ली की सातों लोकसभा सीटों पर काबिज होना चाहते हैं। घोषणा पत्र जारी करते हुए दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को छोड़कर वह किसी को भी समर्थन दे सकते हैं। घोषणा पत्र में शिक्षा, स्वास्थ्य, महिला सुरक्षा, प्रदूषण, सीलिंग, परिवहन आदि से संबंधित कई वादे किए हैं।

Aam Aadmi Party Has Released The Manifesto :

केजरीवाल ने कहा कि पूर्ण राज्य बनने के बाद आप सरकार दिल्ली पुलिस में बदलाव करेगी और रिक्त भर्तियों को भरेगी। जिससे पुलिसवालों को आराम के लिए पूरा वक्त मिलेगा और वे अच्छे से और ईमानदारी से ड्यूटी कर सकेंगे। इसके साथ ही घोषणा पत्र में केजरीवाल ने दावा किया कि कॉलेजों में 85 प्रतिशत सीट दिल्ली के बच्चों के लिए रिजर्व करेंगे। इसके साथ ही दिल्ली के वोटरों को 85 प्रतिशत नौकरियों में रिजर्वेशन देंगे।

पूर्ण राज्य बनने पर ठेके के कर्मचारियों (गेस्ट टीचर्स भी) को एक हफ्ते के अंदर पक्का करेंगे। इसके साथ ही कई अन्य वादे किये हैं। वहीं इस दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल ने बीजेपी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने बीजेपी के घोषणा पत्र भी सवाल उठाये। उन्होंने कहा कि बीजेपी का घोषणापत्र सिर्फ ‘एक लाइन’ का है कि तीन धर्मों को छोड़कर सबको देश से निकाल दिया जाए। यहां केजरीवाल ने अमित शाह के एक ट्वीट का जिक्र किया जिसपर काफी विवाद हुआ था।

केजरीवाल ने कहा कि 2019 में मोदी सरकार बनने पर बीजेपी मुसलमानों, जैन, पारसियों समेत अन्य सभी को घुसपैठिया बताकर निकालना चाहती है। बीजेपी पर हमला करते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा कि 2019 के चुनाव में किसी को भी पूर्ण बहुमत नहीं मिलेगा। ऐसे में हम मोदी शाह को छोड़कर जिसकी भी सरकार बनेगी उसका समर्थन करने को तैयार हैं। केजरीवाल ने यह भी कहा कि मोदी-शाह की जोड़ी को रोकना यही उनके घोषणापत्र का प्रमुख बिंदू भी है।

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के तीन चरणों के बाद आम आदमी पार्टी ने अपना घोषणा पत्र जारी किया है। इस घोषणा पत्र के जरिए वह दिल्ली की सातों लोकसभा सीटों पर काबिज होना चाहते हैं। घोषणा पत्र जारी करते हुए दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को छोड़कर वह किसी को भी समर्थन दे सकते हैं। घोषणा पत्र में शिक्षा, स्वास्थ्य, महिला सुरक्षा, प्रदूषण, सीलिंग, परिवहन आदि से संबंधित कई वादे किए हैं। केजरीवाल ने कहा कि पूर्ण राज्य बनने के बाद आप सरकार दिल्ली पुलिस में बदलाव करेगी और रिक्त भर्तियों को भरेगी। जिससे पुलिसवालों को आराम के लिए पूरा वक्त मिलेगा और वे अच्छे से और ईमानदारी से ड्यूटी कर सकेंगे। इसके साथ ही घोषणा पत्र में केजरीवाल ने दावा किया कि कॉलेजों में 85 प्रतिशत सीट दिल्ली के बच्चों के लिए रिजर्व करेंगे। इसके साथ ही दिल्ली के वोटरों को 85 प्रतिशत नौकरियों में रिजर्वेशन देंगे। पूर्ण राज्य बनने पर ठेके के कर्मचारियों (गेस्ट टीचर्स भी) को एक हफ्ते के अंदर पक्का करेंगे। इसके साथ ही कई अन्य वादे किये हैं। वहीं इस दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल ने बीजेपी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने बीजेपी के घोषणा पत्र भी सवाल उठाये। उन्होंने कहा कि बीजेपी का घोषणापत्र सिर्फ 'एक लाइन' का है कि तीन धर्मों को छोड़कर सबको देश से निकाल दिया जाए। यहां केजरीवाल ने अमित शाह के एक ट्वीट का जिक्र किया जिसपर काफी विवाद हुआ था। केजरीवाल ने कहा कि 2019 में मोदी सरकार बनने पर बीजेपी मुसलमानों, जैन, पारसियों समेत अन्य सभी को घुसपैठिया बताकर निकालना चाहती है। बीजेपी पर हमला करते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा कि 2019 के चुनाव में किसी को भी पूर्ण बहुमत नहीं मिलेगा। ऐसे में हम मोदी शाह को छोड़कर जिसकी भी सरकार बनेगी उसका समर्थन करने को तैयार हैं। केजरीवाल ने यह भी कहा कि मोदी-शाह की जोड़ी को रोकना यही उनके घोषणापत्र का प्रमुख बिंदू भी है।