1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. किसानों की भूख हड़ताल के समर्थन में ‘आप’ का अनशन

किसानों की भूख हड़ताल के समर्थन में ‘आप’ का अनशन

By शिव मौर्या 
Updated Date

लखनऊ। नए कृषि कानूनों को लेकर ​आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने मोदी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि देशभर में 18 दिनों से किसान कृषि कानून बिल को वापस लेने के लिए आंदोलन कर रहे है पर सरकार अपने तानाशाह रवैये पर कायम है। उन्होंने घोषणा की पार्टी 14 दिसंबर को किसानों की भूख हड़ताल का समर्थन करते हुए प्रदेश के हर एक ज़िले में अपने कार्यालय पर कार्यकर्ता अन्नदाता के लिए अनशन करेंगे। उन्होंने कहा केंद्र सरकार ने इस बिल को लागू कर आपदा में अवसर तलाशने का काम किया गया है।

पढ़ें :- तीसरी लहर का कहर: 40 से अधिक देशों में फैला Omicron, यूरोप के कई देशों में आई संक्रमितों की बाढ़

जब पूरा देश कोरोना महामारी से जूझ रहा था तब मोदी जी ने 5 जून को चोरी छुपे सदन में चर्चा किए बगैर, अध्यादेश के जरिए इस बिल को लागू कर दिया। यह बिल किसी भी तरह से किसानों के हित में नहीं बनाया गया है, यह बिल केवल अडानी और अंबानी को फायदा पहुुंचाने के लिए बनाया गया है।

संजय सिंह ने आरोप लगाया कि अडानी ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को अपने 5 कम्पनियों के लिए 100 एकड़ जमीन में भूमि परिवर्तन सम्बंधित आवेदन कई साल पहले दिया था। जमीन का इस्तेमाल एग्रीकल्चर, भंडारण व कोल्ड स्टोरेज के लिए किया जाएगा।

आरोप है कि हरियाणा सरकार ने अडानी को 7 मई 2020 को इसकी इजाजत दी है। आरोप है कि इससे साफ है के यह बिल देश के किसानों के लिए नहीं बल्कि अडानी के लिए बनाया गया है। उन्होंने कहा आज देश का किसान हर उस नागरिक की ओर उम्मीद भरी नजरों से देख रहा है कि आप किसानों के इस आंदोलन में किस प्रकार हिस्सा ले रहे हैं। इसलिए आम आदमी पार्टी ने किसानों के इस आंदोलन में उनका साथ देने का फैसला लिया है।

 

पढ़ें :- PM मोदी और रुस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच मुलाकात, कहा-दुनिया बदल गई पर हमारी दोस्ती नहीं

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...