1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. आप सांसद संजय सिंह ने राम मंदिर ट्रस्ट के महासचिव सहित 9 के खिलाफ FIR की दी तहरीर

आप सांसद संजय सिंह ने राम मंदिर ट्रस्ट के महासचिव सहित 9 के खिलाफ FIR की दी तहरीर

आम आदमी पार्टी (आप) के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने अयोध्या के कोतवाली नगर में श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय, सदस्य अनिल मिश्र, महापौर ऋषिकेश उपाध्याय समेत 9 लोगों के खिलाफ भ्रष्टाचार का मुकदमा दर्ज कराने के लिए तहरीर दी है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

अयोध्या। आम आदमी पार्टी (आप) के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने अयोध्या के कोतवाली नगर में श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय, सदस्य अनिल मिश्र, महापौर ऋषिकेश उपाध्याय समेत 9 लोगों के खिलाफ भ्रष्टाचार का मुकदमा दर्ज कराने के लिए तहरीर दी है। मंगलवार को अयोध्या की कोतवाली नगर पहुंचे आम आदमी पार्टी के लीगल सेल के यूपी अध्यक्ष अधिवक्ता जय कृष्ण शुक्ल ने कोतवाली नगर के एसएचओ सुरेश पांडे को तहरीर सौंपी है।

पढ़ें :- UP Assembly Elections 2022: यूपी की सभी 403 सीटों पर चुनाव लड़ेगी आम आदमी पार्टी, सपा से गठबंधन की अटकलों पर लगा विराम
Jai Ho India App Panchang

संजय सिंह ने अयोध्या नगर निगम के महापौर भाजपा नेता ऋषिकेश उपाध्याय, श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय, सदस्य अनिल मिश्र, हरीश पाठक व उनकी पत्नी कुसुम पाठक, प्रॉपर्टी डीलर सुल्तान अंसारी, रवि मोहन तिवारी, दीप नारायण व सदर के सब रजिस्ट्रार एसबी सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के लिए प्रार्थना पत्र दिया है। प्रार्थना पत्र में संजय सिंह ने आरोप लगाया है कि राम मंदिर निर्माण के लिए करोड़ों राम भक्तों ने चंदा दिया है। उस चंदे को धोखाधड़ी व बेईमानी पूर्वक जमीन के सौदे में भ्रष्टाचार किया है।

अयोध्या नगर निगम के महापौर ऋषिकेश उपाध्याय पर आरोप है कि उन्होंने धोखाधड़ी और बेईमानी पूर्वक जमीन के सौदे में शामिल रहे और बैनामे में में गवाह भी रहे। उन्होंने धन कमाने के लिए अपने पदीय शक्ति का दुरुपयोग किया और अपने रिश्तेदार आरोपी दीप नारायण के माध्यम से सर्किल रेट से कम दाम में जमीन खरीदी और ट्रस्ट को महंगे दाम में बेच दी। जिसमें करोड़ों का हेरफेर किया गया। इसी तरह से ट्रस्ट के सदस्य अनिल मिश्र पर आरोप है कि वे पूरे घटनाक्रम के एक प्रमुख कड़ी है। इस बात के भी गवाह हैं कि ऋषिकेश उपाध्याय के साथ मिलकर भ्रष्टाचार किया।

यही नहीं जिस तरह से बैंक के माध्यम से संबंधित पक्षकारों को आरटीजीएस के माध्यम से रुपए ट्रांसफर किए गए, उन पक्षकारों के पैन नंबर का कोई उल्लेख नहीं किया गया। ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय पर आरोप है कि आरोपी ऋषिकेश उपाध्याय व कई अन्य व्यक्तियों के सहयोग से एक सुनियोजित साजिश के तहत धोखाधड़ी से डमी क्रेता विक्रेता के माध्यम से अयोध्या में प्रस्तावित भव्य राम मंदिर के निर्माण के लिए कम मूल्य की जमीन अधिक मूल्य में खरीदी गई, जिससे भक्तों द्वारा दान की गई बड़ी रकम को हड़पा गया। यही नहीं राम भक्तों के भावनाओं के साथ खिलवाड़ भी किया गया।

प्रार्थना पत्र में मांग की गई है कि इनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच की जाए। गिरफ्तार किया जाए और उनके बैंक खातों और संपत्तियों को तत्काल जप्त किया जाए। आम आदमी पार्टी के लीगल सेल के यूपी अध्यक्ष जय कृष्ण शुक्ल ने बताया कि अगर आरोपियों खिलाफ मुकदमा दर्ज नहीं होता है तो पार्टी न्यायालय की शरण लेगी। बता दें कि पूर्व में ही संजय सिंह ने ट्रस्ट के महासचिव समेत अन्य लोगों पर आरोप लगाया था कि इन लोगों ने सस्ती जमीन को करोड़ों के भाव खरीदा उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।

पढ़ें :- संजय सिंह का बड़ा आरोप : जिलाधिकारी लखनऊ ने बनाया भ्रष्टाचार का कीर्तिमान, 'भाजपा का नारा है घोटालेबाज़ हमारा'

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...