आरुषि मर्डर मिस्ट्री: इलाहाबाद HC ने तलवार दंपति को बरी किया

इलाहाबाद। साल 2008 में देश की सबसे बड़ी मर्डर मिस्ट्री आरुषि मर्डर केस मामले मे इलाहाबाद हाईकोर्ट ने तलवार दंपट्टी को बरी कर दिया है। आरुषी तलवार और हेमराज हत्याकांड में उम्रकैद की सजा काट रहे डॉ0 राजेश तलवार और डॉ0 नूपुर तलवार की याचिका पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने आज अपना फैसला सुनाया है। इस मामले की सीबीआई जांच के बाद सीबीआई विशेष अदालत द्वारा आरुषी के माता पिता को बेटी और घरेलू नौकर की हत्या का दोषी करार देते हुए उम्र कैद की सजा सुनाई थी। सीबीआई की विशेष अदालत के फैसले के बाद से अपनी बेटी की हत्या के दोषी के रूप में सजा भुगत रहे तलवार दंपति ने इलाहाबाद हाईकोर्ट के समक्ष अपनी सजा को चुनौती थी।

आपको बता दें कि पेशे से डे​न​टिस्ट डा0 राजेश तलवार और डा0 नूपुर तलवार की इकलौती संतान आरुषी तलवार का शव 16 मई 2008 को गाजियाबाद के जलवायु बिहार स्थित आवास पर संदिग्ध अवस्था में मिला था। घटना की सूचना मिलने के बाद पहुंची पुलिस ने आरुषी की हत्या के पीछे नौकर हेमराज का हाथ होने का संदेह जाहिर किया था। पुलिस की तहकीकात शुरू होने के चंद घंटे बाद ही हेमराज का शव छत पर मिलने के बाद इस मामले में नया मोड़ आ गया था।

{ यह भी पढ़ें:- आरुषि केस: चार साल बाद मिली तलवार दंपति को आजादी, जेल से हुए रिहा }

इस पूरे मामले में पुलिस की ढ़िलाई और लापरवाई को लेकर उठे सवालों के बीच इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपी गई थी। एक लंबी छानबीन के बाद सीबीआई ने इस हत्याकांड में आरुषी के मां बाप को ही दोषी मानते हुए अपनी क्लोजर रिपोर्ट अदालत के सामने पेश कर दी थी।

{ यह भी पढ़ें:- रिहाई के बावजूद भी तलवार दंपति को महीने में दो बारा जाना पड़ेगा जेल, जानें वजह... }