आयकर के रडार पर हैं और भी आईएएस अफसर, जल्द ही उनके यहां भी पड़ेंगे छापे

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के तमाम अफसरों पर आय से अधिक सम्पत्ति अर्जित करने के आरोप लगते रहे हैं। कई अफसरों पर भारी कालाधन होने की आशंका के चलते आयकर विभाग ने रडार पर ले रखा है। पहली बार आईएएस और वरिष्ठ पीसीएस अधिकारियों के यहां छापेमारी से ब्यूरोक्रेसी में हड़कंप मचा है। यूपी के तमाम अफसरों पर आय से अधिक सम्पत्ति अर्जित करने के आरोप लगते रहे हैं। कई अफसरों पर भारी कालाधन होने की आशंका के चलते आयकर विभाग ने रडार पर ले रखा है। पहली बार आईएएस और वरिष्ठ पीसीएस अधिकारियों के यहां आयकर विभाग ने छापेमारी की।




वहीं यदि इनकम टैक्स के सूत्रों की माने तो उनका कहना है कि यह तीन आईएएस अफसर नहीं, ऐसे करीब 80 अफसर आईएएस, आईपीएस और प्रदेशीय संवर्ग के अफसरों के यहां आयकर विभाग के छापे पड़ सकते हैं। यूपी के इन 80 अफसरों के पास 10 करोड़ से ऊपर काला धन घर में और बैंक में इकट्ठा होने की सूचनाएं आयकर विभाग के पास हैं। आयकर विभाग के सूत्रों के अनुसार विभाग ने ऐसे प्रदेश स्तरीय अफसरों और अखिल भारतीय सेवा के दागी अफसरों को सूचीबद्ध कर लिया है। इन अफसरों के बैंक खाते खंगाले गए हैं और इनके बैंक डिटेल भी इकट्ठा कर लिए गए हैं। बैंक से यह भी जानकारी ले ली गई है कि 8 नवंबर को नोटबंदी के बाद इनके खाते में अघोषित धन कितना डाला गया है। यही नहीं केन्द्र व प्रदेश सरकार की खुफिया एजेंसियों से भी इनकी घोषित संपति का ब्योरा जुटा लिया गया है।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में अफसरों के खिलाफ बड़ी आयकर कार्रवाई में उत्तर प्रदेश के दो वरिष्ठ आईएएस अधिकारी, पांच पीसीएस अफसर सहित कई अधिकारियों के 50 ठिकानों पर छापेमारी की गई। आयकर विभाग ने बुधवार को मेरठ, बागपत, दिल्ली, लखनऊ, नोएडा व गाजियाबाद में छापेमारी की। गाजियाबाद के पूर्व डीएम विमल शर्मा के घर पर भी छापेमारी की गई। शर्मा मौजूदा समय में नोएडा अथॉरिटी में एडिशनल सीईओ हैं। आईएएस अफसर व स्वास्थ्य निदेशक हृदय शंकर तिवारी के लखनऊ में गोमती नगर स्थित दो आवासों व देवा रोड स्थित एक फार्म हाउस में करोड़ों रुपए की संपत्ति का पता चला है। उनके दो लॉकर सामने आए हैं, जबकि घर से करीब 55 लाख रुपए की नगदी बरामद की गई।




विशेष सचिव कारागार सत्येंद्र सिंह के भी लखनऊ में गोमती नगर स्थित तीन आवासों की जांच में एक लॉकर व 20 लाख रुपए मिले हैं। वरिष्ठ आईएएस अधिकारी विमल कुमार शर्मा के भोगांव के छोटा बाजार स्थित आवास पर आयकर विभाग ने सुबह छापा मारा। कार्रवाई के लिए अधिकारी के घर को पुलिस ने चारों ओर से घेर लिया। फिरोजाबाद और गाजियाबाद जिलों में विमल डीएम रह चुके हैं। उनकी पत्नी भी मेरठ में एआरटीओ के पद पर तैनात हैं। दूसरी तरफ एक और आईएएस अधिकारी के यहां छापेमारी की खबरें हैं।

खबरों के अनुसार, आयकर विभाग ने आईएएस सत्येंद्र सिंह के लखनऊ स्थित घर पर दबिश दी। आयकर विभाग की टीम ने मेरठ जिले में आईएएस विमल शर्मा की पत्नी ममता शर्मा के घर पर भी छापेमारी की। इसके अलावा ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के कई पूर्व अफसरों के घरों पर भी छापेमारी की गई। ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के हृदय शंकर तिवारी के घर पर भी छापेमारी की कार्रवाई हुई है। बागपत में पूर्व जिलाधिकारी व वर्तमान में लखनऊ में निदेशक (प्रशासन) स्वास्थ्य विभाग हृदय शंकर तिवारी के करीबी रहे कर्मचारियों व अन्य लोगों के आवास पर आयकर विभाग ने छापेमारी की।

इनमें डीएम के स्टेनो राजेश शर्मा, कलक्ट्रेट के पूर्व नाजिर व वर्तमान में तहसील बागपत के प्रशासनिक अधिकारी माशा अल्लाह, खनन कार्य में लगे रहे दो व्यक्ति तथा एक पूर्व आईएएस के आवास शामिल हैं। आयकर विभाग की टीम सुबह आठ बजे ही पहुंच गई थी लेकिन किसी को कानोकान खबर नहीं हुई। टीम सघन पूछताछ कर रही है छापे की कार्रवाई देर रात तक जारी थी। प्रत्येक जगह अलग-अलग टीम थी।

Loading...