भारतीय मूल के अभिजीत बनर्जी को अर्थशास्त्र में नोबेले पुरस्कार, JNU से की है पढ़ाई

abhijeet
भारतीय मूल के अभिजीत बनर्जी को अर्थशास्त्र में नोबेले, जेएनयू से की है पढ़ाई

नई दिल्ली। नई दिल्ली। जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी से पढ़ाई करने वाले भारतीय मूल के अभिजीत बनर्जी को अर्थशास्त्र में नोबेले पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। इसके साथ ही उनकी पत्नी एस्थर डुफलो और माइकल क्रेमर को भी सम्मानित किया गया है।

Abhijit Banerjee Gets Noble Prize For Economic Sciences :

तीनों अर्थशास्त्रियों को ‘वैश्विक गरीबी खत्म करने के प्रयोग’ के उनके शोध के लिए सम्मानित किया गया है। अभिजीत बनर्जी वर्ष 1981 में कोलकाता यूनिवर्सिटी से बीएससी किये थे, जबकि 1983 में जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी से एमए किया था। इसके बाद उन्होंने हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से 1988 में पीएचडी की थी।

इकनॉमिक साइंसेज कैटिगरी के तहत यह सम्मान पाने वाले अभिजीत बनर्जी भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक हैं। अभिजीत बनर्जी मैसाचुसेट्स इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी में इकनॉमिक्स के प्रफेसर हैं। वह अब्दुल लतीफ जमील पॉवर्टी ऐक्शन लैब के को-फाउंडर हैं।

नई दिल्ली। नई दिल्ली। जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी से पढ़ाई करने वाले भारतीय मूल के अभिजीत बनर्जी को अर्थशास्त्र में नोबेले पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। इसके साथ ही उनकी पत्नी एस्थर डुफलो और माइकल क्रेमर को भी सम्मानित किया गया है। तीनों अर्थशास्त्रियों को 'वैश्विक गरीबी खत्म करने के प्रयोग' के उनके शोध के लिए सम्मानित किया गया है। अभिजीत बनर्जी वर्ष 1981 में कोलकाता यूनिवर्सिटी से बीएससी किये थे, जबकि 1983 में जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी से एमए किया था। इसके बाद उन्होंने हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से 1988 में पीएचडी की थी। इकनॉमिक साइंसेज कैटिगरी के तहत यह सम्मान पाने वाले अभिजीत बनर्जी भारतीय मूल के अमेरिकी नागरिक हैं। अभिजीत बनर्जी मैसाचुसेट्स इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी में इकनॉमिक्स के प्रफेसर हैं। वह अब्दुल लतीफ जमील पॉवर्टी ऐक्शन लैब के को-फाउंडर हैं।