अभिनव सिंघल ने लगाई मुकदमा वापस करने की अर्जी, जेल से बाहर आएंगे पूर्व सांसद धनंजय सिंह

dhananjay_singh_1554452497_618x347

लखनऊ। जौनपुर के पचहटिया में सीवर ट्रीटमेंट प्लांट पर कार्य कर रही कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर अभिनव सिंघल के अपहरण, रंगदारी का मुकदमा लिखाने पर 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल गए पूर्व सांसद और बाहुबली नेता धनंजय सिंह अब बाहर आ जाएंगे। उनके विरुद्ध मुकदमा लिखाने वाले अभिनव सिंघल ने अपने अधिवक्ता क्रांति प्रकाश सिंह के माध्यम से सीजेएम कोर्ट में मुकदमा वापस करने की अर्जी लगाई है।

Abhinav Singhal Applied To Return The Case Former Mp Dhananjay Singh Will Come Out Of Jail :

उक्त मामले में 20 मई को सुनवाई होनी है। वही सीजेएम कोर्ट में अर्जी लगाकर अभिनव सिंघल ने कहा है कि उनका धनंजय सिंह से कोई विवाद नहीं है। वह मानसिक दबाव में थे और इसलिए उन्होंने मुकदमा लिखवा दिया था। धनंजय सिंह की तरफ से कोई दबाव या रुपए की मांग नहीं की गई है। अतएव उनके विरुद्ध मुकदमे को मैं वापस लेना चाहता हूं। वह नहीं चाहते कि मुकदमा आगे बढ़े। सिंघल के शपथ पत्र देने के बाद सीजेएम कोर्ट ने पूरे मामले की पत्रावली तलब की है।

बता दें कि बीते 10 मई की रात्रि को पूर्व सांसद एवं बाहुबली नेता धनंजय सिंह और उनके एक सहयोगी को अपहरण करने, रंगदारी मांगने के एफआईआर पर लाइन बाजार थाना की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। दूसरे दिन उनको कोर्ट में पेश किया गया, जहां कोर्ट ने दोनों को 14 दिन की न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया था। जबकि अधिवक्ता की मानें तो उनके प्रार्थना पत्र को सीजेएम ने स्वीकार्य नहीं किया है।

लखनऊ। जौनपुर के पचहटिया में सीवर ट्रीटमेंट प्लांट पर कार्य कर रही कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर अभिनव सिंघल के अपहरण, रंगदारी का मुकदमा लिखाने पर 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल गए पूर्व सांसद और बाहुबली नेता धनंजय सिंह अब बाहर आ जाएंगे। उनके विरुद्ध मुकदमा लिखाने वाले अभिनव सिंघल ने अपने अधिवक्ता क्रांति प्रकाश सिंह के माध्यम से सीजेएम कोर्ट में मुकदमा वापस करने की अर्जी लगाई है। उक्त मामले में 20 मई को सुनवाई होनी है। वही सीजेएम कोर्ट में अर्जी लगाकर अभिनव सिंघल ने कहा है कि उनका धनंजय सिंह से कोई विवाद नहीं है। वह मानसिक दबाव में थे और इसलिए उन्होंने मुकदमा लिखवा दिया था। धनंजय सिंह की तरफ से कोई दबाव या रुपए की मांग नहीं की गई है। अतएव उनके विरुद्ध मुकदमे को मैं वापस लेना चाहता हूं। वह नहीं चाहते कि मुकदमा आगे बढ़े। सिंघल के शपथ पत्र देने के बाद सीजेएम कोर्ट ने पूरे मामले की पत्रावली तलब की है। बता दें कि बीते 10 मई की रात्रि को पूर्व सांसद एवं बाहुबली नेता धनंजय सिंह और उनके एक सहयोगी को अपहरण करने, रंगदारी मांगने के एफआईआर पर लाइन बाजार थाना की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। दूसरे दिन उनको कोर्ट में पेश किया गया, जहां कोर्ट ने दोनों को 14 दिन की न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया था। जबकि अधिवक्ता की मानें तो उनके प्रार्थना पत्र को सीजेएम ने स्वीकार्य नहीं किया है।