अमेठी की सड़कों पर नजर आया केरल में RSS कार्यकर्ताओं पर हमले का गुस्सा

ABVP
अमेठी की सड़कों पर नजर आया केरल में RSS कार्यकर्ताओं पर हमले का गुस्सा

अमेठी। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) ने केरल में आरएसएस (RSS) कार्यकर्ताओं पर हो रहे जानलेवा हमलों और हत्याओं के विरोध में अमेठी जिला मुख्यालय पर आलोक होटल से जामो तिराहे तक शांति मार्च निकाला। कार्यकर्ताओं ने जिला प्रशासन के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजकर केरल सरकार को बर्खास्त करने की मांग की।

Abvp Hold Protest In Amethi Against Violence With Rss Workers In Kerala :

प्रान्त कार्यकारिणी सदस्य सुनील सिंह ने कहा कि केरल में लोकतंत्र की हत्या की जा रही है। वहां की सरकार खूनी हिंसा को संरक्षण दे रही है। कई वर्षों से वामपंथी कार्यकर्ता आरएसएस कार्यकर्ताओं पर हमले कर उनकी हत्या कर रहे हैं, लेकिन सरकार और पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही। डरे सहमे राष्ट्रवादी संगठनों से जुड़े लोग पलायन कर रहे हैं, लेकिन सरकार आतंकी विचारधारा को बचाने में लगी है।

वही जिला प्रमुख आलोक शर्मा ने कहा कि केरल की माकपा सरकार की शह पर भोले भाले लोगों की हत्या की जा रही है। अब तक वहां 300 से ज्यादा हत्याएं हो चुकी हैं। उन्होंने कहा कि पूरा देश ऐसी घटनाओं से स्तब्ध है। केरल में इस हिंसा की घटनाओं को न केवल तत्काल रोकने की जरूरत है बल्कि उन घटनाओं को अंजाम देने वाले अपराधी तत्वों के खिलाफ सख्त कारवाई की जानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि जिस मा‌र्क्सवाद ने विचार की भव्य संस्कृति व सभ्यता का सम्मान नहीं किया, जिस मा‌र्क्सवाद के विचार को दुनिया ने निकाल दिया, अब वह मा‌र्क्सवाद अंतरराष्ट्रीय ताकतों के साथ मिलकर देश को तोड़ने की साजिश रच रहा है। उनके इन नापाक मंसूबों को सफल नहीं होने दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि महामहिम राष्ट्रपति जी इस मामले में तुरंत हस्तक्षेप करें।

अमेठी से राम मिश्रा की रिपोर्ट

अमेठी। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) ने केरल में आरएसएस (RSS) कार्यकर्ताओं पर हो रहे जानलेवा हमलों और हत्याओं के विरोध में अमेठी जिला मुख्यालय पर आलोक होटल से जामो तिराहे तक शांति मार्च निकाला। कार्यकर्ताओं ने जिला प्रशासन के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजकर केरल सरकार को बर्खास्त करने की मांग की।प्रान्त कार्यकारिणी सदस्य सुनील सिंह ने कहा कि केरल में लोकतंत्र की हत्या की जा रही है। वहां की सरकार खूनी हिंसा को संरक्षण दे रही है। कई वर्षों से वामपंथी कार्यकर्ता आरएसएस कार्यकर्ताओं पर हमले कर उनकी हत्या कर रहे हैं, लेकिन सरकार और पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही। डरे सहमे राष्ट्रवादी संगठनों से जुड़े लोग पलायन कर रहे हैं, लेकिन सरकार आतंकी विचारधारा को बचाने में लगी है।वही जिला प्रमुख आलोक शर्मा ने कहा कि केरल की माकपा सरकार की शह पर भोले भाले लोगों की हत्या की जा रही है। अब तक वहां 300 से ज्यादा हत्याएं हो चुकी हैं। उन्होंने कहा कि पूरा देश ऐसी घटनाओं से स्तब्ध है। केरल में इस हिंसा की घटनाओं को न केवल तत्काल रोकने की जरूरत है बल्कि उन घटनाओं को अंजाम देने वाले अपराधी तत्वों के खिलाफ सख्त कारवाई की जानी चाहिए।उन्होंने कहा कि जिस मा‌र्क्सवाद ने विचार की भव्य संस्कृति व सभ्यता का सम्मान नहीं किया, जिस मा‌र्क्सवाद के विचार को दुनिया ने निकाल दिया, अब वह मा‌र्क्सवाद अंतरराष्ट्रीय ताकतों के साथ मिलकर देश को तोड़ने की साजिश रच रहा है। उनके इन नापाक मंसूबों को सफल नहीं होने दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि महामहिम राष्ट्रपति जी इस मामले में तुरंत हस्तक्षेप करें।अमेठी से राम मिश्रा की रिपोर्ट