पाकिस्तान के बड़े दलों ने कश्मीर को माना भारत का हिस्सा, मैनीफेस्टो से मुद्दे को किया बाहर

pak political party
पाकिस्तान के बड़े दलों ने कश्मीर को माना भारत हिस्सा, मैनीफेस्टो से मुद्दे को किया बाहर

Accorording Pak Political Party Kashmir Is Not A Big Issue

नई दिल्ली। पाकिस्तान में आगामी 25 जुलाई को होने वाले आम चुनावों से पहले देश के सभी प्रमुख दलों ने अपना घोषणा पत्र जारी किया है। इन घोषणापत्रों को अगर ध्यान दिया जाए तो इनमें कश्मीर मुद्दे को कोई जगह नही दी गई है। जिससे अंदाला लगाया जा रहा है कि पाकिस्तान के बड़े दलों ने कश्मीर को भारत का हिस्सा मान लिया है।

बता दें कि पाकिस्तान के बड़े दल- पाकिस्तान मुस्लिम लीग, पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) और पाकिस्तान पिपुल्स पार्टी (पीपीपी) के चुनावी घोषणापत्रो में कश्मीर का जिक्र बहुत ही कम हुआ है। कश्मीर को लेकर आक्रामक रुख रखने वाली पूर्व क्रिकेटर इमरान खान की पार्टी ने सोमावार को अपना 58 पन्नों का घोषणा पत्र जारी किया जिस0में कश्मीर का जिक्र सिर्फ दो बार आया है। घोषणा पत्र में चार विदेशी मुद्दों में कश्मीर तीसरे नंबर पर है।

वहीं पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पार्टी पीएमएल-एन के घोषणापत्र में चीन के साथ नजदीकी को प्राथमिकता देने के साथ पाकिस्तान के परमाणू हथियारों की सुरक्षा को प्राथमिकता दी गई है। वहीं विदेशी रिस्तों में सुधार करने के लिए दस सू​त्रीय एजेंडे में कश्मीर को नौंवा स्थान दिया गया है। हालाकि पत्र में कश्मीर समेत अन्य जगहों पर मुसलमानों पर हो रहे अत्याचार पर सहानु​भूति भी जताई है।

इसके अलावा पूर्व प्रधानमंत्री बेनज़ीर भुट्टो की पीपीपी के घोषणापत्र में भारत के साथ संबंध को मजबूत करने व बातचीत ज​हिए कश्मीर मुद्दे को सुलझाने की वकालत की है। पार्टी के 62 पन्नों के घोषणापत्र में कश्मीर मुद्दं को 59वें पेज पर रखा गया है।

 

नई दिल्ली। पाकिस्तान में आगामी 25 जुलाई को होने वाले आम चुनावों से पहले देश के सभी प्रमुख दलों ने अपना घोषणा पत्र जारी किया है। इन घोषणापत्रों को अगर ध्यान दिया जाए तो इनमें कश्मीर मुद्दे को कोई जगह नही दी गई है। जिससे अंदाला लगाया जा रहा है कि पाकिस्तान के बड़े दलों ने कश्मीर को भारत का हिस्सा मान लिया है। बता दें कि पाकिस्तान के बड़े दल- पाकिस्तान मुस्लिम लीग, पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) और पाकिस्तान पिपुल्स…