नेपाली युवती को कैद कर एक महीने तक किया यौन शोषण, दोस्तों से कराया रेप

लखनऊ। राजधानी के विभूतिखंड निवासी एक युवक ने नेपाली युवती को अपने प्रेम जाल में फंसाकर यौन शोषण किया और बाद में उसके दोस्तों ने युवती के साथ रेप किया। पीड़ित युवती दिल्ली में रहकर नौकरी कर रही थी। युवती ने इस बात की जानकारी अपनी सहेलियों को दी। सहेलियो ने मामले की जानकारी एडीजी महिला प्रकोष्ठ सुतापा सान्याल को दी, जिसके बाद विभूतिखंड पुलिस ने छापेमारी कर युवती को  मुक्त कराया और आरोपी को अरेस्ट किया।

मिली जानकारी के मुताबिक विभूतिखंड के विक्रम खंड 3 के मकान नंबर 267 में रहने वाले उत्कर्ष नामक युवक ने युवती को प्यार के मकड़जाल में फंसाया। उसने बताया कि उत्कर्ष के पिता सिचाई विभाग में अधिकारी है। उत्कर्ष युवती को लेकर काफी जगह घूमा। उसे महंगे होटलों में रखा। उसका शारीरिक शोषण किया। फिर वह उसे लेकर विभूतिखण्ड स्थित फ्लैट पर ले आया। जहां उसने अपने चार दोस्तों के साथ मिलकर एक कमरे में बंद कर दिया।

आरोप है कि उन चारों ने उसके साथ रेप किया। उसे बंधक बनाकर रखा गया। पीड़िता का कहना है कि उसका प्रेमी उसे फ्लैट में कैद रखता था। उसके मोबाइल कई युवतियों की नग्न वीडियों और तस्वीरे थी। वह सेक्स रैकेट चलवाता है और उसे भी इस धंधे में धकेलना चाह रहा था। उत्कर्ष ने उसकी नग्न वीडियों बनाई, विरोध करने पर उसे बेल्ट और लात घूंसों से पीटा।
 
मामले की जानकारी जब एडीजी महिला प्रकोष्ठ सुतापा सान्याल की पीआरओ सत्या सिह को मिली। उन्होंने विभूतिखण्ड पुलिस को कार्रवाई का आदेश दिया और पुलिस ने पीड़िता को मुक्त कराते हुए आरोपी उत्कर्ष को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक आरोपी शिक्षा विभाग में एकाउंटेंट है। 
 
एक माह से फ्लैट में कर रखा था कैद 
 

पीड़िता का कहना है जब उसके प्रेमी ने उसे फ्लैट में कैद कर दिया तो वह उसके मंसूबो को परख गयी। प्रेमी के मोबाईल में कई लड़कियों की अश्लील तस्वीरें थी। शायद वह सेक्स रैकेट चलवाता है और उसी धंधे में उसको भी धकेलना चाहता था। लेकिन वह कामयाब नहीं हो सका। पीड़िता ने बताया जब आरोपी उसका अश्लील वीडियो बनाना चाहता था। उसने विरोध किया तबसे उसे हर दिन लात घूसों और बेल्ट से पीटता था।
 
 

Loading...