1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. उत्तराखंड सरकार के आदेश पर बखेड़ा, ‘लव जिहाद’ को बढ़ावा देने का लगा आरोप… जानिए पूरा मामला

उत्तराखंड सरकार के आदेश पर बखेड़ा, ‘लव जिहाद’ को बढ़ावा देने का लगा आरोप… जानिए पूरा मामला

Accused Of Promoting Uttarakhand Governments Love Jihad Know The Whole Matter

By आराधना शर्मा 
Updated Date

देहरादून: जहां एक तरफ लव जिहाद इन दिनो एक बड़ा मुद्दा बनता जा राहा है वहीं दूसरी तरफ उत्तराखंड सरकार के एक आदेश पर बखेड़ा खड़ा हो गया है। दरअसल, टिहरी गढ़वाल के जिला समाज कल्याण पदाधिकारी द्वारा साइन किए गए एक आदेश में कहा गया है कि राष्ट्रीय एकता की भावना को जीवित रखने और सामाजिक एकता को बनाए रखने के लिए अंतर्जातीय तथा अंतर्धार्मिक विवाह काफी सहायक सिद्ध हो सकते हैं।

पढ़ें :- निकिता के बाद नाबालिग बच्ची हुई लव जिहाद का शिकार, 21 दिन से है लापता...

इससे अलग-अलग परिवारों में एकता की भावना मजबूत होने की बात भी कही गई है। वहीं, कुछ लोग इसे ‘लव जिहाद’ को बढ़ावा देने के रूप में देख रहे है। समाज कल्याण विभाग ने घोषणा की है कि इस प्रकार के विवाह को बढ़ावा देने के लिए सरकार की ओर से उत्तराखंड के अंतर्जातीय और अंतर्धार्मिक विवाहित दम्पति को प्रोत्साहन के तौर पर 50,000 रुपए प्रदान किए जाते हैं।

एक साल तक किया जा सकता है आवेदन

अंतर्धार्मिक विवाह के संबंध में बताया गया है कि ये संघ या ब्यूरो द्वारा मान्यता प्राप्त मंदिर, मस्जिद, गिरिजाघर या अन्य देवस्थान में संपन्न हुआ हो। इसके लिए आवेदन-पत्र भी मुफ्त मिलता है। ऐसे विवाह के पंजीकरण के बाद अगले एक साल तक आवेदन किया जा सकता है।

वहीं इस आदेश पर ‘सुदर्शन न्यूज़ टीवी’ के मुख्य संपादक सुरेश चव्हाणके ने इस आदेश को ट्वीट करते हुए इसे लव जिहाद को बढ़ावा देने वाला बताया है।  उन्होंने ट्वीट में पूछा है कि ‘लव जिहाद’ करने वाले को सजा की जगह 50,000 का सरकारी इनाम दिया जा रहा है?  देवभूमि उत्तराखंड में ये उल्टी गंगा क्यों बह रही है? जब सारे राज्य ‘लव जिहाद’ के विरुद्ध कानून बना रहे तो उत्तराखंड में इसे बढ़ावा क्यों?’

पढ़ें :- लव जिहाद पर सीएम योगी की चेतावनी, बोले-नहीं सुधरे तो निकलेगी राम नाम सत्य की यात्रा

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...