Achala Saptami 2019: आज है अचला सप्तमी, जाने इसका महत्व

Achala Saptami 2019: आज है अचला सप्तमी, जाने इसका महत्व
Achala Saptami 2019: आज है अचला सप्तमी, जाने इसका महत्व

लखनऊ। माघ महीने में पड़ने वाली शुक्ल सप्तमी को अचला सप्तमी के नाम से भी जाना जाता है। मान्यता है कि इस दिन भगवान सूर्य की सच्चे मन से पूजा-आराधान करने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं और पाप और रोग दोष से भी मुक्ति मिलती है। हिंदू पंचाग के अनुसार इस बार माघ माह की शुक्ल सप्तमी मंगलवार के दिन यानि 12 फरवरी को पड़ रही है। इस दिन सूर्य भगवान की पूजा करने के साथ-साथ अचला सप्तमी कथा पढ़ना भी शुभ माना जाता है।

Achala Saptami 2019 Shukla Saptami Importance :

ऐसे करें पूजा—

अचला सप्तमी के दिन सूर्योदय से पूर्व स्नान कर भगवान सूर्य को जल में लाल रोली और लाल फूल मिलाकर जल देन चाहिए।

इस मंत्र का करें जाप—

विशेष लाभ पाने के लिए पूर्व दिशा में बैठकर सूर्य मंत्र का 108 बार जाप करना चाहिए।

एहि सूर्य सहस्त्रांशो तेजोराशे जगत्पते।
अनुकम्पय मां भक्त्या गृहणाध्र्य दिवाकर।।

लखनऊ। माघ महीने में पड़ने वाली शुक्ल सप्तमी को अचला सप्तमी के नाम से भी जाना जाता है। मान्यता है कि इस दिन भगवान सूर्य की सच्चे मन से पूजा-आराधान करने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं और पाप और रोग दोष से भी मुक्ति मिलती है। हिंदू पंचाग के अनुसार इस बार माघ माह की शुक्ल सप्तमी मंगलवार के दिन यानि 12 फरवरी को पड़ रही है। इस दिन सूर्य भगवान की पूजा करने के साथ-साथ अचला सप्तमी कथा पढ़ना भी शुभ माना जाता है।ऐसे करें पूजा---अचला सप्तमी के दिन सूर्योदय से पूर्व स्नान कर भगवान सूर्य को जल में लाल रोली और लाल फूल मिलाकर जल देन चाहिए।इस मंत्र का करें जाप---विशेष लाभ पाने के लिए पूर्व दिशा में बैठकर सूर्य मंत्र का 108 बार जाप करना चाहिए।एहि सूर्य सहस्त्रांशो तेजोराशे जगत्पते। अनुकम्पय मां भक्त्या गृहणाध्र्य दिवाकर।।