लखनऊ के कैसरबाग में 14 साल की किशोरी पर फेंका गया एसिड, मचा हड़कंप

Acid thrown
लखनऊ के कैसरबाग में 14 साल की किशोरी पर फेंका गया एसिड, मचा हड़कंप

लखनऊ: हाल ही में एसिड अटैक पीड़िताओं की रियल कहानी पर बनी दीपिका पादुकोण की फिल्म छपाक को लेकर देश में चर्चाएं चल रही हैं। वहीं उत्तर प्रदेश की राजधानी के कैसरबाग में शनिवार को 14 साल की बच्ची पर एसिड फेंक दिया गया। जैसे ही इसकी जानकारी प्रशासन व स्थानीय निवासियों को मिली तो हड़कंप मच गया। पुलिस की जांच पड़ताल में सामने आया कि बच्ची के पड़ोस में ही रहने वाली महिला ने बच्ची पर एसिड फेंका था और उसे हिरासत में भी ले लिया गया हैं।

Acid Thrown At 14 Year Old Teenager In Kaiserbagh Lucknow :

कैसरबाग सीओ संजीव सिन्हा ने बताया कि यह मामला कैसरबाग थाना क्षेत्र के मछली मोहाल स्थित घसियारी मंडी मोहल्ले का है। यहीं की रहने वाली आशा सोनकर कारीगर से दुकान पर पायल साफ करवा रही थीं, तभी उनका किसी बात पर ​विवाद हो गया। जिस पर आशा सोनकर ने कारीगर का झोला उठाकर फेंका दिया और उसी बैग में नमक वाला तेजाब का डिब्बा रखा था। वो एसिड पड़ोस में रहने वाली 14 साल की गुनगुन पर पड़ा साथ ही वहां मौजूद एक-दो और महिलाओं पर भी लगा।

गुनगुन को तुरंत बलरामपुर अस्पताल ले जाया गया जहां बच्ची के चेहरे और हाथ पर जलन की शिकायत है। इस मामले में आशा सोनकर और उसके पति महेश को हिरासत में लिया गया है, आगे की कार्रवाई तहरीर आने के बाद की जायेगी। उन्होने बताया कि गुनगुन सोनकर 14 साल की बच्ची है, जो पढ़ाई के साथ ही घरेलू कामकाज भी करती है। महिला आशा सोनकर उसी के पड़ोस में रहती है। जहां पुलिस का कहना है कि बच्ची दुर्घटना का शिकार हुई वहीं स्थानीय लोगों का आरोप है कि महिला ने आपसी रंंजिश के चलते बच्ची पर बैग फेंका है।

लखनऊ: हाल ही में एसिड अटैक पीड़िताओं की रियल कहानी पर बनी दीपिका पादुकोण की फिल्म छपाक को लेकर देश में चर्चाएं चल रही हैं। वहीं उत्तर प्रदेश की राजधानी के कैसरबाग में शनिवार को 14 साल की बच्ची पर एसिड फेंक दिया गया। जैसे ही इसकी जानकारी प्रशासन व स्थानीय निवासियों को मिली तो हड़कंप मच गया। पुलिस की जांच पड़ताल में सामने आया कि बच्ची के पड़ोस में ही रहने वाली महिला ने बच्ची पर एसिड फेंका था और उसे हिरासत में भी ले लिया गया हैं। कैसरबाग सीओ संजीव सिन्हा ने बताया कि यह मामला कैसरबाग थाना क्षेत्र के मछली मोहाल स्थित घसियारी मंडी मोहल्ले का है। यहीं की रहने वाली आशा सोनकर कारीगर से दुकान पर पायल साफ करवा रही थीं, तभी उनका किसी बात पर ​विवाद हो गया। जिस पर आशा सोनकर ने कारीगर का झोला उठाकर फेंका दिया और उसी बैग में नमक वाला तेजाब का डिब्बा रखा था। वो एसिड पड़ोस में रहने वाली 14 साल की गुनगुन पर पड़ा साथ ही वहां मौजूद एक-दो और महिलाओं पर भी लगा। गुनगुन को तुरंत बलरामपुर अस्पताल ले जाया गया जहां बच्ची के चेहरे और हाथ पर जलन की शिकायत है। इस मामले में आशा सोनकर और उसके पति महेश को हिरासत में लिया गया है, आगे की कार्रवाई तहरीर आने के बाद की जायेगी। उन्होने बताया कि गुनगुन सोनकर 14 साल की बच्ची है, जो पढ़ाई के साथ ही घरेलू कामकाज भी करती है। महिला आशा सोनकर उसी के पड़ोस में रहती है। जहां पुलिस का कहना है कि बच्ची दुर्घटना का शिकार हुई वहीं स्थानीय लोगों का आरोप है कि महिला ने आपसी रंंजिश के चलते बच्ची पर बैग फेंका है।