1. हिन्दी समाचार
  2. मनोरंजन
  3. ‘ग्रुपिज्म का शिकार हुई अभिनेत्री अक्षरा सिंह, बताया इंडस्ट्री में उनके साथ हुआ भेदभाव!

‘ग्रुपिज्म का शिकार हुई अभिनेत्री अक्षरा सिंह, बताया इंडस्ट्री में उनके साथ हुआ भेदभाव!

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

Actress Akshara Singh Victim Of Groupism Told That She Was Discriminated Against In The Industry

मुंबई: खूबसूरत अभिनेत्री अक्षरा सिंह भोजपुरी इंडस्ट्री का जाना माना नाम हैं। भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री की मशहूर अदाकारा अक्षरा सिंह की जोड़ी को पवन सिंह के साथ खूब पसंद किया जाता है। हालांकि अक्षरा सिंह हर एक्टर के साथ बेहद शानदार कैमेस्ट्री जमाती नजर आती हैं। कुछ वक्त पहले अक्षरा की लाइफ में कठिन समय आया था। इस दौरान अक्षरा बिलकुल अकेली पड़ गई थीं।

पढ़ें :- सुशांत सिंह राजपूत के देहांत के बाद सोशल मीडिया पर एक्टिव हुई रिया चक्रवर्ती, खास बुक के साथ आई नजर

बता दे की इस दौरान अभिनेत्री अक्षरा ने अपने फैंस के साथ पॉल खोलते हुए भोजपुरी इंडस्ट्री की सच्चाई बताई है। एक्ट्रेस ने कहा था कि इंडस्ट्री में उनके साथ भेदभाव होने लगा था। इतना ही नहीं वह ग्रुपिज्म का शिकार हो गई थीं। वहीं कई मेल स्टार्स थे जो कि एक तरफ हो गए थे। एक्ट्रेस ने ये भी बताया था इस बीच कुछ एक्टर थे मेल/फीमेल जो मेरे लिए बोलना चाहते थे पर नहीं बोल पाए क्योंकि उन्हें अंत में उन्हीं लोगों के साथ काम करना था।

अक्षरा सिंह ने अपने यूट्यूब चैनल पर नेपोटिज्म से लेकर ग्रुपिज्म तक के बारे में बात की थी एक्ट्रेस ने कहा था कि बॉलीवुड में भी नेपोटिज्म है। वहीं भोजपुरी सिनेमा वर्ल्ड को लेकर अक्षरा ने कहा था कि हमारे यहां नेपोटिज्म छोड़ो ग्रुपिज्म है, बहुत हद तक। जिसके शिकार हम सब होते हैं। कई इंटरव्यूज में सुनने में आ रहा था कि अब जाकर कई एक्ट्रेस आवाज उठा रही हैं। इंडस्ट्री में सिर्फ एक मैं हूं जिसने इतना ग्रुपिज्म झेला है।

एक्ट्रेस ने आगे बताया- मैं अपने बारे में बताऊं, तो जब मैं नई-नई इंडस्ट्री में आई थी और एक हीरो के साथ काम कर रही होती थी, तो बाकी हीरो मेरे साथ काम नहीं करते थे। वह कहते थे अरे यार ये तो इसके साथ काम कर रही है, उसके साथ काम कर रही है। इसको काम नहीं मिलेगा अब, इसको मत लेना अब फिल्म में आदि। ऐसे में मैं जूझने लगी।

इस किस्से के खत्म होने के बाद वो किस्सा शुरू हुआ जो आपलोगों से छिपा नहीं है। मेरे बोलने के बाद मुझे फिल्मों से निकाला जाने लगा। ऐसे में वो लोग ग्रुप बना कर एक तरफ हो गए। मेरे खिलाफ ग्रुपिज्म शुरू हो गया। यहां एक कोई भगवान बन गया था और सब उसके इर्द गिर्द घूमने लगे थे।’ ‘कुछ लोग मेरा साथ देना चाहते थे पर उनकी मजबूरी थी। फिर भी मैंने समझा। मैंने सरवाइव करने के लिए गाना गाना शुरू किया गया। अच्छे अमाउंट में पैसे आने लगे। रातों रात गाने हिट होने लगे। तभी उसमें भी अर्चनें शुरू कर दी गईं। तभी मुझे एक दिन कॉल आया और कहा गया कि गाना फटाफट भेजो। लेकिन वह गाना रिलीज नहीं किया गया। मुझे फोन कर बताया गया कि वह गाना रिलीज नहीं कर सकते, ऊपर से प्रेशर है।’

पढ़ें :- Birthday special: भाभी बन अंगूरी भाभी ने ऐसे टीवी की दुनिया में कदम, शादी के बाद की करियर की शुरुआत

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...