पर्दाफाश की मुहिम का असर: ओपी चेंस ग्रुप को एडीए से तगड़ा झटका, जल्द किसानों को मिलेगा इंसाफ

op chence group
पर्दाफाश की मुहिम का असर: ओपी चेंस ग्रुप को एडीए से तगड़ा झटका, जल्द किसानों को मिलेगा इंसाफ

आगरा। आगरा में किसानों की जमीन पर अवैध रूप से कब्जा करके मल्टीस्टोरी बिल्डिंग बना रही ओपी चेंस कंपनी की मुश्किलें बढ़ती जा रही है। अब एडीए ने सात माह पहले दिया गया अपना वो फैसला बदल दिया, जिसमें उसने कंपनी के करोड़ो रूपए का ब्याज माफ कर दिया था। सोमवार को बोर्ड की 130वीं बैठक में ओपी चेंस ग्रुप का 42.5 करोड़ रुपये की ब्याज माफी से इन्कार कर दिया।

Ada Will Not Forgive 42 5 Crore Interest Of Op Chence Group :

बता दें कि ओपी चेंस ग्रुप ने वर्ष 2011 में ताजनगरी फेज प्रथम में बीस हजार वर्ग मीटर जमीन 36 करोड़ रूपए में खरीदी थी। इस जमीन की रजिस्ट्री में 14 करोड़ रुपये लगे थे। हालाकि उस वक्त एडीए ने उक्त जमीन पर कंपनी को कब्जा नहीं दिया था। जिसको लेकर विवाद हो गया और कंपनी के मालिक शोभिक गोयल ने पैसा देना बंद कर दिया। जिसके बाद एडीए बोर्ड की पिछली बैठक में तत्कालीन कमिश्नर के. राम मोहन राव व एडीए उपाध्यक्ष राधेश्याम मिश्रा ने 42.5 करोड़ के ब्याज माफी का प्रस्ताव पास किया गया था। हालकि ये मामला अभी तक शासन में लंबित चल रहा था।

वहीं सूत्रों का कहना है कि अब ओपी चेंस की एंथम प्रोजेक्ट पर भी बहुत जल्द ब्रेक लगने वाला है। बता दें कि कंपनी ने दर्जनों किसानों की जमीन पर अवैध तरीके से कब्जा करके अपने इस प्रोजेक्ट का क्रियान्वयन कर रही थी। इस मामले से प्रमुख सचिव आवास से शिकायत की गई। तब उन्होने आवास आयुक्त और कमिश्नर से इस मामले की जांच कराई गई। जिसमें मामला सहीं पाया गया। जिसके कंपनी के निदेशक समेत सभी किसानों को सोमवार को बुलाया गया था, जिसमें शोभिक गोयल उपस्थित नहीं हुए। अब बुधवार को फिर से इन लोगों को बुलाया गया ​है। जिसके बाद आशंका लगाई जा रही है कि इस प्रोजेक्ट पर रोंक लगने के साथ किसानों को उनकी जमीन वापस कर दी जाएगी।

बता दें कि बैठक में चेयरमैन व कमिश्नर अनिल कुमार, डीएम एनजी रवि कुमार, एडीए उपाध्यक्ष शुभ्रा सक्सेना, मुख्य अभियंता अजय सिंह, नगरायुक्त अरुण प्रकाश सहित अन्य मौजूद रहे। ओपी चेंस ग्रुप पूर्व में ब्याज माफी के जो तर्क दिए गए थे। वह अब उलट हो गए हैं। ऐसे में पूर्व अफसरों की कार्यशैली पर सवालिया निशान भी लगाया जा रहा है।

ये भी पढ़ें-

आगरा के ओपी चेंस ग्रुप की धोखाधड़ी पार्ट-3
आगरा के ओपी चेंस ग्रुप की बड़ी धोखाधड़ी, हजारों निवेशकों की पूंजी दांव पर
ओपी चेंस ग्रुप की धोखाधड़ी के खिलाफ जांच के आदेश
ओपी चेंस ग्रुप के एंथम और एंथेला प्रोजेक्ट पर जल्द लगेगा ताला, शासन ने मांगी रिपोर्ट

आगरा। आगरा में किसानों की जमीन पर अवैध रूप से कब्जा करके मल्टीस्टोरी बिल्डिंग बना रही ओपी चेंस कंपनी की मुश्किलें बढ़ती जा रही है। अब एडीए ने सात माह पहले दिया गया अपना वो फैसला बदल दिया, जिसमें उसने कंपनी के करोड़ो रूपए का ब्याज माफ कर दिया था। सोमवार को बोर्ड की 130वीं बैठक में ओपी चेंस ग्रुप का 42.5 करोड़ रुपये की ब्याज माफी से इन्कार कर दिया।बता दें कि ओपी चेंस ग्रुप ने वर्ष 2011 में ताजनगरी फेज प्रथम में बीस हजार वर्ग मीटर जमीन 36 करोड़ रूपए में खरीदी थी। इस जमीन की रजिस्ट्री में 14 करोड़ रुपये लगे थे। हालाकि उस वक्त एडीए ने उक्त जमीन पर कंपनी को कब्जा नहीं दिया था। जिसको लेकर विवाद हो गया और कंपनी के मालिक शोभिक गोयल ने पैसा देना बंद कर दिया। जिसके बाद एडीए बोर्ड की पिछली बैठक में तत्कालीन कमिश्नर के. राम मोहन राव व एडीए उपाध्यक्ष राधेश्याम मिश्रा ने 42.5 करोड़ के ब्याज माफी का प्रस्ताव पास किया गया था। हालकि ये मामला अभी तक शासन में लंबित चल रहा था।वहीं सूत्रों का कहना है कि अब ओपी चेंस की एंथम प्रोजेक्ट पर भी बहुत जल्द ब्रेक लगने वाला है। बता दें कि कंपनी ने दर्जनों किसानों की जमीन पर अवैध तरीके से कब्जा करके अपने इस प्रोजेक्ट का क्रियान्वयन कर रही थी। इस मामले से प्रमुख सचिव आवास से शिकायत की गई। तब उन्होने आवास आयुक्त और कमिश्नर से इस मामले की जांच कराई गई। जिसमें मामला सहीं पाया गया। जिसके कंपनी के निदेशक समेत सभी किसानों को सोमवार को बुलाया गया था, जिसमें शोभिक गोयल उपस्थित नहीं हुए। अब बुधवार को फिर से इन लोगों को बुलाया गया ​है। जिसके बाद आशंका लगाई जा रही है कि इस प्रोजेक्ट पर रोंक लगने के साथ किसानों को उनकी जमीन वापस कर दी जाएगी।बता दें कि बैठक में चेयरमैन व कमिश्नर अनिल कुमार, डीएम एनजी रवि कुमार, एडीए उपाध्यक्ष शुभ्रा सक्सेना, मुख्य अभियंता अजय सिंह, नगरायुक्त अरुण प्रकाश सहित अन्य मौजूद रहे। ओपी चेंस ग्रुप पूर्व में ब्याज माफी के जो तर्क दिए गए थे। वह अब उलट हो गए हैं। ऐसे में पूर्व अफसरों की कार्यशैली पर सवालिया निशान भी लगाया जा रहा है।

ये भी पढ़ें-

आगरा के ओपी चेंस ग्रुप की धोखाधड़ी पार्ट-3 आगरा के ओपी चेंस ग्रुप की बड़ी धोखाधड़ी, हजारों निवेशकों की पूंजी दांव पर ओपी चेंस ग्रुप की धोखाधड़ी के खिलाफ जांच के आदेश ओपी चेंस ग्रुप के एंथम और एंथेला प्रोजेक्ट पर जल्द लगेगा ताला, शासन ने मांगी रिपोर्ट