फारुख अब्दुल्ला के विवादित बयान पर थाने में दी गयी तहरीर, FIR दर्ज करने की मांग

लखनऊ। यूपी की राजधानी लखनऊ में जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री व नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष फारुख अब्दुल्ला के खिलाफ गोमतीनगर थाने में तहरीर दी गई है। यह तहरीर पेशे से वकील हेमचन्द्र जोशी ने दी है। आपको बता दें कि फारुख अब्दुल्ला ने कश्‍मीर मुद्दे पर एक विवादित बयान दिया था, जिसके बाद से उनके इस बयान की निंदा होनी शुरू हो गयी थी।




ये था बयान—

Advocate Given Complaint Against Farooq Abdullah In Lucknow :

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष फारुख अब्दुल्ला ने कश्‍मीर के मुद्दे पर अलगाववादी नेताओं की ओर से की जा रही कश्‍मीर की आजादी की मांग का समर्थन किया। उन्‍होंने कहा कि वो और उनकी पार्टी हुर्रियत कांफ्रेंस के खिलाफ नहीं है। हम लोग भी कश्‍मीरी लोगों के अधिकारों की मांग और उनकी आजादी का समर्थन करते हैं। फारुख अब्‍दुल्‍ला के इस बयान के बाद राजनीतिक पार्टियों के निशाने पर आ गए हैं। इसके अलावा सोशल मीडिया पर भी उनकी जमकर धज्जियां उड़ाई जा रही हैं।




फारुख अब्दुल्ला की इसी बात का विरोध करते हुए पेशे से वकील हेम चन्द्र जोशी ने लखनऊ के गोमती नगर थाने में तहरीर दी। हेम चन्द्र जोशी ने कहा कि फारुख अब्दुल्ला कश्मीर मुद्दे पर देश विरोधी बयान दे रहे हैं, एक भारतीय होने के नाते हमने ये कदम उठाया। हेमचन्द्र जोशी ने ये भी कहा कि मुझे कानून पर पूरा भरोसा है और मैं उम्मीद करता हूँ कि कानून अपना काम अच्छे से करेगा।




फारुख अब्दुल्ला का कश्मीर के मुद्दे पर दिया गया ये कोई पहला बयान नहीं है। फारुख अब्दुल्ला इससे पहले भी कश्मीर मुद्दे पर विवादित बयान देकर फंस चुके है।

लखनऊ। यूपी की राजधानी लखनऊ में जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री व नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष फारुख अब्दुल्ला के खिलाफ गोमतीनगर थाने में तहरीर दी गई है। यह तहरीर पेशे से वकील हेमचन्द्र जोशी ने दी है। आपको बता दें कि फारुख अब्दुल्ला ने कश्‍मीर मुद्दे पर एक विवादित बयान दिया था, जिसके बाद से उनके इस बयान की निंदा होनी शुरू हो गयी थी। ये था बयान---जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष फारुख अब्दुल्ला ने कश्‍मीर के मुद्दे पर अलगाववादी नेताओं की ओर से की जा रही कश्‍मीर की आजादी की मांग का समर्थन किया। उन्‍होंने कहा कि वो और उनकी पार्टी हुर्रियत कांफ्रेंस के खिलाफ नहीं है। हम लोग भी कश्‍मीरी लोगों के अधिकारों की मांग और उनकी आजादी का समर्थन करते हैं। फारुख अब्‍दुल्‍ला के इस बयान के बाद राजनीतिक पार्टियों के निशाने पर आ गए हैं। इसके अलावा सोशल मीडिया पर भी उनकी जमकर धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। फारुख अब्दुल्ला की इसी बात का विरोध करते हुए पेशे से वकील हेम चन्द्र जोशी ने लखनऊ के गोमती नगर थाने में तहरीर दी। हेम चन्द्र जोशी ने कहा कि फारुख अब्दुल्ला कश्मीर मुद्दे पर देश विरोधी बयान दे रहे हैं, एक भारतीय होने के नाते हमने ये कदम उठाया। हेमचन्द्र जोशी ने ये भी कहा कि मुझे कानून पर पूरा भरोसा है और मैं उम्मीद करता हूँ कि कानून अपना काम अच्छे से करेगा। फारुख अब्दुल्ला का कश्मीर के मुद्दे पर दिया गया ये कोई पहला बयान नहीं है। फारुख अब्दुल्ला इससे पहले भी कश्मीर मुद्दे पर विवादित बयान देकर फंस चुके है।