दरवेश यादव की हत्या से वकीलों में जबरदस्त आक्रोश, आज नहीं करेंगे काम

a

आगरा। उत्तर प्रदेश के आगरा में बार काउंसिल ऑफ यूपी की प्रथम महिला चेयरमैन दरवेश सिंह यादव की गोली मारकर हत्या को लेकर वकीलों ने तीखा आक्रोश जताया है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश हाईकोर्ट बेंच स्थापना केंद्रीय संघर्ष समिति के चेयरमैन मेरठ बार एसोसिएशन के अध्यक्ष मांगेराम ने समिति से जुड़े मेरठ सहित 22 जिलों के वकीलों से गुरुवार को न्यायिक कार्य न करने की अपील की है।

Advocates Will Be Protest In 22 District In Up Bar Council President Darvesh Yadav Murder Case :

केंद्रीय संघर्ष समिति के चेयरमैन मांगेराम ने बताया कि यह एक दुखद और गंभीर घटना है। जिसको लेकर मेरठ बार एसोसिएशन रोष व्यक्त करती है। उधर बार काउंसिल ऑफ यूपी के चेयरमैन हरिशंकर सिंह ने बताया कि उनके साथ चुनी गईं चेयरमैन दरवेश सिंह की हत्या बहुत गंभीर अपराध है।

प्रदेश में वकील सुरक्षित नहीं हैं जहां पर उनके चेयरमैन की हत्या कचहरी परिसर में ही कर दी गई। इसके लिए वह मांग करते हैं कि वकीलों की सुरक्षा के लिए प्रदेश सरकार सख्त कदम उठाए। उन्होंने बताया कि गुरुवार को दरवेश सिंह की अंत्येष्टि होने की सूचना है जिसको लेकर प्रदेश के वकील विरोध स्वरूप न्यायिक कार्य से विरत रहेंगे।

वहीं जिला बार एसोसिएशन के अध्यक्ष रविंद्र सिंह व महामंत्री आनंद कश्यप ने भी इस घटना पर दुख व्यक्त करते हुए गुरुवार को न्यायिक कार्य से विरत रहने का निर्णय लिया है। वहीं समाजवादी अधिवक्ता सभा के अध्यक्ष गगन राणा ने भी घटना पर रोष व्यक्त करते हुए निंदा की।

अधिवक्ता परिषद की मेरठ इकाई द्वारा भी निंदा की गई। ऑल इंडिया लॉयर्स यूनियन उप्र की मेरठ इकाई द्वारा बैठक कर महिला चेयरमैन की हत्या की कठोर शब्दों में निंदा कर प्रदेश में कानून व्यवस्था सुदृढ़ करने की मांग की गई। यूनियन के राज्य सचिव ब्रजवीर सिंह ने प्रदेश सरकार से मांग की है कि प्रदेश में हत्या, दुष्कर्म, पुलिस जुर्म की घटनाएं कुछ दिनों से चरम सीमा पर हैं इन्हें रोका जाए।

आगरा। उत्तर प्रदेश के आगरा में बार काउंसिल ऑफ यूपी की प्रथम महिला चेयरमैन दरवेश सिंह यादव की गोली मारकर हत्या को लेकर वकीलों ने तीखा आक्रोश जताया है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश हाईकोर्ट बेंच स्थापना केंद्रीय संघर्ष समिति के चेयरमैन मेरठ बार एसोसिएशन के अध्यक्ष मांगेराम ने समिति से जुड़े मेरठ सहित 22 जिलों के वकीलों से गुरुवार को न्यायिक कार्य न करने की अपील की है। केंद्रीय संघर्ष समिति के चेयरमैन मांगेराम ने बताया कि यह एक दुखद और गंभीर घटना है। जिसको लेकर मेरठ बार एसोसिएशन रोष व्यक्त करती है। उधर बार काउंसिल ऑफ यूपी के चेयरमैन हरिशंकर सिंह ने बताया कि उनके साथ चुनी गईं चेयरमैन दरवेश सिंह की हत्या बहुत गंभीर अपराध है। प्रदेश में वकील सुरक्षित नहीं हैं जहां पर उनके चेयरमैन की हत्या कचहरी परिसर में ही कर दी गई। इसके लिए वह मांग करते हैं कि वकीलों की सुरक्षा के लिए प्रदेश सरकार सख्त कदम उठाए। उन्होंने बताया कि गुरुवार को दरवेश सिंह की अंत्येष्टि होने की सूचना है जिसको लेकर प्रदेश के वकील विरोध स्वरूप न्यायिक कार्य से विरत रहेंगे। वहीं जिला बार एसोसिएशन के अध्यक्ष रविंद्र सिंह व महामंत्री आनंद कश्यप ने भी इस घटना पर दुख व्यक्त करते हुए गुरुवार को न्यायिक कार्य से विरत रहने का निर्णय लिया है। वहीं समाजवादी अधिवक्ता सभा के अध्यक्ष गगन राणा ने भी घटना पर रोष व्यक्त करते हुए निंदा की। अधिवक्ता परिषद की मेरठ इकाई द्वारा भी निंदा की गई। ऑल इंडिया लॉयर्स यूनियन उप्र की मेरठ इकाई द्वारा बैठक कर महिला चेयरमैन की हत्या की कठोर शब्दों में निंदा कर प्रदेश में कानून व्यवस्था सुदृढ़ करने की मांग की गई। यूनियन के राज्य सचिव ब्रजवीर सिंह ने प्रदेश सरकार से मांग की है कि प्रदेश में हत्या, दुष्कर्म, पुलिस जुर्म की घटनाएं कुछ दिनों से चरम सीमा पर हैं इन्हें रोका जाए।