पीरियड्स के दौरान रेल यात्रा में नहीं होगी परेशानी, रेलवे ने उठाया खास कदम

पीरियड्स के दौरान रेल यात्रा में नहीं होगी परेशानी, रेलवे ने उठाया खास कदम
पीरियड्स के दौरान रेल यात्रा में नहीं होगी परेशानी, रेलवे ने उठाया खास कदम

Affordable Sanitary Napkins At Railway Stations

नई दिल्ली। फिल्म पैडमैन के जरिये उठाए गए संवेदनशील मुद्दे के बाद अब रेलवे भी महिला रेल यात्रियों और कर्मचारियों को ‘नैपकिन’ उपलब्ध करवाने का कदम जल्द ही उठाएगा। रेल यात्रा करने वाली महिलाओं के लिए रेलवे ने पर्यावरण अनुकूल कम कीमत वाले सेेनिटरी नैपकिन का उत्पादन शुरू कर दिया है। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने सोमवार को रेलवे द्वारा शुरू की गई ‘दस्तक’ नामक उत्पादन यूनिट का दौरा किया।

कई बार ऐसा होता है कि यात्रा के दौरान रेलवे स्टेशन पर सेनेटरी नैपकिन न मिलने की वजह से महिलाओं को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इन्हीं बातों को ध्यान करते हुए रेलवे महिला कल्याण केंद्रीय संगठन (आरडब्ल्यूडब्ल्यूसीओ) द्वारा दिल्ली में ‘दस्तक’ नाम से इस तरह की सस्ती सेनेटरी नैपकिन तैयार करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है। दिल्ली के रेलवे स्टेशनों के अलावा देश के 200 बड़े स्टेशनों पर महिलाओं को पर्यावरण अनुकूल व सस्ती सेनेटरी नैपकिन उपलब्ध होगी। इसके लिए स्टेशनों और रेल परिसरों में सेनेटरी नैपकिन डिस्पेंसर मशीन लगाने की योजना है।

रेल मंत्री ने की सराहना
दिल्ली के सरोजनी नगर स्थित रेलवे कॉलोनी में आरडब्ल्यूडब्ल्यूसीओ ने एक जनवरी को सेनेटरी पैड बनाने की इकाई शुरू की। फिलहाल यहां रोजाना 400 नैपकिन तैयार की जा रही हैं। इसकी क्षमता बढ़ाने के साथ ही देश के अन्य हिस्से में भी इस तरह की इकाई स्थापित की जाएगी। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने रविवार को इस इकाई का दौरा किया। उन्होंने इस प्रयास की सराहना की और कहा कि रेलवे को इस तरह के सामाजिक कार्यो को बढ़ावा देना चाहिए।

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्विनी लोहानी ने बताया कि नई दिल्ली एवं भोपाल रेलवे स्टेशन, उत्तर रेलवे के मुख्यालय बड़ौदा हाउस तथा अन्य रेल परिसरों में सेनेटरी नैपकिन डिस्पेंसर लगा दिए गए हैं। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस तक महिला रेल कर्मचारियों, यात्रियों एवं कमजोर वर्ग की महिलाओं के लाभ के लिए लगभग 200 बड़े एवं मार्गस्थ रेलवे स्टेशनों तथा रेलवे परिसरों को इस योजना द्वारा कवर करने का प्रयास किया जा रहा है। इस अवसर पर रेल मंत्री की पत्नी सीमा गोयल, आरडब्ल्यूडब्ल्यूसीओ की अध्यक्ष अरुणिमा लोहानी, उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक विश्वेश चौबे सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

नई दिल्ली। फिल्म पैडमैन के जरिये उठाए गए संवेदनशील मुद्दे के बाद अब रेलवे भी महिला रेल यात्रियों और कर्मचारियों को ‘नैपकिन’ उपलब्ध करवाने का कदम जल्द ही उठाएगा। रेल यात्रा करने वाली महिलाओं के लिए रेलवे ने पर्यावरण अनुकूल कम कीमत वाले सेेनिटरी नैपकिन का उत्पादन शुरू कर दिया है। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने सोमवार को रेलवे द्वारा शुरू की गई ‘दस्तक’ नामक उत्पादन यूनिट का दौरा किया। कई बार ऐसा होता है कि यात्रा के दौरान रेलवे…