‘अफगान गर्ल’ शरबत गुला को पाकिस्तान छोड़ने का आदेश

इस्लामाबाद| एक विशेष भ्रष्टाचार निरोधक और आव्रजन अदालत ने शुक्रवार को आदेश दिया कि प्रसिद्ध ‘अफगान गर्ल’ शरबत गुला को 15 दिन की कैद और पाकिस्तानी 1,10,000 रुपये के जुर्माने के भुगतान के बाद अफगानिस्तान भेज दिया जाएगा। ‘अफगानिस्तान की मोनालिसा’ के तौर पर जानी जाने वाली गुला पहले ही 11 दिन जेल में गुजार चुकी हैं। गुला के वकील ने मीडिया को बताया कि उन्हें सोमवार को स्वतंत्र कर दिया जाएगा। 46 साल की महिला को बीते महीने धोखे से पहचान पत्र हासिल करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। इस आरोप को गुला ने गलत बताया था।




विशेष अदालत ने शरबत गुला को सोमवार (7 नवंबर) को देश छोड़ने का आदेश दिया है। शरबत बीबी की तस्वीर नेशनल जॉग्रफिक पत्रिका के मुखपृष्ठ पर उस वक्त छपी थी जब वह 12 साल की थीं। पत्रिका के फोटोग्राफर स्टीव मैक्करी ने हरी आंखों वाली इस बच्ची की तस्वीर 1984 में पेशावर के एक शरणार्थी शिविर में ली थी और उन्हें शरबत गुला बताया था। तस्वीर की चर्चा पूरी दुनिया में हुई। इसने उन्हें ‘अफगान गर्ल’ के रूप में प्रसिद्ध कर दिया। तस्वीर को ‘मोनालिसा आफ अफगानिस्तान’ के रूप में शोहरत मिली थी।

अदालत के फैसले के बाद, अफगानिस्तान के राजदूत उमर जखिलवाल ने कहा, “अत्यंत खुशी के साथ मैं घोषणा करता हूं कि शरबत गुला अब कानूनी मुसीबतों से मुक्त हैं, जो उन्होंने पिछले हफ्तों में सही हैं। वह जल्द ही शरणार्थी के अनिश्चय भरे जीवन से मुक्त हो जाएंगी और अपने देश रवाना हो जाएंगी जहां उनकी प्यारी छवि और राष्ट्रीय पहचान है।”